Top

UP BOARD EXAM 2017: 16 मार्च से बोर्ड परीक्षाओं का आगाज, 5000 कक्ष निरीक्षक होंगे तैनात

यूपी में आगामी 16 मार्च से बोर्ड परीक्षाओं का आगाज होने जा रहा है। ये परीक्षाएं 21 अप्रैल तक चलेंगी। ऐसे में प्रदेश समेत राजधानी के माध्यमिक शिक्षा विभाग के अधिकारी हरकत में आ गए हैं। बोर्ड परीक्षाओं में केंद्र का निर्धारण पूर्व में ही किया जा चुका है।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 21 Feb 2017 8:19 AM GMT

UP BOARD EXAM 2017: 16 मार्च से बोर्ड परीक्षाओं का आगाज, 5000 कक्ष निरीक्षक होंगे तैनात
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ : यूपी में आगामी 16 मार्च से बोर्ड परीक्षाएं शुरू होंगी। ये एग्जाम 21 अप्रैल तक चलेंगी। ऐसे में प्रदेश समेत राजधानी के माध्यमिक शिक्षा विभाग के अधिकारी हरकत में आ गए हैं। बोर्ड परीक्षाओं में केंद्र का निर्धारण पूर्व में ही किया जा चुका है।

1 लाख 6 हजार छात्र देंगे परीक्षा

-इस बार कुल 150 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं।

-इन केंद्रो पर हाईस्‍कूल और इंटरमीडिएट के मिलाकर कुल 1 लाख 6 हजार छात्र परीक्षा देंगे।

-परीक्षा केंद्रों पर अभी करीब 5000 कक्ष निरीक्षकों की तैनाती होना बाकी हैं।

-अब इन केंद्रों पर कक्ष निरीक्षकों की तैनाती होनी है।

-इस बार परीक्षा केंद्रों पर वैध निरीक्षकों की तैनाती के लिए विभाग ने खाका तैयार कर लिया है।

-इस कदम से जहां परीक्षा की शुचिता बरकरार रहेगी।

-वहीं मानदेय के झगड़ों से भी विभाग को निजात मिलेगी।

​​

अर्ह शिक्षक बनेंगे निरीक्षक

डीआईओएस उमेश त्रिपाठी ने बताया की माध्यमिक शिक्षा परिषद् की गाइड लाइन के मुताबिक अर्ह शिक्षक ही परीक्षा केंद्रों पर बतौर निरीक्षक तैनात किए जाएंगे। बोनाफाइड शिक्षकों को कक्ष निरीक्षक बनाने के पीछे विभाग की मंशा जहां एक ओऱ फर्जी कक्ष निरीक्षकों पर लगाम लगाकर परीक्षा की शुचिता बनाए रखना है। वहीं दूसरी ओर मानदेय वितरण में आने वाली समस्याओं से निजात भी पाना है।

​​

शिक्षकों की डिटेल होगी शामिल

डीआईओ एस उमेश त्रिपाठी ने बताया की इस बार साल 2017 में कक्ष निरीक्षकों को जिस आईकार्ड का वितरण किया जाएगा। उसमें 6 बिन्दुओं को शामिल किया गया है। इसमें राजकीय, अशासकीय सहायता प्राप्त और वित्त विहीन मान्यता प्राप्त विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों का 6 बिन्दुओ पर ब्योरा मांगा गया है। इसमें शिक्षक का नाम,पदनाम,पिता का नाम,विद्यालय का नाम,विद्यालय में नियुक्ति की तिथि, शैक्षिक योग्यता का स्पष्ट विवरण, ​जिसमें ग्रेजुएशन और पोस्‍टग्रेजुएशन के विषय के साथ शिक्षक द्वारा वर्तमान में पढ़ाए जा रहे ​सब्‍जेक्‍ट की डिटेल शामिल होगी।

