Top

CBSE: ग्रेस मार्क्स पॉलिसी पर HC का निर्देश, 12वीं के रिजल्ट में होगी देरी

सीबीएसई के 12वीं कक्षा के छात्रों के परिणाम के लिए अभी और इंतजार करना होगा। दिल्ली हाई कोर्ट ने छात्रों को नंबर बढ़ाकर देने की सीबीएसई की पॉलिसी को जारी रखने का निर्देश दिया है। इस वजह से स्टूडेंट्स के मॉर्क्स में अजस्ट करने में थोड़ा वक्त लगेगा, जिससे नतीजों में देरी होगी।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 24 May 2017 11:37 AM GMT

CBSE: ग्रेस मार्क्स पॉलिसी पर HC का निर्देश, 12वीं के रिजल्ट में होगी देरी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : सीबीएसई के 12वीं कक्षा के छात्रों के परिणाम के लिए अभी और इंतजार करना होगा। दिल्ली हाई कोर्ट ने छात्रों को नंबर बढ़ाकर देने की सीबीएसई की पॉलिसी को जारी रखने का निर्देश दिया है। इस वजह से स्टूडेंट्स के मॉर्क्स में एजस्ट करने में थोड़ा वक्त लगेगा, जिससे नतीजों में देरी होगी।

परिणाम को लेकर कोई नोटिफिकेशन नहीं

इस साल से सीबीएसई ने छात्रों को नंबर बढ़ाकर देने की अपनी पॉलिसी को खत्म करने का फैसला लिया था, लेकिन हाई कोर्ट ने सीबीएसई के फैसले को खारिज कर दिया है। सीबीएसई के 12वीं क्लास के नतीजे बुधवार (24 मई) को आने की उम्मीद थी। अभी 12वीं कक्षा के रिजल्ट जारी करने की तिथि और समय को लेकर कोई नोटिफिकेशन जारी नहीं किया है।

छात्रों पर पड़ेगा बुरा प्रभाव

एक पैरंट और एक वकील ने ग्रेस मार्क्स देने की पॉलिसी खत्म करने के सीबीएसई के फैसले को हाई कोर्ट में चुनौती दी थी। उनका तर्क था कि इसका छात्रों पर बहुत बुरा असर पड़ेगा। याचिकाकर्ताओं की दलील थी कि इस पॉलिसी को खत्म करने से खासतौर पर उन छात्रों पर बुरा असर पड़ेगा, जो विदेश से पढ़ाई करने की तैयारी कर रहे हैं। हाई कोर्ट ने इस याचिका पर सुनवाई करने के बाद सोमवार को पॉलिसी जारी रखने का निर्देश दिया। इस पॉलिसी को खत्म करने के कदम को 'अनुचित एवं गैर जिम्मेदाराना' बताया।

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story