×

...तो UPSC को स्टेट बैंक के अलावा किसी अन्य बैंक पर भरोसा ही नहीं रहा

अगर आप संघ लोकसेवा आयोग की सर्वोच्च परीक्षाओं में बैठने की ख्वाहिश रखते हैं तो आपके लिए ऑन लाइन फार्म भरने से पहले भारतीय स्टेट बैंक में खाता खुलवाना अनिवार्य हो जाता है। आपको इस बैंक में खाता खुलवाने के साथ ही तुरंत क्रेडिट और डेबिट कार्ड भी इशू कराना पड़ेगा।

Anoop Ojha

Anoop OjhaBy Anoop Ojha

Published on 21 Feb 2019 1:06 PM GMT

...तो UPSC को स्टेट बैंक के अलावा किसी अन्य बैंक पर भरोसा ही नहीं रहा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

योगेश मिश्र

लखनऊ: अगर आप संघ लोकसेवा आयोग की सर्वोच्च परीक्षाओं में बैठने की ख्वाहिश रखते हैं तो आपके लिए ऑन लाइन फार्म भरने से पहले भारतीय स्टेट बैंक में खाता खुलवाना अनिवार्य हो जाता है। आपको इस बैंक में खाता खुलवाने के साथ ही तुरंत क्रेडिट और डेबिट कार्ड भी इशू कराना पड़ेगा। तभी आप इन दिनों यूपीएससी की ओर से निकली सिविल सेवाओं में आवेदन करने के हकदार हो पाएंगे। अगर किसी कारणवश आप स्टेट बैंक में खाता नहीं खुलवा पाते तो आपको अपने किसी मित्र, रिश्तेदार जिसका खाता भारतीय स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में हो उसकी अनुकंपा की दरकार होगी। क्योंकि प्रारंभिक परीक्षा के लिए निकलने वाले आवेदन की फीस किसी दूसरे बैंक के क्रेडिट अथवा डेबिट कार्ड से जमा ही नहीं हो सकती।

यह भी पढें......अब गांव से करें IAS बनने की तैयारी, ये रहा BEST तरीका

हालांकि अगर आप सिविल सेवाओं के फार्म आनलाइन भरेंगे तो आपको आप्शन में सभी बैंकों के क्रेडिट या डेबिट कार्ड इस्तेमाल करने का विकल्प दिखेगा लेकिन जब आप स्टेट बैंक आफ इंडिया के आलावा किसी भी बैंक के क्रेडिट या डेबिट कार्ड का इस्तेमाल करेंगे तो आपका कंप्यूटर उस कार्ड को रिजेक्ट या रिग्रेट कर देगा। फार्म भरने के लिए आपको यूपीएससी की आधिकारिक वेबसाइट upse.gov.in या upsconline.nic.in पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होगा इस बार 896 पदों के लिए आवेदन मांगे गए हैं। न्यूनतम आयु 21 और अधिकतम 32 वर्ष होनी चाहिए आयु की गणना 1 अगस्त 2019 से की जाएगी परीक्षा तीन चरणों में होनी है।

यह भी पढें.....इस बार पीसीएस की परीक्षा में लोअर सबार्डिनेट के पदों की भरमा

पहले चरण में प्रारंभिक, दूसरे चरण में मुख्य परीक्षा व तीसरे चरण में साक्षात्कार होता है। प्रारंभिक परीक्षा में 200-200 अंकों के दो जनरल स्टडीज के पेपर होते हैं। प्रारंभिक परीक्षा बहुविकल्पीय और वस्तुनिष्ठ होती है। इसमें माइनस मार्किंग भी होती है। हर गलत उत्तर पर एक तिहाई अंक काटे जाते हैं। मुख्य परीक्षा 1750 अंकों की होती है जबकि साक्षात्कार 275 अंकों का।

यह भी पढें......UPPSC PCS 2014: आयोग ने उत्तरपुस्तिका दिखाने से किया इंकार

सिविल सेवा की इस बार की परीक्षा के लिए आवेदन में भारतीय स्टेटबैंक के क्रेडिट या डेबिट कार्ड की अनिवार्यता ने परीक्षार्थियों की दिक्कत बढ़ाकर रख दी है। परीक्षार्थियों का यह कहना है कि स्टेट बैंक आसानी से खाता खोलता ही नहीं है। उसमें खाता खुलवाना एक टेढ़ी खीर है। और फिर जब उनके पास किसी और बैंक के क्रेडिट डेबिट कार्ड हैं तो स्टेटबैंक की अनिवार्यता यह बताती है कि दूसरे बैंकों पर भरोसा ही नहीं रह गया। यह दूसरे बैंकों की साख पर सवाल खड़ा करती है।

Anoop Ojha

Anoop Ojha

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story