×

CCSU: दूसरे राज्यों से MPHIL करने वाले छात्रों को वर्क कोर्स से मिलेगी छूट

चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय (CCSU) ने छात्रों के लिए पीएचडी में बड़ी राहत दी है। दूसरे राज्य तथा केंद्र विवि से एमफिल करने वाले स्टूडेट्स का रास्ता भी आसान कर दिया है।एमफिल पास आउट को प्री पीएचडी वर्क कोर्स से छूट दी जाएगी।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 20 March 2017 8:12 AM GMT

CCSU: दूसरे राज्यों से MPHIL करने वाले छात्रों को वर्क कोर्स से मिलेगी छूट
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

मेरठ : चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय (CCSU) ने छात्रों के लिए पीएचडी में बड़ी राहत दी है। वहीं दूसरे राज्य तथा केंद्र विवि से एमफिल करने वाले स्टूडेट्स का रास्ता भी आसान कर दिया है।अब एमफिल पास आउट को प्री पीएचडी वर्क कोर्स से छूट दी जाएगी।

नहीं करना पड़ेगा कोर्स वर्क

-बता दें कि सीसीएसयू अपने एमफिल पासआउट को ही वर्क कोर्स में छूट देता था।

-लेकिन डींस के साथ विवि के अधिकारियों की बैठक में सहमति बनी है।

-यूजीसी रेग्युलेशन के मुताबिक पीएचडी करने से पहले 6 माह का वर्क कोर्स करना अनिवार्य है।

-वर्क कोर्स में रिसर्च मेथोडोलॉजी और संबधित विषय में रिसेंट टेंड की पढ़ाई होती है।

-उसके बाद छात्रों को दो पेपर पास करने होते है।

-तब आरडीसी की बैठक होती है और उसमे सुपरवाइजर एलॉट और टॉपिक तय किया जाता है।

ऐसे मिलेगी राहत

-वर्क कोर्स में दो पेपर पढ़ाए जाते हैं।

-वहीं एमफिल में भी पढ़ाए जाते हैं।

-जिसके आधार पर विवि ने एमफिल पास आउट को वर्क कोर्स में छूट दी थी।

-बताया जा रहा है कि विवि के आला अधिकारी दूसरे राज्य और केंद्र विवि से एमफिल करने वालों को वर्क कोर्स से छूट देने जा रहा है।

-जिन यूनिवर्सिटी को राज्य और केंद्र से फंड मिलता है उन छात्रों को छूट दी जाएगी।

-साथ ही एमफिल करने वाले छात्रों को राहत और वर्क कोर्स की लिस्ट में बदलाव किया जाएगा।

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story