×

JEE MAIN EXAM 2017: एप्लीकेशन फॉर्म में ऐसे कर सकते है सुधार, 3 फरवरी तक मिलेगी सुविधा

सीबीएसई ने जेईई मेंस एग्जाम 2017 के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवारों को अपने एप्लीकेशन फॉर्म में सुधार करने का अंतिम मौका दिया गया है। सीबीएसई ने कैंडिडेट्स को परामर्श दिया है कि वह जेईई मेन की वेबसाइट पर जाकर अपने फॉर्म को अच्छी तरह जांच लें। अगर ब्यौरे में कुछ गलत या अधूरा हैं तो वह उसमें सुधार कर सकते हैं।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 27 Jan 2017 7:09 PM GMT

JEE MAIN EXAM 2017: एप्लीकेशन फॉर्म में ऐसे कर सकते है सुधार, 3 फरवरी तक मिलेगी सुविधा
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली : सीबीएसई ने जेईई मेंस एग्जाम 2017 के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवारों को अपने एप्लीकेशन फॉर्म में सुधार करने का अंतिम मौका दिया गया है। सीबीएसई ने कैंडिडेट्स को परामर्श दिया है कि वह जेईई मेन की वेबसाइट पर जाकर अपने फॉर्म को अच्छी तरह जांच लें। अगर ब्यौरे में कुछ गलत या अधूरा हैं तो वह उसमें सुधार कर सकते हैं।

यह सुविधा जेईई मेन की वेबसाइट पर 3 फरवरी तक मिलेगी। जेईई मेन की ऑफलाइन परीक्षा 2 अप्रैल और ऑनलाइन एग्जाम 8 व 9 अप्रैल को होगी।

आगे की स्लाइड्स में देखें कैसे करे सुधार...

आवेदन पत्र में ऐसे करें सुधार

-जेईई मेन्स के वेबसाइट http://jeemain.nic.in पर जाएं।

-उसके बाद 'Application Form Particulars Correction' पर क्लिक करें।

-कैंडिडेट्स अपना एप्लीकेशन नंबर, पासवर्ड, सिक्योरिटी पिन डालकर लॉग-इन करें।

महत्वपूर्ण तिथियां

-एडमिट कार्ड डाउनलोड : मार्च 2017 के दूसरे हफ्ते से।

-जेईई मेन 2017 में ऑफलाइन परीक्षा (पेपर 1 और पेपर 2) : 2 अप्रैल 2017

-जेईई मेन 2017 ऑनलाइन एग्जाम (पेपर 1): 8 और 9 अप्रैल 2017

-'आंसर-की' और ओएमआर शीट : अप्रैल के तीसरे या चौथे हफ्ते में

-रिजल्ट घोषणा : 27 अप्रैल 2017

आगे की स्लाइड्स में जानें कैंडिडेट्स की योग्यता...

क्या है आवश्यक योग्यता

-भारत सरकार ने साल 2017 से जेईई मेन्स परीक्षा के पैटर्न में कुछ बदलाव किए हैं।

-इंजीनियरिंग अंडर ग्रेजुएट (UG) कोर्सेज में दाखिले के लिए होने वाली जेईई में रैंकिंग निर्धारण में 12वीं में आए नंबरों का कोई रोल नहीं होगा।

-इसके अलावा जेईई (एडवांस)/जेईई (मेन) रैंकिंग के आधार पर यूजी इंजीनियरिंग कोर्सेज में एडमिशन देने वाले IIT/NIT/IIIT और अन्य केंद्रीय वित्तीय सहायता प्राप्त तकनीकी संस्थानों के लिए क्वालिफाई करने के लिए भी 12वीं कक्षा में कम से कम 75 फीसदी मार्क्स होना अनिवार्य है।

-एससी और एसटी के लिए यह योग्यता 65 प्रतिशत हो।

बता दें कि देश के तमाम एनआईटी, आईआईआईटी, अन्य केंद्रीय वित्तीय सहायता प्राप्त तकनीकी इंस्टिट्यूट, इस प्रक्रिया में शामिल हो चुके राज्यों और अन्य ढेरों संस्थानों में जेईई (मेन) परीक्षा के परफॉरमेंस के आधार पर इंजीनियरिंग अंडरग्रेजुएट कोर्सेज में एडमिशन मिलता है।

जेईई (मेन) में आधार पर जेईई एडवांस परीक्षा देने का अवसर मिलता है। जेईई एडवांस परीक्षा के माध्यम से ही आईआईटी के इंजीनियरिंग कोर्सेज में एडमिश लिया जा सकता है।

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story