×

CCSU Tablet Distribution: टेबलेट पाकर छात्रों के खिले चेहरे

CCSU Tablet Distribution: कोरोना काल के बाद डिजिटाइजेशन हर वर्ग की जरूरत हो गई थी और ग्रामीण क्षेत्र के आर्थिक रूप से कमजोर बच्चे स्मार्टफोन एवं टेबलेट लेने में सक्षम नहीं थे।

Durgesh Sharma
Written By Durgesh SharmaReport Sushil Kumar
Updated on: 3 Sep 2022 4:17 PM GMT
Tablet Distribution in Chaudhary Charan Singh University
X

Tablet Distribution in Chaudhary Charan Singh University (Social Media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
Click the Play button to listen to article

CCSU Tablet Distribution: चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय के सूक्ष्म जीव विज्ञान विभाग एवं मनोविज्ञान विभाग ने कुलपति प्रोफेसर संगीता शुक्ला के निर्दशन में प्रोफेसर मृदुल गुप्ता एवं प्रोफेसर वाई विमला की अध्यक्षता में संयुक्त रुप से टेबलेट वितरण का आयोजन हुआ। जिसकी मुख्य अतिथि राज्यसभा सांसद कांता कर्दम रही। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि कांता कर्दम, प्रोफेसर मृदुल कुमार गुप्ता, प्रोफेसर वाई विमला,धीरेंद्र कुमार वर्मा कुलसचिव डॉ.लक्ष्मण नागर ने मां सरस्वती के सम्मुख दीप प्रज्वलित कर किया।

मुख्य अतिथि कांता कर्दम ने कहा कि कोरोना काल के बाद डिजिटाइजेशन हर वर्ग की जरूरत हो गई थी और ग्रामीण क्षेत्र के आर्थिक रूप से कमजोर बच्चे स्मार्टफोन एवं टेबलेट लेने में सक्षम नहीं थे। इस बात को लेकर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चिंतन किया और इस योजना का शुभारंभ किया। जिसका उद्देश्य प्रदेश के हर युवा को डिजिटली स्मार्ट करना था।

टेबलेट व स्मार्टफोन हर व्यक्ति के हैं लिए लाभकारी- प्रोफेसर संजय कुमार

उन्होंने कहा कि प्रदेश के हर यूजी व पीजी कोर्स के युवाओं को स्मार्टफोन व टेबलेट का वितरण होगा। इसलिए जो वंचित रह गए हैं वह चिंतित ना हो। प्रोफेसर वाई विमला ने कहा की वर्तमान समय में मोबाइल, टैबलेट आदि के बिना शिक्षा पूर्ण नहीं हो सकती है। लेकिन इसका सदुपयोग होना चाहिए। प्रोफेसर मृदुल गुप्ता ने कहा कि टेबलेट का प्रयोग विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में भी किया जा सकता है। राज्य सरकार की यह एक अच्छी पहल है। धीरेंद्र कुमार वर्मा ने राज्य सरकार की इस योजना को विस्तार पूर्वक बताया और कहा कि इस योजना का नाम अब स्वामी विवेकानंद युवा सशक्तिकरण योजना हो गया है।


कार्यक्रम के संयोजक डॉ. लक्ष्मण नागर ने बताया कि राज्य सरकार की यह योजना युवाओं को तकनीकी रूप से सक्षम बनाने में कारगर साबित होगी। जिससे युवाओं के जीवन में तरक्की की नई उड़ान शुरू होगी। मनोविज्ञान के प्रोफेसर संजय कुमार ने कहा कि आज के युग में टेबलेट व स्मार्टफोन हर व्यक्ति के लिए लाभकारी है। डॉ.दिनेश पवार ने छात्रों के उज्जवल भविष्य की कामना की। कार्यक्रम का संचालन प्रीति सेमवाल ने किया। वहीं टेबलेट पाकर छात्र काफी खुश हुए और राज्य सरकार का धन्यवाद दिया। इस मौके पर इंजीनियर प्रवीण कुमार, मितेन्द्र कुमार, डॉ.अजय शुक्ला, डॉ.प्रीति, डॉक्टर अश्वनी शर्मा,डॉ.दिलशाद अली, डॉ.अंजली मलिक, डॉ.दिनेश कुमार शर्मा, डॉ.कपिल स्वामी राजेश और अन्य लोग मौजूद रहे।

Durgesh Sharma

Durgesh Sharma

Next Story