HRD मंत्री ने सभी स्कूलों से कहा- NCERT की किताबोंं पर ही रहें केंद्रित

मानव संसाधन विकास (HRD) मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने हाल ही में स्कूलों को सलाह देता हुए कहा है कि उन्हें निजी प्रकाशकों की किताबों के बजाए नेशनल काउंसिल ऑफ रिसर्च एंड ट्रेनिंग (NCERT) की ओर से प्रकाशित किताबों पर ही केंद्रीत रहना चाहिए। एचआरडी मिनिस्ट्री अब एनसीआरटी बुक्स को लेकर अहम फैसले लिए है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सभी सीबीएसई स्कूलों में एनसीआरटी किताबों को अनिवार्य करने की तैयारी कर रहा है। हालांकि, स्कूल एनसीआरटी किताबों की कमी की शिकायत करते रहे हैं।

नई दिल्ली : मानव संसाधन विकास (HRD) मंत्री  प्रकाश जावड़ेकर ने हाल ही में स्कूलों को सलाह देता हुए कहा है कि उन्हें निजी प्रकाशकों की किताबों के बजाए नेशनल काउंसिल ऑफ रिसर्च एंड ट्रेनिंग (NCERT) की ओर से प्रकाशित किताबों पर ही केंद्रीत रहना चाहिए। एचआरडी मिनिस्ट्री अब एनसीआरटी बुक्स को लेकर अहम फैसले लिए है।

ये भी पढ़ें… CBSE की चेतावनी: स्कूल कैंपस में किताबें और यूनिफॉर्म न बेचें, रद्द हो सकती है मान्यता

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सभी सीबीएसई स्कूलों में एनसीआरटी किताबों को अनिवार्य करने की तैयारी कर रहा है। हालांकि, स्कूल एनसीआरटी किताबों की कमी की शिकायत करते रहे हैं। वहीं अधिकतर पेरेंट्स सीबीएसई और एचआरडी मिनिस्ट्री को शिकायत कर रहे हैं कि एनसीआरटी बुक्स उपलब्ध होने के बावजूद स्कूल निजी प्रकाशकों की महंगी किताबें खरीदने के लिए जोर देते हैं।

ये भी पढ़ें… SC ने दिया केंद्र और CBSE को आदेश, अगले साल से NEET में उर्दू भी होगी शामिल

क्या कहना है जावड़ेकर का?
ऐसे में जावड़ेकर का कहना है कि हम स्कूलों से यह अपील करते हैं कि वो अपने स्कूल को रजिस्टर करें और एनसीईआरटी किताबों का ऑर्डर दें। 2000 से अधिक निजी स्कूल पहले से रजिस्टर्ड हैं, जिन्हें एनसीईआरटी किताबें सप्लाई कर रही है। फिलहाल इसे अनिवार्य नहीं किया जा सकता, लेकिन अगले दो माह में सख्त कदम उठाए जा सकते हैं।