×

हाईकोर्ट ने BHU में प्रोफेसरों से जुड़ी भर्ती प्रक्रिया पर लगाई रोक, 400 पदों पर होनी थी नियुक्तियां

aman

amanBy aman

Published on 12 April 2017 3:08 PM GMT

हाईकोर्ट ने BHU में प्रोफेसरों से जुड़ी भर्ती प्रक्रिया पर लगाई रोक, 400 पदों पर होनी थी नियुक्तियां
X
BHU में जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल, साथी छात्रों के हॉस्टल से निकाले जाने का कर रहे विरोध
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

इलाहाबाद: इलाहाबाद हाईकोर्ट ने काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में विज्ञापन संख्या 2/16-17 के तहत टीचिंग पदों की भर्ती पर रोक लगा दी है। हालांकि, नॉन टीचिंग पदों पर भर्ती की छूट दी है। कोर्ट ने कहा है कि ये भर्ती याचिका के निर्णय पर निर्भर करेगी। बता दें, कि भर्ती में प्रोफेसर एसोसिएट प्रोफेसर व सहायक प्रोफेसर सहित 400 पदों पर भर्ती होनी थी।

कोर्ट ने भर्ती प्रक्रिया में रोस्टर आरक्षण को लागू न करने मामले में विश्वविद्यालय और भारत सरकार से जवाब मांगा है। ये आदेश न्यायमूर्ति विक्रमनाथ तथा न्यायमूर्ति दयाशंकर त्रिपाठी की खंडपीठ ने आनंद देव राय सहित अन्य की याचिका पर दिया है।

400 पदों के लिए होनी थी भर्ती

विश्वविद्यालय के वकील वीके उपाध्याय ने कोर्ट को बताया कि विज्ञापन सं.11/2016-17 के तहत टीचिंग नॉन टीचिंग के लगभग 400 पदों की भर्ती के लिए 10 अप्रैल 2017 को साक्षात्कार होना था। लेकिन 2/2016-17 के विज्ञापन से टीचिंग नॉन टीचिंग पदों की भर्ती चल रही है। कोर्ट ने इसे याचिका के निर्णय पर निर्भर माना था।

कोर्ट ने बीएचयू को एक यूनिट माना

विवेकानंद तिवारी सहित अन्य की चुनौती याचिका को कोर्ट ने स्वीकार करते हुए टीचिंग पदों की भर्ती पर रोक लगा दी है। कोर्ट ने कहा कि प्रकरण विचारणीय है। याची अधिवक्ता विमलेन्दु त्रिपाठी का कहना था कि 'बीएचयू को एक यूनिट मानकर भर्ती में आरक्षण लागू किया गया है। जबकि राज्य विश्वविद्यालयों में विभागवार पदों पर आरक्षण रोस्टर लागू किया जाता है। भर्ती में प्रोफेसर एसोसिएट प्रोफेसर व सहायक प्रोफेसर की भर्ती की जा रही है।'

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story