×

उत्तराखंड में IIT की फ्री कोचिंग के लिए भी शुरू हुआ SUPER-30

उत्तराखंड भर में 30 मेधावी छात्र-छात्राओं को आईआईटी जैसे संस्थानों में एडमिशन के लिए नि:शुल्क तैयारी करवाने के लिए राज्य सरकार की ओर से सुपर 30 योजना शुरू की गई है। राज्य मंत्री उच्च शिक्षा डॉ. धनसिंह रावत ने हिमालयन यूनिवर्सिटी जौलीग्रांट में आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री त्रिवेंद सिंह रावत की उपस्थिति में राज्य सरकार के महत्वपूर्ण निर्णयों से अवगत कराया। 

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 9 July 2017 8:27 AM GMT

उत्तराखंड में IIT की फ्री कोचिंग के लिए भी शुरू हुआ SUPER-30
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली : उत्तराखंड भर में 30 मेधावी छात्र-छात्राओं को आईआईटी जैसे संस्थानों में एडमिशन के लिए नि:शुल्क तैयारी करवाने के लिए राज्य सरकार की ओर से सुपर 30 योजना शुरू की गई है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद सिंह रावत की उपस्थिति में राज्य मंत्री उच्च शिक्षा डॉ. धनसिंह रावत ने हिमालयन यूनिवर्सिटी जौलीग्रांट में आयोजित एक कार्यक्रम में राज्य सरकार के महत्वपूर्ण निर्णयों से अवगत कराया।

धनसिंह रावत ने कहा कि इसके साथ ही राज्य के प्रत्येक जिले में एक महाविद्यालय चुना जाएगा। जहां सिविल सेवा जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं के इच्छुक छात्रों को कोचिंग राज्य सरकार द्वारा उपलब्ध करवाई जाएगी।

आगे की स्लाइड्स में पढ़े पूरी खबर...

क्या कहा सीएम ने?

मुख्यमंत्री (सीएम) ने कार्यक्रम में मेधावी छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया। सीएम युवाओं से कहा कि जिस प्रकार हमारी परंपरा में पित्रों के ऋण को चुकाने की बात है, उसी प्रकार शिक्षित तथा सफल होने के बाद हमें गुरजनों तथा शिक्षा का ऋण समाज के अन्य अशिक्षित लोगों को शिक्षित कर चुकाना चाहिए। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड नवासी प्रतिशत साक्षर राज्य है, लेकिन आज भी 11 प्रतिशत लोग अशिक्षित है। इसलिए मेधावी छात्रों को इस दिशा में योगदान देना होगा।

मिलेगी आर्थिक मदद

राज्य सरकार ने यह भी फैसला लिया गया है, कि हर साल 100 मेधावी पोस्टग्रेजुएट छात्रों को पीएचडी के लिए चुना जाएगा तथा उन्हें आथिक सहायता की जाएगी। उन्होंने यह भी बताया कि सभी महाविद्यालयों में तिरंगा फहराना, राष्ट्रगीत तथा राष्ट्रगान लागू कर दिया गया हैं और 33 महाविद्यालयों ने प्रसन्नता से ड्रेस कोड को अपना लिया है। इसके अलावा, हर कॉलेज में शौर्य दीवार का निर्माण किया जाएगा जिससे छात्र अपने वीर जवानों से परिचित हों तथा प्रेरणा लें।

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story