×

LUCKNOW UNIVERSITY: ग्रेजुेशन में जल्द लागू होगा सेमेस्टर सिस्टम

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 25 May 2017 12:44 PM GMT

LUCKNOW UNIVERSITY: ग्रेजुेशन में जल्द लागू होगा सेमेस्टर सिस्टम
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ : लखनऊ यूनिवर्सिटी (LU) में शैक्षिक सत्र 2018-19 से पूरी तरह से सेमेस्टर सिस्टम लागू हो जाएगा। एलयू में फिलहाल ग्रेजुएशन के सभी कोर्सेज में सेमेस्टर प्रणाली लागू है।

अंडर ग्रेजुएट (UG) लेवल पर केवल बीए, बीएससी और बीकॉम में वार्षिक प्रणाली पर परीक्षाएं होती हैं। यूजी के ही बाकी कोर्सोज में सेमेस्टर सिस्टम ही लागू है। एलयू में एक साथ सेमेस्टर और वार्षिक दोनों प्रणाली लागूू होने के कारण साल में 3 बार परीक्षाओं का दौर चलता है। दो बार सेमेस्टर और एक बार वार्षिक परीक्षा। इनमें करीब चार महीने से ज्यादा का समय जाता है। इसको देखते हुए अब एलयू में पूरी तरह से सेमेस्टर सिस्टम लागू किया जा रहा है।

वार्षिक और सेमेस्टर सिस्टम से नहीं बनता पढ़ाई का माहौल

-एलयू कुलपति प्रो. एसपी सिंह ने कहा कि वार्षिक और सेमेस्टर दोनों सिस्टम लागू होने के कारण से यूनिवर्सिटी में पढ़ाई से ज्यादा समय तक परीक्षा ही चलती है।

-उनका कहना है, ऐसे में एलयू में पढ़ाई का माहौल नहीं बन पाता है।

-यूनिवर्सिटी में सबसे ज्यादा छात्र बीए, बीएससी और बीकॉम कोर्सेज में ही हैं।

-वहीं बीए ऑनर्स, बीकॉम ऑनर्स, बीबीए, बीसीए, एमसीए, एमएसडब्ल्यू, एलएलबी आदि कोर्सेज में सेमेस्टर सिस्टम लागू है।

-कुलपति ने बताया कि विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) पिछले काफी समय से सभी कोर्सेज पूरी तरह से सेमेस्टर सिस्टम पर संचालित करने को कह रहा है।

अधिक जानकारी के लिए आगे की स्लाइड्स में जाएं...

यूजीसी ने सेमेस्टर सिस्टम लागू करने को कहा

-एलयू में इस समय लागू व्यवस्था के अनुसार दो बार सेमेस्टर एग्जाम्स होते है।

-दूसरी सेमेस्टर परीक्षा के आसपास ही वार्षिक परीक्षाएं भी होती हैं।

-इस साल की वार्षिक परीक्षा एक मार्च से शुरू हुई थीं।

-इसके साथ ही सेमेस्टर परीक्षा की शुरुआत भी हो चुकी हैं।

-दोनों परीक्षाएं जून में खत्म होनी हैं।

-इस तरह से करीब साढ़े तीन महीने परीक्षा होंगी।

-पहले सेमेस्टर परीक्षा का समय जोड़ दें तो केवल परीक्षा का समय ही साढ़े चार महीने होता है।

-केवल सेमेस्टर परीक्षा होने पर कम से कम दो महीने कम किया जा सकेगा।

-इसका सदुपयोग पढ़ाई में हो सकेगा।

-यूजीसी ने सभी यूनिवर्सिटी को पूरी तरह से सेमेस्टर सिस्टम लागू करने के लिए कहा है।

अभी तक लागू नहीं ग्रेजुएशन में सेमेस्टर प्रणाली

-एलयू में पोस्ट ग्रेजुएट (PG) लेवल पर तो सेमेस्टर सिस्टम लागू हो गया है।

-लेकिन अभी तक ग्रेजुएशन मेें सेमेस्टर सिस्टम लागू नहीं हो सका है।

-नैक की ग्रेडिंग केे दौरान एलयू को पूरी तरह से सेमेस्टर सिस्टम लागू न होने का खामियाजा भी भुगतना पड़ा था।

-एलयू को उस समय नैक की ग्रेडिंग में बी ग्रेेड से संतोष करना पड़ा था।

अधिक जानकारी के लिए आगे की स्लाइड्स में जाएं...

सेशनल परीक्षा होगी ऑनलाइन

-एलयू वीसी प्रो. एसपी सिंह ने बताया कि सेमेस्टर एग्जाम के दौरान होने वाली सेशनल परीक्षा को ऑनलाइन कराने का प्रस्ताव है।

-फिलहाल सेशनल परीक्षा लिखित प्रणाली पर होती है।

-ऑनलाइन परीक्षा में इसे बहुविकल्पीय प्रणाली पर आयोजित किया जाएगा।

-इसके लिए हर कॉलेज में करीब 50 सिस्टम की कंप्यूटर लैब स्थपित की जाएगी।

-एलयू से परीक्षा का संचालन करके उसी दिन छात्रों को अंक भी बता दिए जाएंगे।

-मुख्य सेमेस्टर परीक्षा का आयोजन पहले की ही तरह कॉपी पेन पर आधारित होगी।

समय की होती है बर्बादी

-इससे छात्रों को लिखने का भी अभ्यास रहेगा।

-ऑनलाइन परीक्षा आयोजित कराने के लिए सभी विषयों के लिए एक क्वेश्चन बैंक बनाया जाएगा।

-इसमें हर विषय के करीब 10 बहुविकल्पीय सवाल होंगे। समय-समय पर इसमें बदलाव भी किया जाएगा।

-‘विवि में वार्षिक और सेमेस्टर प्रणाली दोनों लागू होने से परीक्षा में समय की काफी बर्बादी समय की

-साल भर के सत्र में पांच महीने तो केवल परीक्षा ही चलती रहती है। इसलिए बीए, बीएससी और बीकॉम में भी सेेमेस्टर प्रणाली लागू किया जाएगा।

-इसके साथ ही सेशनल परीक्षा ऑनलाइन पद्धति पर आयोजित होंगी।

-इसके लिए हर कॉलेज में कंप्यूटर लैब स्थापित की जाएंगी।’

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story