Top

ONGC लखनऊ यूनिवर्सिटी को देगी 10 करोड़ का फंड, खुलेगा हाइड्रो कम जियो रिसर्च सेंटर

बुधवार को एलयू आई ओएनजीसी लिमिटेड कंपनी की टीम ने एलयू कुलपति प्रो निमसे के साथ बैठ की। इसके साथ बिल्डिंग का दौरा भी किया। यह रकम एलयू ओएनजीसी बिल्डिंग में खुलने वाले हाइड्रो कम जियो रिसर्च सेंटर और दूसरे सेंटर्स के संसाधनों को जुटाने में खर्च करेगी। एलयू में कॉरपोरेट सोशल रेस्पॉन्सबिलिटी के तहत बन रहे नए अकेडमिक एंड रिसर्च ब्लॉक के लिए ओएनजीसी ने 10 करोड़ रुपए की ग्रांट दी है। इसी ग्रांट के साथ ही यूनिवर्सिटी ने 14 करोड़ रुपए अपने पास से लगाकर 2 मंजिला नया अकेडमिक ब्लाक बनवाया है। बिल्डिंग में फर्निचर और दूसरी सुविधाओं के लिए एलयू ने ओएनजीसी से 10 करोड़ और मांगे थे।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 22 Sep 2016 10:40 AM GMT

ONGC लखनऊ यूनिवर्सिटी को देगी 10 करोड़ का फंड, खुलेगा हाइड्रो कम जियो रिसर्च सेंटर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ : लखनऊ यूनिवर्सिटी (एलयू) में इंफ्रास्टक्चर सुविधाओं के विकास के लिए ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉरपोरेशन (ओएनजीसी) लिमिटेड 10 करोड़ रुपए का फंड देगी।

गौरतलब है कि एलयू में हाईड्रोकार्बन कम जियो रिसोर्स सेंटर खोलने का प्रपोजल तैयार किया गया था, जो कैंपस स्थित ओएनजीसी बिल्डिंग में चलाया जाएगा। इसी के तहत ओएनजीसी यह रकम यूनिवर्सिटी को दे रहा है।

ये भी पढ़ें... इंडियन ऑयल में 46 पदों के लिए वैकेंसी, ऑनलाइन आवेदन 24 सितंबर से शुरू

ये हैं प्रमुख बिंदु्

-बुधवार को एलयू आई ओएनजीसी लिमिटेड कंपनी की टीम ने एलयू कुलपति प्रो निमसे के साथ बैठक की। इसके साथ बिल्डिंग का दौरा भी किया।

-यह रकम एलयू ओएनजीसी बिल्डिंग में खुलने वाले हाइड्रो कम जियो रिसर्च सेंटर और दूसरे सेंटर्स के संसाधनों को जुटाने में खर्च करेगी।

-एलयू में कॉरपोरेट सोशल रेस्पॉन्सबिलिटी के तहत बन रहे नए अकेडमिक एंड रिसर्च ब्लॉक के लिए ओएनजीसी ने 10 करोड़ रुपए की ग्रांट दी है।

-इसी ग्रांट के साथ ही यूनिवर्सिटी ने 14 करोड़ रुपए अपने पास से लगाकर 2 मंजिला नया अकेडमिक ब्लाक बनवाया है।

ये भी पढ़ें... LU : नई गाइडलाइंस जारी, PHD एंट्रेंस एग्जाम में नहीं होगी माइनस मार्किंग

-बिल्डिंग में फर्निचर और दूसरी सुविधाओं के लिए एलयू ने ओएनजीसी से 10 करोड़ और मांगे थे।-इसके लिए राज्यपाल रामनाईक ने भी कंपनी के अधिकारियों के साथ बैठकर इसके लिए पत्र भी लिखा था।

-यह कोर्स 2 सप्ताह से तीन माह तक के हैं।

-एमएससी स्टूडेंट्स इन कोर्सों को आसानी से कर इस क्षेत्र में रोजगार मिलेगा।

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story