आईड़ी कार्ड रखना अनिवार्य

परिचय पत्र पर शिक्षक की विद्यालय के ​प्रधानाचार्य द्वारा सत्यापित फोटो भी होगी। परिचय पत्र को शिक्षक और प्रधानाचार्य के हस्ताक्षर और मोहर के साथ डीआईओएस द्वारा​ काउंटरसाइन करवाया जाएगा।इन परिचय पत्रों को डीआईओएस द्वारा ​काउंटरसाइन करवाने के लिए 26 फरवरी तक डीआईओएस कार्यालय में जमा किया जाना है।इसके बाद ही निरीक्षकों को ​वै​ध परिचय पत्र वितरित किए जाएंगे। इन परिचय पत्रों को निरीक्षक डयूटी के दौरान अपने साथ रखेंगे। यदि कोई व्यक्ति बिना इस आईडी कार्ड के ड्यूटी करता पाया गया तो उसके विरुद्ध कार्यवाही की जाएगी।

​​

पिछले वर्षों में होती थी अनियमितता

माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रादेशिक संरक्षक आर पी मिश्र ने बताया की बीते सालो में बोर्ड परीक्षाओं के दौरान घोर अनियमितता होतीं आई है। पिछले साल ही इंदिरानगर के सक्सेना इंटर कॉलेज में बक्शी का तालाब क्षेत्र के एक गैर मान्यता प्राप्त विद्यालय के बच्चे परीक्षा के दौरान नकल करते पाए गए थे। इसमें कक्ष निरीक्षक समेत केंद्र अधीक्षक की भूमिका संदिग्ध पाई गई थी।

तत्कालीन जिलाधिकारी राजशेखर द्वारा इस मामले में एफआईआर के निर्देश भी दिए गए थे। इसके अलावा कई जगहों पर अवैध और गैर अर्ह कक्ष निरीक्षक परीक्षा क​रा​ते पाए गए थे। इसके बाद मानदेय वितरण को लेकर भी काफी खींचतान रही थी।

​​

5000 कक्ष निरीक्षक होंगे तैनात

-डीआईओएस उमेश त्रिपाठी ने बताया कि इस बार राजधानी में 150 परीक्षा केंद्र बनाए गए है।

-इसमें 48 वित्तविहीन और शेष राजकीय और अशासकीय सहायता प्राप्त विद्यालय सम्मलित हैं।

-इन केंद्रों पर 5000 कक्ष निरीक्षकों की तैनाती होनी है।

-ये कक्ष निरीक्षक राजधानी में पंजीकृत 1 लाख 6 हजार बच्चों की परीक्षा कराएंगे।

-इनमे हाई स्कूल के 57,907 बच्चे शामिल है, जिनमे 29,615 बालक और 28,292 बालिकाएं शामिल हैं।

-इनके अलावा इंटरमीडिएट के 44,754 बच्चे भी शामिल हैं।

-इनमे 21,503 बालक और 23,251 बालिकाएं शामिल रहेंगे।

​हर 10 केंद्रो पर होगा एक सेक्‍टर मजिस्‍ट्रेट

डीआईओएस उमेश त्रिपाठी ने बताया कि मुख्‍य सचिव राहुल भटनागर द्वारा 6 फरवरी को सभी मंडलों के कमिश्‍नरों और डीएम को पत्र लिखकर यूपी बोर्ड परीक्षा को संपन्‍न करवानेे के लिए राजस्‍व अधिकारियों को बतौर सेक्‍टर मजिस्ट्रे्ट तैनात करने का आदेश हुआ हैै।हर 10 सेंटर्स पर एक-एक सेक्‍टर मजिस्‍ट्रेटों को तैनात किया जाएगा।

​​डीआईओएस ​कार्यालय में बनेगा कंट्रोल रूम

-​डीआईओएस उमेश त्रिपाठी ने बताया कि डीआईओएस कार्यालय में ही एक कंट्रोल रूम बनाया जाएगा।

-शिफ्ट के हिसाब से कर्मचारी की तैनाती की जाएगी।

-इसके हेल्‍पलाइन नंबर को जल्‍द ही जारी किया जाएगा।

-बाकी व्‍यक्तिगत रूप से कोई भी उनके सीयूजी नंबर 9454457262 पर भी कर सकते हैं।

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story