Top

बॉलीवुड पर बोले नवाजुद्दीन: इस दिग्गज से हुए प्रभावित, बोले बहुत कुछ करना बाकी है

नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया कि उन्हें बांग्ला फिल्मों के एक्टर सौमित्र चटर्जी को देखकर एहसास होता है कि अभी उन्हें बहुत कुछ करना बाकी है। 

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 18 Nov 2020 1:40 PM GMT

बॉलीवुड पर बोले नवाजुद्दीन: इस दिग्गज से हुए प्रभावित, बोले बहुत कुछ करना बाकी है
X
बॉलीवुड पर बोले नवाजुद्दीन: इस दिग्गज से हुए प्रभावित, बोले बहुत कुछ करना बाकी है
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: बॉलीवुड में अपने टैलेंट के दम पर पहचान बनाने वाले एक्टर नवाजुद्दीन सिद्दीकी आज लाखों दिलों पर राज करते हैं। नवाजुद्दीन अभिनय और बॉलीवुड के बारे में अपनी अलग राय रखते हैं। एक्टिंग के दम पर इंडस्ट्री में पहचान बनाने वाले नवाज दूसरों के काम की भी काफी कदर करते हैं और ये एक बार फिर उन्होंने साबित कर दिया है। दरअसल, उन्होंने हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान बांग्ला फिल्मों के एक्टर सौमित्र चटर्जी की जमकर तारीफ की।

नवाजुद्दीन ने की सौमित्र चटर्जी की जमकर तारीफ

हाल ही में उन्होंने एक इंटरव्यू में बॉलीवुड के बारे में दिल खोलकर बातें की और इस दौरान वाज ने सौमित्र चटर्जी की खुलकर तारीफ भी की। उन्होंने इस दौरान बताया कि उन्हें बांग्ला फिल्मों के एक्टर सौमित्र चटर्जी को देखकर एहसास होता है कि अभी उन्हें बहुत कुछ करना बाकी है। लॉकडाउन के समय नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने कुछ रीजनल फिल्में देखी हैं। इसे देखने के बाद उनको रीजनल टैलेंट के बारे में पता चला। नवाजुद्दीन मानते हैं कि कॉमर्शियल सिनेमा से जुड़े भ्रम की वजह से बुरा प्रभाव पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें: डेंगू-कोरोना का अलर्ट: DM अयोध्या हुये सावधान, चिकित्सकों साथ की बैठक

Nawazuddin Siddiqui (फोटो- इंस्टाग्राम)

कम शब्दों में बहुत कुछ बोल जाते थे चटर्जी

उन्होंने बताया की सौमित्र चटर्जी कुछ ऐसा करते थे कि बेहद कम शब्दों में ही वो बहुत कुछ बोल जाते थे। सौमित्र चटर्जी की फिल्में देख कर मुझे इस बात का एहसास हो गया की मुझे अभी बहुत कुछ सीखना और बहुत कुछ करना बाकी है। इंटरव्यू में नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने बताया कि उन्होंने लॉकडाउन के समय कई रीजनल और इंटरनेशनल फिल्में देखीं। इन फिल्मों को देखकर उनको विनम्रता का अनुभव हुआ।

यह भी पढ़ें: सेना पर गिरे बम: धमाके से हिल उठा कश्मीर, आतंकी हरकतों से खौला खून

हिंदी सिनेमा के टैलेंट को कॉमर्शियल सिनेमा का झूठ खत्म कर रहा

आगे नवाजुद्दीन ने कहा कि उन्हें लगता है कि हिंदी सिनेमा में ही सूरज निकलता है और वहीं डूब जाता है। बंगाल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और असम में भी बहुत टैलेंट है। उन्होंने कहा कि हिंदी सिनेमा के टैलेंट को कॉमर्शियल सिनेमा का झूठ खत्म कर रहा है।

सौमित्र चटर्जी और कमल हासन जब कोई भूमिका निभाते हैं तो खुद को भूल जाते हैं। मैं भी ऐसा अभिनय करना चाहता हूँ, ऐसी भूमिका हासिल करना चाहता हूं। नवाजुद्दीन सिद्दीकी का मानना है कि बॉलीवुड में ज्यादा तारीफों से टैलेंट को खत्म कर दिया जाता है। जितनी जल्दी उठते हैं उतनी ही तेजी से गिरा भी देते है।

यह भी पढ़ें: सबसे सुंदर पुरुष: इन्हें मिला सेक्सिएस्ट मैन का खिताब, एक्टर ने जताई खुशी

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें

Shreya

Shreya

Next Story