CAT 2017: रीजनिंग और डेटा इंटरप्रिटेशन ने छुड़ाए स्टूडेंट्स के पसीने

देश के टॉप मैनेजमेट इंस्टीट्यूट में एडमिशन के लिए कॉमन एडमिशन टेस्ट (CAT 2017) का आयोजन इंडियन इंस्टीट्यूट (IIM), लखनऊ की ओर से किया गया। यह परीक्षा देश के 140 शहरों में 381 केंद्रों पर हुई। लखनऊ में परीक्षा 7 केंद्रों पर हुई। परीक्षा में करीब 10 हजार कैंडिडेट्स शामिल हुए। यहां दो शिप्टों में परीक्षा आयोजित हुई, जहां सुबह 9 से 12 और दोपहर 12:30 और शाम 5:30 बजे तक थी।

लखनऊ: देश के टॉप मैनेजमेट इंस्टीट्यूट में प्रवेश के लिए कॉमन एडमिशन टेस्ट (CAT 2017) का आयोजन इंडियन इंस्टीट्यूट (IIM), लखनऊ की ओर से किया गया। यह परीक्षा देश के 140 शहरों में 381 केंद्रों पर हुई।

लखनऊ में परीक्षा 7 केंद्रों पर हुई। परीक्षा में करीब 10 हजार कैंडिडेट्स शामिल हुए। यहां दो शिप्टों में परीक्षा आयोजित हुई, जहां सुबह 9 से 12 और दोपहर 12:30 और शाम 5:30 बजे तक थी।

रीजनिंग और डेटा इंटरप्रिटेशन था मुश्किल
-कैट एग्जाम 3 सेक्शन में था।
-पहले सेक्शन में वर्बल एबिलिटी, दूसरे में डाटा इंटरप्रिटेशन और रीजनिंग और तीसरे में क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड के सवाल थे।
-इसमें रीजनिंग और डेटा इंटरप्रिटेशन के प्रश्नों ने कैंडिडेट्स के पसीने छुड़ा दिए।
-लखनऊ में इंटीग्रल यूनिवर्सिटी,आजाद इंस्टिट्यूट, ग्लोबल इंस्टिट्यूट, रॉयल पीजी, आईओएन डिजिटल, एनकेएम स्कूल, सुभाष पीजी कॉलेज और महावीर प्रसाद सेंटर बने थे।
-कैंडिडेट्स के मुताबिक एग्जाम देते समय जूते मोज़े कक्ष के अंदर प्रतिबंधित थे इसलिए नंगे पांव पेपर देना पड़ा।

कैट के लिए रजिस्ट्रेशन 9 अगस्त से शुरू हुए थे। जनवरी 2018 के दूसरे हफ्ते में नतीज् घोषित होने की संभावना है। इसे क्वालीफाई करने वाले कैंडिडेट्स को 20 IIM और अन्य प्रतिष्ठित मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट में एडमिशन का मौका मिलेगा।