Top

लखनऊ यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर राजीव मनोहर को मिड कैरियर अवार्ड से नवाजा

प्रोफेसर राजीव मनोहर ने यूजीसी,डीएसटी, इसरो,डीएई,यूपीसीएसटी के 11 प्रोजेक्ट्स सफलतापूर्वक पूरे किए हैं और 3 वर्तमान में चल रहे हैं। इसके अलावा इनके निर्देशन में 17 पीएचडी और 146 रिसर्च पेपर प्रकाशित हो चुके हैं। इनको यूपी काउंसिल फॉर साइंस एंड टेक्नॉलॉजी द्वारा 2003 में यंग साइंटिस्ट अवार्ड, यूजीसी रिसर्च अवार्ड 2014-16 समेत कई पुरस्कार प्राप्त हो चुके हैं।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 20 Feb 2017 7:00 PM GMT

लखनऊ यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर राजीव मनोहर को मिड कैरियर अवार्ड से नवाजा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ : लखनऊ यूनिवर्सिटी (LU) के फिजिक्स डिपार्टमेंट के प्रोफेसर राजीव मनोहर को यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन ने मिड कैरियर अवार्ड से नवाजा।

आगे की स्लाइड्स में जानें क्यों मिलता है मिड कैरियर अवार्ड...

मिड कैरियर अवार्ड

-मिड कैरियर अवार्ड उस प्रोफेसर को प्रदान किया जाता है जिसके निर्देशन में न्यूनतम 15 फुल टाइम पीएचडी हो चुकी हों। -उनमें से पांच पूर्ववर्ती पांच सालो में स्नातक करने वालो की हो।

-प्रोफेसर द्वारा पांच एेसे रिसर्च प्रोजेक्ट्स पर काम किया गया हो जिसे राष्ट्रीय या अंतर्राष्ट्रीय स्तर की सरकारी अथवा प्राइवेट एजेंसी द्वारा फंड किया गया हो।

-इसके अलावा 30 या उससे अधिक प्रभावशाली पेपर्स पब्लिश कर चुके हों।

-यूनिवर्सिटी में न्यूनतम तीन वर्ष का कार्यकाल अावश्यक रूप से शेष हो।

अधिक जानकारी के लिए आगे का स्लाइड्स में जानें...

कई और पुरस्कार मिले

प्रोफेसर राजीव मनोहर ने यूजीसी,डीएसटी, इसरो,डीएई,यूपीसीएसटी के 11 प्रोजेक्ट्स सफलतापूर्वक पूरे किए हैं और 3 वर्तमान में चल रहे हैं। इसके अलावा इनके निर्देशन में 17 पीएचडी और 146 रिसर्च पेपर प्रकाशित हो चुके हैं। इनको यूपी काउंसिल फॉर साइंस एंड टेक्नॉलॉजी द्वारा 2003 में यंग साइंटिस्ट अवार्ड, यूजीसी रिसर्च अवार्ड 2014-16 समेत कई पुरस्कार प्राप्त हो चुके हैं।

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story