×

CCSU और ग्राम पाठशाला ने साइन किया MoU, 6 माह में बनेंगे 100 लाइब्रेरी

CCSU News: इसके अतिरिक्त सामाजिक गतिविधियां, पर्यावरण संरक्षण, प्राकृतिक संसाधन, शोध और प्रकाशन, स्टार्टअप, सेमिनार, कार्यशाला आदि क्षेत्रों में दोनों संस्थाएं मिलकर कार्य करेंगी।

Durgesh Sharma
Written By Durgesh Sharma
Published on: 30 Aug 2022 3:05 PM GMT
Sign mou between CCSU and Gram Pathshala
X

Sign mou between CCSU and Gram Pathshala (Social Media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
Click the Play button to listen to article

CCSU News: चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय और ग्राम पाठशाला के बीच 5 साल के लिए एक एम.ओ.यू. पर हस्ताक्षर हुआ। इस एम.ओ.यू. के माध्यम से पूरे देश के ग्रामीण क्षेत्रों में पुस्तकालय बनाने का कार्य किया जाएगा। इसके अतिरिक्त सामाजिक गतिविधियां, पर्यावरण संरक्षण, प्राकृतिक संसाधन, शोध और प्रकाशन, स्टार्टअप, सेमिनार, कार्यशाला आदि क्षेत्रों में दोनों संस्थाएं मिलकर कार्य करेंगी। विभिन्न सरकारी और गैर सरकारी संगठनों के साथ प्रशिक्षण और विकास आधारित कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जाएगा। साथ ही शिक्षा के प्रति जागरूकता, जल संरक्षण, कृषि, स्वास्थ्य और बाल संरक्षण के अधिकारों के प्रति समय-समय पर अभियान चलाया जाएगा।


विश्वविद्यालय अपने सामाजिक दायित्वों का करेगा निर्वहन- प्रो.संगीता शुक्ला

इस अवसर पर कुलपति प्रो.संगीता शुक्ला ने कहा कि ग्राम पाठशाला के साथ विश्वविद्यालय अपने सामाजिक दायित्वों का निर्वहन तो करेगा ही, साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में रह रहे युवा वर्ग को पुस्तकालय में जाकर पठन-पाठन के वातावरण से जोड़कर उनके कैरियर को उनकी रूचि और प्रतिभा के अनुरूप नई दिशा देगा।

उन्होंने कहा यह संस्था 7 राज्यों के 350 गांव में पुस्तकालय स्थापित कर चुकी है। हमारा लक्ष्य है कि ग्रामीण वासियों की सहायता से आगामी 06 माह में विश्वविद्यालय परिक्षेत्र में 100 पुस्तकालय स्थापित करें। उन्होंने नालंदा एवं तक्षशिला विश्वविद्यालय का उदाहरण देते हुए कहा कि नालंदा और तक्षशिला विश्वविद्यालय इसी प्रकार सामाजिक सहायता के मॉडल पर न केवल स्थापित किए गए, बल्कि उनका संचालन भी इसी मॉडल पर किया गया।

उन्होंने बताया कि नालंदा और तक्षशिला विश्वविद्यालय के क्षेत्र के लोग अपने घर की आवश्यकताओं के लिए जिस प्रकार धनराशि को बचा कर रखते थे। उसी तरह उसका एक हिस्सा उन विश्वविद्यालय के संचालन के लिए भी रखा जाता था। ग्राम पाठशाला के साथ मिलकर हम उसी मॉडल पर कार्य करते हुए ग्रामीण क्षेत्रों में पुस्तकालय स्थापित करायगें।

ग्रामीण वासियों के सहयोग से बनाए गए इतने लाइब्रेरी

इस अवसर पर ग्राम पाठशाला के प्रतिनिधि और विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र डा.लाल बहार ने कहा कि पिछले 2 वर्षों में देश के 7 राज्यों में 350 पुस्तकालय ग्रामीण वासियों की सहायता से बनाए हैं।

इन पुस्तकालयों में सभी आधुनिक सुविधाएं जैसे इंटरनेट युक्त कंप्यूटर, सीसीटीवी कैमरे, ए.सी. इत्यादि जैसी सुविधाएं उपलब्ध हैं। उन्होंने बताया कि ग्राम पाठशाला संस्था में सभी लोग नौकरी पेशा है। साथ ही शनिवार और रविवार को विभिन्न गांवो में जाकर इस प्रकार के कार्य करते हैं। भौतिकी विभाग के अध्यक्ष प्रो.वीरपाल सिंह ने कार्यक्रम का संचालन किया।

इस अवसर पर प्रो.वाई.विमला, प्रो.मृदुल गुप्ता, कुलसचिव धीरेंद्र कुमार, प्रो.एनसी लोहनी, प्रो.शिवराज पुंडीर,प्रो.मुकेश शर्मा सहित कई विभागों के अध्यक्ष और ग्राम पाठशाला संस्था के देवराज नागर, प्रवीण कुमार सहित अन्य सदस्य उपस्थित रहें।

Durgesh Sharma

Durgesh Sharma

Next Story