Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

दीक्षांत समारोह से पहले दिया 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' का संदेश

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 28 Jan 2016 12:33 PM GMT

दीक्षांत समारोह से पहले दिया बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का संदेश
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ : लखनऊ यूनिवर्सिटी (लविवि) में 31 जनवरी को होने वाले दीक्षांत समारोह के लिए यूनिवर्सिटी प्रशासन सतर्क है। लविवि के कल्चरल डायरेक्टर प्रो. एन के पांडे के निर्देशन में प्रतियोगिताएं आयोजित की जा रही हैं। समारोह में बाहरी व्यक्ति का प्रवेश वर्जित है। बिना आमंत्रण पत्र या परिचय पत्र के प्रवेश नहीं मिलेगा। दीक्षांत सप्ताह के अंतर्गत बुधवार को भी प्रतियोगिताओं की धूम रही। दीक्षांत समारोह में केंद्रीय विज्ञान मंत्री एवं प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. हर्षवर्धन बतौर मुख्य अतिथि आमंत्रित हैं।

छात्रों ने प्रतियोगिताओं में जमकर लिया हिस्सा

- छात्रों ने 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' की थीम पर स्केच व पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता में कई सुंदर चित्र बनाए।

- काव्य प्रतियोगिता में छात्रों ने भ्रष्टाचार व सामाजिक बुराइयों को ज़ोरदार ढंग से उठाया।

- डम शराडे प्रतियोगिता में मूक अभियान के माध्यम से छात्रों ने अपनी बात को लोगों तक मार्मिक ढंग से पेश किया।

अभिनय के ज़रिए लोगों तक पहुंचाया संदेश

- बीएससी की छात्रा शिवानी, छात्र शुभम व बीए की छात्रा ममता ने पोस्टर के माध्यम से बेटी को बचाने और उसे पढ़ाकर समाज को आगे बढ़ाने का संदेश दिया।

-स्वरचित काव्य प्रतियोगिता में लविवि के आर्ट्स कॉलेज के छात्र अनुभव शुक्ला ने 'भारत छा गया है' गीत के ज़रिए भ्रष्टाचार और सामाजिक बुराइयों को उठाया।

- छात्र आशीष तिवारी ने पतझड़ पर अपनी कविता सुनाकर सभी को भाव विभोर कर दिया।

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

- प्रॉक्टर प्रो. निशी पांडेय ने बताया कि परिसर में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गए हैं।

- दीक्षांत समारोह में केंद्रीय विज्ञान मंत्री एवं प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. हर्षवर्धन बतौर मुख्य अतिथि आमंत्रित हैं।

- प्रॉक्टर ने बताया जो छात्र समारोह देखना चाहते हैं उन्हें अपने साथ परिचय पत्र और शुल्क रसीद लाना अनिवार्य है।

कहां से करें प्रवेश ?

- गेट नंबर-2 से एकेडमिक काउंसिल व कार्यपरिषद के सदस्य मालवीय हॉल के सामने से प्रॉक्टर कार्यालय होते हुए कला संकाय में चल रहे दीक्षांत समारोह में प्रवेश कर सकते हैं।

- गणमान्य अतिथि सहित अन्य अतिथियों को गेट नंबर-2 से प्रवेश दिया जाएगा।

- मेडल, डिग्री पाने वाले छात्रों को पाश्चात्य इतिहास विभाग से पंडाल में प्रवेश दिया जाएगा।

- अन्य छात्रों को गेट नंबर-4 से प्रवेश मिलेगा।

- पंडाल से पहले बास्केटबॉल कोर्ट के सामने प्रॉक्टोरियल टीम को अपना प्रवेश पत्र और शुल्क दिखानी होगी।

Newstrack

Newstrack

Next Story