Top

KV फाउंडेशन डे पर लखनऊ के टीचर्स ने मारी ब‍ाजी, हासिल किए 16 में से 9 अवार्ड

साल 1962 में केंद्र सरकार ने दूसरे वेतन आयोग की सिफारिश पर केवी संगठन की योजना को मंजूरी दी थी। शुरूआत में अलग-अलग राज्‍यों के सेना रेजीमेंटों के 20 स्‍कूलों को केवी संगठन में शामिल किया गया। वर्ष 1965 में केवी को एक ऑटोनॉमस बॉडी का दर्जा मिला। इस समय पूरे देश में 1100 से अधिक केंद्रीय विदयालय हैं, जिसमें से 3 विदेश की ब्रांच भी शामिल हैं।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 15 Dec 2016 2:43 PM GMT

KV फाउंडेशन डे पर लखनऊ के टीचर्स ने मारी ब‍ाजी, हासिल किए 16 में से 9 अवार्ड
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ : केंद्रीय विदयालय (KV) संगठन को शिक्षा के क्षेत्र में सेवा करते हुए गुरूवार को 53 साल पूरे हो गए। ऐसे में साल 2016 के लिए रीजनल मोटिवेशनल अवार्डस संगठन के फाउंडेशन डे पर दिए गए। इसमें लखनऊ रीजन के केंद्रीय विदयालय के टीचर्स ने ब‍ाजी मारी। इसमें 16 अवार्डस में से 9 अवार्डस लखनऊ रीजन के स्‍कूलों के टीचर्स की झोली में आए।

टीचर्स को मिला नेशनल अवार्ड

-केंद्रीय विदयालय के कमिश्‍नर संतोष मल्‍ल ने बताया कि केवी संगठन के लखनऊ रीजन के टीचर्स ने वर्ष 2016 में अच्‍छा परफार्म किया है।

-इसमें केवी अलीगंज ब्रांच के एके पाठक, राजेश शुक्‍ला और कानपुर रीजन की रेखा दीक्षित को नेशनल अवार्ड 2015 के लिए चुना गया हैै।

-इतना ही नहीं रीजनल अवार्डस की कैटैगरी में भी लखनऊ के टीचर्स ने बाजी मारी है।

-इसमें लखनऊ केवी एएमसी के प्रिंसपल डॉ के के पांडे, टीचर मधुश्री शुक्‍ला, बिजनौर ब्रांच की मीनू गांधी और अमित अग्निहोत्री, गोमतीनगर के संतोष कुमार और आभा मेहरोत्रा, गोमतीनगर के प्रिंसपल अरूणेश वैश्‍य, अलीगंज की कंचन चार्ल्‍स और वाहन चालक शंभू दयाल शामिल हैं।

- इसके अलावा कानपुर चकेरी केे वाईस प्रिंसपल टीजेड नकवी और टीचर संजय दिवेदी, बरेलीहासिल कि इफको ब्रांच के सत्‍य नारायण, बरेली एनईआर ब्रांच की अमिता राज, कानपुर आईआईटी ब्रांच की मालिनी कपूर और कानपुर ओआईएफ ब्रांच के राकेश पांडे को चुना गया है।

1962 में पड़ी थी केवी संगठन की नींव

-साल 1962 में केंद्र सरकार ने दूसरे वेतन आयोग की सिफारिश पर केवी संगठन की योजना को मंजूरी दी थी।

-शुरूआत में अलग-अलग राज्‍यों के सेना रेजीमेंटों के 20 स्‍कूलों को केवी संगठन में शामिल किया गया।

-वर्ष 1965 में केवी को एक ऑटोनॉमस बॉडी का दर्जा मिला।

-इस समय पूरे देश में 1100 से अधिक केंद्रीय विदयालय हैं, जिसमें से 3 विदेश की ब्रांच भी शामिल हैं।

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story