×

झारखंड: 10वीं का रिजल्‍ट रिवाइज, रातोंरात 35,000 फेल को किया पास

झारखंड अकेडमिक काउंसिल (JAC) ने मैट्रिक परीक्षा, 2017 का परिणाम गुरुवार देर रात को रिवाइज कर दिया है। जैक ने रिवाइज रिजल्ट में अपनी गड़बड़ी सुधार करते हुए करीब 35 हजार बच्चे पास कर दिए हैं। अब पास होने वाले स्टूडेंट्स की संख्या में तकरीबन 10 प्रतिशत की बढ़ोतरी हो गई है। काउंसिल द्वारा 30 मई को मैट्रिक के नतीजे जारी किए गए थे। लेकिन, इसमें अनियमितता की वजह से हजारों छात्र फेल हो गये थे।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 2 Jun 2017 3:26 PM GMT

झारखंड: 10वीं का रिजल्‍ट रिवाइज, रातोंरात 35,000 फेल को किया पास
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली : झारखंड अकेडमिक काउंसिल (JAC) ने मैट्रिक परीक्षा, 2017 का परिणाम गुरुवार देर रात को रिवाइज कर दिया है। जैक ने रिवाइज रिजल्ट में अपनी गड़बड़ी सुधार करते हुए करीब 35 हजार बच्चे पास कर दिए हैं। अब पास होने वाले स्टूडेंट्स की संख्या में तकरीबन 10 प्रतिशत की बढ़ोतरी हो गई है। काउंसिल की ओर से 30 मई को मैट्रिक के नतीजे जारी किए गए थे। लेकिन, इसमें अनियमितता की वजह से हजारों छात्र फेल हो गये थे। संशोधित रिजल्ट जैक की वेबसाइट www.jac.nic.inwww.jac.jharkhand.gov.in पर देख सकते है।

जैक ने पहले जारी परिणाम में भाषा एक और दो में से किसी एक में फेल होने और अतिरिक्त विषय में रखे गए भाषा विषय में सफल परीक्षार्थियों को फेल कर दिया था। जबकि अपने संशोधित रिजल्ट में जैक ने ऐसे छात्रों को पास घोषित किया है।

पहले नहीं दिए गए थे ग्रेस मार्क्स

जैक बोर्ड में ये प्रोविजन है कि एक या दो विषयों में थोड़े अंक से फेल छात्रों को ग्रेस मार्क्स देकर पास किया जाए। एक विषय में कम अंक आने पर पांच अंक और दो विषयों में काम अंक आने पर तीन-तीन अंक देने का प्रावधान है। लेकिन इस पर अमल नहीं किया गया था। मैट्रिक परीक्षा में अंग्रेजी भाषा में 32,361 छात्र फेल थे, लेकिन ये परीक्षार्थी अतिरिक्त भाषा विषय में पास थे। इसी प्रकार हिंदी में फेल 3,181 छात्रों में भी अपने अतिरिक्त भाषा विषय में पास थे। इसलिए इन्‍हें पास करने का फैसला लिया गया।

सवालों के घेरे में जैक

इस मामले में झारखण्ड के शिक्षा विभाग की सचिव अराधना पटनायक ने रिजल्ट में गड़बड़ी को लेकर जैक से रिपोर्ट मांगी थी। सचिव ने मामले की जांच करने के लिए कहा था। फिर पूर्व प्रकाशित रिजल्ट में सुधार का निर्णय लिया गया।

दोषी अफसरों पर होगी कार्रवाई

स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग ने झारखंड अकेडमिक काउंसिल से रिजल्ट गड़बड़ी की जांच रिपोर्ट मांगी है। जांच के बाद दोषी अफसरों पर कार्रवाई की जाएगी

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story