×

UPTET 2017: परीक्षा 15 अक्टूबर को, इन कारणों से रिजेक्ट हुए 32 हजार से अधिक फॉर्म

priyankajoshi
Updated on: 29 Sep 2017 1:20 PM GMT
UPTET 2017: परीक्षा 15 अक्टूबर को, इन कारणों से रिजेक्ट हुए 32 हजार से अधिक फॉर्म
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

लखनऊ : उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (UP-TET) 2017 के 32 हजार से अधिक आवेदन अलग-अलग कारणों से रिजेक्ट कर दिया है। प्राथमिक स्तर के 14,885 और उच्च प्राथमिक स्तर के 17,704 करीब 32,589 फार्म रिजेक्ट हुए है। सबसे अधिक 24 हजार फॉर्म एक से ज्यादा आवेदन होने के कारण रिजेक्ट हुए हैं।

प्राथमिक स्तर की टीईटी में 14,791 फार्म एक से अधिक आवेदन पर निरस्त किए गए हैं, जबकि उच्च प्राथमिक स्तर की टीईटी में 9,580 फार्म इसी आधार पर रिजेक्ट हुए हैं। प्राथमिक स्तर में 94 फार्म चार वर्षीय बीएलएड करने वाले उम्मीदवारों के रिजेक्ट हुए है, जिनके सामान्य वर्ग में 50% से कम और आरक्षित वर्ग में 45% से कम नंबर हैं।

इन वजहों से फॉर्म रिजेक्ट

उच्च प्राथमिक स्तर की टीईटी में बीएड (विशेष शिक्षा) करने वाले 5,343 ऐसे उम्मीदवारों के फॉर्म निरस्त हैं, जिन्हें अंडरग्रेजुएट (यूजी) या पोस्टग्रेजुएट (पीजी) में सामान्य वर्ग में 50% और आरक्षित वर्ग में 45% से कम नंबर मिले हैं। इसी तरह बीएड में सामान्य में 45 और आरक्षित वर्ग में 40 प्रतिशत से कम वाले 2,678 उम्मीदवारों के फॉर्म रिजेक्ट हुए हैं। अन्य वजहों से भी कुछ फार्म निरस्त हुए हैं।

मूल प्रमाणपत्र पर ही मिलेगा प्रवेश

15 अक्तूबर को प्रस्तावित टीईटी-2017 में परीक्षा केंद्र में उन्हीं उम्मीदवारों को परीक्षा केंद्र में प्रवेश मिलेगा, जिनका एडमिट कार्ड के साथ अपने ऑनलाइन आवेदन में अंकित फोटोयुक्त पहचान पत्र तथा प्रशिक्षण योग्यता के प्रमाणपत्र/ अंतिम निर्गत अंकपत्र की मूल प्रति लाएंगे। सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी डॉ. सुत्ता सिंह ने स्पष्ट किया है कि इन डॉक्यूमेंट्स के बिना उम्मीदवारों को परीक्षा केंद्र में प्रवेश की अनुमति प्रदान नहीं की जाएगी।

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story