×

यूपीटीईटी: परीक्षा से पहले जान लें ये जरूरी बातें नहीं हो जायेंगे एग्जाम से बाहर

Shivakant Shukla

Shivakant ShuklaBy Shivakant Shukla

Published on 11 Nov 2018 9:16 AM GMT

यूपीटीईटी: परीक्षा से पहले जान लें ये जरूरी बातें नहीं हो जायेंगे एग्जाम से बाहर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: 18 नवंबर को होने वाली शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपीटीईटी) में एक छोटी सी गलती भी परीक्षार्थी को एग्जाम से बाहर कर सकती है। बेसिक शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव डॉ.प्रभात कुमार ने इस संबंध में विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। जो निम्नलिखित हैं-

ये भी पढ़ें— UPTET: OMR शीट पर ओवरराइटिंग-कटिंग करने पर नहीं होगा मूल्यांकन, जानें ये खास बातें

परीक्षा में ये चीजें ले जाना आवश्यक

दिशा-निर्देश में बताया गया है कि परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए आवश्यक दस्तावेज साथ ले जाना न भूलें। परीक्षा कक्ष में प्रवेश के लिए अभ्यर्थियों को प्रवेश पत्र के साथ ऑनलाइन आवेदन में अंकित पहचान पत्र (ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, पासपोर्ट, वोटर आईकार्ड) की मूल प्रति तथा प्रशिक्षण योग्यता के प्रमाणपत्र अथवा किसी भी सेमेस्टर की निर्गत अंकपत्र की मूल प्रति या संबंधित प्रशिक्षण संस्था के रजिस्ट्रार/सक्षम अधिकारी से इंटरनेट से प्राप्त अंकपत्र की प्रमाणित प्रति अनिवार्य रूप से दिखानी होगी। इसके बिना परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं मिलेगी।

ये भी पढ़ें— UPTET 2018: 44 हजार से अधिक आवेदन निरस्त, इतने अभ्यर्थी ही दे सकेंगे परीक्षा

परीक्षा कक्ष में अभ्यर्थियों को अपनी आवंटित सीट पर बैठना होगा। यदि कोई अभ्यर्थी अपने कमरे या सीट को बदलता है तो उसका अभ्यर्थन रद्द कर दिया जाएगा। यदि कोई अभ्यर्थी परीक्षा शुरू होने के बाद आता है तो उसे परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं मिलेगी।

ये चीजें परीक्षा कक्ष में ले जाना वर्जित

अभ्यर्थियों को परीक्षा कक्ष में प्रवेश पत्र और काले बॉल प्वाइंट पेन के अलावा किसी भी प्रकार की पाठ्य सामग्री, कैलकुलेटर, डॉकुपेन, स्लाइड रूलर, लॉग टेबल, कैलकुलेर की सुविधा वाली घड़ी, मुद्रित अथवा लिखित सामग्री, कागज के टुकड़े, मोबाइल फोन, पेजन या किसी अन्य प्रकार के उपकरण लाने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

ये भी पढ़ें— यूपीटीईटी: दो दिन बाद जारी होंगे एडमिट कार्ड, जानें इससे जुड़ी और कई मुख्य बातें

यदि किसी अभ्यर्थी के पास इनमें से कोई भी सामान पाया जाता है तो उसकी उम्मीदवारी को अनुचित तरीके के रूप में माना जाएगा और वह सामग्री जब्त करते हुए उसकी परीक्षा रद्द करते हुए एफआईआर दर्ज कराई जाएगी।

Shivakant Shukla

Shivakant Shukla

Next Story