×

Study in Australia: आप भी ऑस्ट्रेलिया से करना चाहते हैं इंजीनियरिंग, तो जानें इंडियन के लिए वहां क्या है अवसर

Study in Australia: क्या आपको पता है कि भारतीय स्टूडेंट्स के पसंदीदा स्टडी डेस्टिनेशन में ऑस्ट्रेलिया शीर्ष तीन स्थान में आता है, जबकि इंजीनियरिंग में यह पहले नंबर पर है।

aman
Written By amanPublished By Chitra Singh
Updated on: 17 Oct 2021 8:18 AM GMT
Australia Universities
X

ऑस्ट्रेलिया के विश्वविद्यालय (डिजाइन फोटो- सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Study in Australia: भारत से हर साल लाखों स्टूडेंट्स पढ़ाई के लिए विदेश जाते हैं। ये छात्र दुनिया के विभिन्न देशों से पढ़ाई कर बेहतर और सुनहरा करियर चुनते हैं। विदेश जाने वाले छात्रों में बड़ी संख्या ऑस्ट्रेलिया से इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने वालों की है। आपको पता है कि भारतीय स्टूडेंट्स के पसंदीदा स्टडी डेस्टिनेशन में ऑस्ट्रेलिया शीर्ष तीन स्थान में आता है, जबकि इंजीनियरिंग में यह पहले नंबर पर है।

बीते कुछ सालों से ऑस्ट्रेलिया के विश्वविद्यालयों में भारतीय छात्रों के आवेदन की संख्या में खासी बढ़ोतरी देखने को मिली है। इसकी कई वजहें हैं। जिनमें प्रमुख, वहां की विश्व स्तरीय शिक्षा और सांस्कृतिक विविधता है। इसके अलावा विदेशी छात्रों को ऑस्ट्रेलिया में पढ़ाई के बाद काम के अवसरों का आसानी से उपलब्ध होना भी आकर्षित करता है। लेकिन जानकार बताते हैं, कि स्टूडेंट्स को जो एक मुख्य कारण सबसे ज्यादा आकर्षित करता है वह है, यहां की कम फीस। जैसे- अगर आप यहां से बीटेक करना चाहते हैं, तो आपको 15,000 से 33,000 डॉलर देने होंगे। वहीं, एमटेक के लिए 20,000 से 37,000 के बीच ट्यूशन फीस देनीं पड़ती है। जो तुलनात्मक दृष्टि से अन्‍य देशों से कम है।

ऑस्ट्रेलिया में कैंपस लाइफ (Campus Life in Australia)

ऑस्ट्रेलियन यूनिवर्सिटी पढ़ाई के लिए काफी आकर्षक कैंपस मुहैया कराती हैं। इसके अलावा अत्याधुनिक भवन, रिसर्च के लिए लैब, कॉन्फ्रेंस सेंटर आदि वहां जाने वाले छात्रों को काफी आकर्षित करते है। यानी एक कैंपस को सुंदर और आकर्षक बनाने वाली सारी चीजें वहां उपलब्ध होती हैं। वहां कई खेलों, संगीत, डांस और अन्य क्लब होते हैं, जहां स्टूडेंट्स अपना मनोरंजन कर सकते हैं।

ऑस्ट्रेलिया में कैंपस लाइफ (डिजाइन फोटो- सोशल मीडिया)

ऑस्ट्रेलिया में वर्क परमिट (Work Permit in Australia)

ऑस्ट्रेलिया के संस्थान विभिन्न तरह के कोर्स ऑफर करते हैं। इनमें इंजीनियरिंग भी एक है। इंजीनियरिंग में बैचलर और मास्टर डिग्री दोनों ही डिग्री की पढ़ाई यहां होती है। छात्रों को पढ़ाई पूरी करने के बाद दो सालों का 'वर्क राइट' मिलता है। रिसर्च करने वाले छात्रों को तीन साल, जबकि पीएचडी कर रहे स्टूडेंट्स को चार सालों का वर्क परमिट मिलता है। उपलब्ध कोर्स को ऑस्ट्रेलियन क्वालिफिकेशन फ्रेमवर्क के तहत मान्यता प्रदान की जाती है। उनमें हाई स्कूल के प्रोग्राम, इंग्लिश लैंग्वेज कोर्स, वोकेशनल एजुकेशन ऐंड ट्रेनिंग और टेक्निकल ऐंड फर्दर एजुकेशन कोर्स तथा ग्रेजुएट और अंडर ग्रेजुएट प्रोग्राम शामिल हैं।

