20 प्रतिशत से अधिक मुस्लिम आबादी विकासखंडों में नियुक्त होंगे उर्दू शिक्षक

यूपी के सभी कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों में उर्दू शिक्षकों की तैनाती नहीं होगी। अब केवल उन्हीं स्कूलों को उर्दू शिक्षक या फिर शिक्षिका मिलेंगे, जिन विकासखंडों में मुस्लिम आबादी 20 प्रतिशत से ज्यादा है। केंद्र सरकार ने यूपी के 350 कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों में ही उर्दू शिक्षक नियुक्ति की स्वीकृति दी है।

इलाहाबाद : यूपी के सभी कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों में उर्दू शिक्षकों की तैनाती नहीं होगी। अब केवल उन्हीं स्कूलों को उर्दू शिक्षक या  शिक्षिका मिलेंगे, जिन विकासखंडों में मुस्लिम आबादी 20 प्रतिशत से ज्यादा है। केंद्र सरकार ने यूपी के 350 कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों में ही उर्दू शिक्षक नियुक्ति की स्वीकृति दी है।

 बीएसए को भेजी सभी स्कूलों की लिस्ट
मंत्रालय ने यह अनुमति इस प्रतिबंध के साथ दी है कि यदि जरूरत हो तो उर्दू शिक्षकों की तैनाती उन्हीं विद्यालयों में की जाए, जिन विकासखंडों में 20 प्रतिशत से अधिक मुस्लिम आबादी है। अपर निदेशक ने बीएसए को सभी स्कूलों की लिस्ट भेज दी है। उसी के अनुरूप अब शिक्षकों की नियुक्ति होगी।

सर्व शिक्षा अभियान की अपर परियोजना निदेशक ने दिया निर्देश
सर्व शिक्षा अभियान की अपर परियोजना निदेशक राजकुमारी वर्मा ने बीते 31 मार्च को बेसिक शिक्षा अधिकारियों को पत्र भेजकर निर्देश दिया था कि सभी कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों में नवीन उर्दू शिक्षक या फिर शिक्षिका की नियुक्ति न की जाए। अब अपर निदेशक ने बीएसए को अवगत कराया है कि भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने बीते 27 मार्च को बैठक करके यूपी के 350 कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों में उर्दू शिक्षक नियुक्त करने का प्रावधान किया है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App