×

दिल्ली हाई कोर्ट ने CBSE से नंबरों की गड़बड़ी को लेकर मांगा जवाब

दिल्ली हाई कोर्ट ने 12वीं क्लास की परीक्षा में नंबरों की गड़बड़ी को लेकर सीबीएसई से जवाब तलब किया है। कोर्ट ने सोमवार को आश्चर्य जताते हुए इवैल्युएशन में हुईं गड़बड़ियों की जानकारी मांगी। छात्रों ने सीबीएसई की ओर से री-इवैल्युएशन पॉलिसी को हटाने को चैलेंज करते हुए याचिका दाखिल की है। कोर्ट ने इस संदर्भ में सीबीएसई को अपनी गवर्निंग बॉडी और एग्जामिनेशन समिति के फैसले को सामने रखने का निर्देश दिया।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 20 Jun 2017 8:35 AM GMT

दिल्ली हाई कोर्ट ने CBSE से नंबरों की गड़बड़ी को लेकर मांगा जवाब
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली : दिल्ली हाई कोर्ट ने 12वीं क्लास की परीक्षा में नंबरों की गड़बड़ी को लेकर सीबीएसई से जवाब तलब किया है। कोर्ट ने सोमवार को आश्चर्य जताते हुए इवैल्युएशन में हुईं गड़बड़ियों की जानकारी मांगी। छात्रों ने सीबीएसई की ओर से री-इवैल्युएशन पॉलिसी को हटाने को चैलेंज करते हुए याचिका दाखिल की है। कोर्ट ने इस संदर्भ में सीबीएसई को अपनी गवर्निंग बॉडी और एग्जामिनेशन समिति के फैसले को सामने रखने का निर्देश दिया।

ये भी पढ़ें... CBSE: बोर्ड परीक्षाओं के नतीजों में गड़बड़ी, री-चेकिंग के बाद नंबरों में हुई बढ़ोत्तरी

जस्टिस संजीव सचदेवा और एके चावला की बेंच ने छात्रों की याचिका पर सुनवाई करते हुए यह बात कही। हाई कोर्ट ने इसके साथ ही सीबीएसई से 12वीं कक्षा के विभिन्न विषयों में मार्किंग स्कीम की भी जानकारी देने को कहा। हाल ही में 12वीं बोर्ड परीक्षा के बाद याचिका दाखिल करने वाले याचिकाकर्ता छात्रों ने कोर्ट में ओडिशा के छात्रों का हवाला दिया, जिनके आंसरशीट के री-इवैल्युएशन का निर्देश ओडिशा हाई कोर्ट ने दिया। सीबीएसई ने कोर्ट को बताया कि उसने ओडिशा कोर्ट के ऑर्डर का संज्ञान ले लिया है और वहां पर री-इवैल्युएटेड नंबरों की घोषणा नहीं की है।

इस बार वैरिफिकेशन के आवेदनों की संख्या बढ़ी

मुंबई के छात्र मोहम्मद अफान ने सभी सब्जेक्ट्स में 80 पर्सेंट से ज्यादा स्कोर करने के बावजूद मैथ्स में केवल 50 मार्क्स ही स्कोर किया। वेरिफिकेशन के बाद मैथ्स में बढ़कर 90 नंबर मिले। वहीं इकोनॉमिक्स का एक अन्य छात्र जो 9 अंंक पाकर फेल हो गया था, उसके नंबर भी री-चेकिंग के बाद 45 हो गए। सीबीएसई के सीनियर अधिकारी ने माना कि इस बार नंबरों के वेरिफिकेशन के लिए आवेदनों की संख्या बहुत अधिक है।

ये भी पढ़ें... मुंबई HC ने कहा: एजुकेशन बोर्ड्स 10वीं कक्षा में मैथ्स को ऑपश्नल सब्जेक्ट बनाने पर करें विचार

छात्रों की उम्मीदों को झटका

एक अंग्रेजी अखार की रिपोर्ट के अनुसार, बड़े पैमाने पर गड़बड़ियां सामने आई है। इसमें दिल्ली की सोनाली को 12वीं की परीक्षाओं में मैथ्स में केवल 68 नंबर हासिल किए है, जबकि उसे इकोनॉमिक्स में 99, अकाउंटेन्सी में 95 और बिजनस स्टडीज में 96 अंक मिले हैं। वहीं दूसरी तरफ समीक्षा शर्मा की नॉर्थ कैंपस में एडमिशन की उम्मीदों को मैथ में ही 42 नंबर देख झटका लगा। उसने भी इंग्लिश, बिजनस स्टडीज और फाइन आर्ट्स में अच्छे अंक प्राप्त किए थे।

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story