वहां क्या हैं जॉब के अवसर

ऑस्ट्रेलिया के विश्वविद्यालयों को विश्वस्तरीय इंजीनियरिंग विश्वविद्यालयों में गिना जाता है। इसी कारण यहां हर साल दुनिया की टॉप कंपनियां प्‍लेसमेंट के लिए आती हैं। ऑस्ट्रेलिया में पढ़ रहे छात्रों को वहीं नहीं बल्कि देश-विदेश में अच्‍छे पैकेज पर नौकरियां मिलती है। इसके अलावा इंटरनेशनल डेवलपमेंट प्रोग्राम ऑस्ट्रेलिया भर में 200 से ज्यादा संस्थानों का प्रतिनिधित्व करता है। तथा सभी 39 ऑस्ट्रेलियाई विश्वविद्यालयों के साथ पार्टनरशिप है। ऑस्ट्रेलिया में रहने के दौरान छात्रों की मदद के लिए सिडनी, मेलबर्न, पर्थ, ऐडलड और ब्रिस्बेन में आईडीपी के दफ्तर हैं।

जॉब (फोटो- सोशल मीडिया)

विभिन्न संस्कृतियों वाला समाज

ऑस्ट्रेलिया एक ऐसा देश है, जहां एशिया, यूरोप और अफ्रीका सहित दुनिया के विभिन्न देशों के छात्र एक साथ रहकर पढ़ाई करते हैं। विदेशी छात्रों को इस देश के नागरिकों से वहां कला, संस्कृति के बारे में बहुत कुछ सीखने को मिलता है। यही वजह है कि ऑस्ट्रेलिया अब बहुसांस्कृतिक समाज के रूप में विकसित हो रहा है। हाल के सालों में भारतीय विद्यार्थियों के साथ हुई नस्लभेदी घटनाओं ने इस देश की छवि को कुछ धूमिल जरूर किया है।

पार्ट टाइम जॉब और स्कॉलरशिप की सुविधा

ऑस्ट्रेलिया में पढ़ाई कर रहे स्टूडेंट को पार्ट टाइम काम करने और स्कॉलरशिप जैसी सुविधाएं आदि भी मुहैया कराई जाती है। यहां रह रहे भारतीय छात्र पार्ट टाइम जॉब कर अच्छी कमाई कर लेते हैं। साथ ही, वे काम कर उद्योग जगत और वहां की गतिविधियों से अवगत होते हैं। बता दें कि यहां कुछ स्कॉलरशिप सरकार की तरफ से भी मुहैया कराई जाती है। ऑस्ट्रेलिया में बैचलर, मास्टर और पीएचडी के लिए स्कॉलरशिप उपलब्ध हैं। साथ ही साथ यूनिवर्सिटी विशिष्ट स्कॉलरशिप भी प्रदान की जाती है।

स्कॉलरशिप की सुविधा (डिजाइन फोटो- सोशल मीडिया)

यहां मिलता है बेहतर माहौल

वर्तमान समय में ऑस्ट्रेलिया दुनिया के सर्वश्रेष्ठ 10 खुश देशों में शुमार है। इस देश में विभिन्न संस्कृतियों का मिलन होने की वजह से 260 से ज्यादा भाषाएं बोली जाती हैं। ऑस्ट्रेलिया की आधी से अधिक आबादी प्रवासियों की है। दुनियाभर के व्यंजनों और उत्सवों का ऑस्ट्रेलिया में आनंद उठाया जा सकता है। यहां छात्रों को बेहतर माहौल मिलता है। जिसमें उनका समुचित विकास होता है।

ऑस्ट्रेलिया के विश्व प्रसिद्ध यूनिवर्सिटी (Australia ke Vishva Prasiddh Universities)

  • न्यू साउथ वेल्स यूनिवर्सिटी
  • एडिलेड यूनिवर्सिटी
  • आरएमआईटी विश्वविद्यालय
  • प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय सिडनी
  • सिडनी यूनिवर्सिटी
  • क्वींसलैंड ऑस्ट्रेलिया यूनिवर्सिटी
  • चार्ल्स डार्विन यूनिवर्सिटी
  • यूनिवर्सिटी ऑफ मेलबर्न
  • मोनाश यूनिवर्सिटी
  • कर्टिन प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय
Chitra Singh

Chitra Singh

Next Story