Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

Parveen Babi A Life: इन पर लिखी किताब, पत्रकार करिश्मा ने खोले कई राज़

लेखक करिश्मा उपाध्याय ने मशहूर अभिनेत्री परवीन बाबी पर एक किताब लिखी हैं जिसका नाम उन्होंने दिया परवीन बाबी ए लाइफ। ये बुक लेट स्टार के बारे में वो तमाम बाते बताती हैं जो भी उन्होंने ने अभी ज़िन्दगी में जिया या उनके साथ जो भी कुछ हुआ।

Monika

MonikaBy Monika

Published on 12 Sep 2020 11:16 AM GMT

Parveen Babi A Life: इन पर लिखी किताब, पत्रकार करिश्मा ने खोले कई राज़
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

हिंदी सनेमा में आज भी उन एक्टर को याद किया जाता हैं , जो अब हमारे बीच किसी करण नहीं रहे। ऐसी ही एक अदाकारा थी परवीन बाबी जिनकों लोग आज भी उनकी एक्टिंग और उनके ग्लैमरस अंदाज़ की वजह से याद किया करते हैं।

उस वक़्त की ग्लैमरस एक्ट्रेस

वह उस समय भारतीय सिल्वर स्क्रीन पर चकाचौंध भरी दुनिया में छाई हई थी। ग्लैमरस, हॉट और एक सफल अभिनेत्री होने के साथ, उनका निजी जीवन भी उनके काम की तरह ही खबरों में था। वह अपने कंट्रोवर्सी और अफेयर्स के लिए जानी जाती थीं। बाद में, उनके स्वास्थ्य के मुद्दे सुर्खियों में हावी होने लगे।

karishma Upadhyay

ये भी पढ़ें:कांग्रेस में नया पद: बागी नेता बने ‘चिट्ठी लेखक’, संगठन से हुए बाहर

परवीन बाबी की ज़िन्दगी पर किताब

आपको बता दें, लेखक करिश्मा उपाध्याय ने मशहूर अभिनेत्री परवीन बाबी पर एक किताब लिखी हैं जिसका नाम उन्होंने दिया परवीन बाबी ए लाइफ। ये बुक लेट स्टार के बारे में वो तमाम बाते बताती हैं जो भी उन्होंने ने अभी ज़िन्दगी में जिया या उनके साथ जो भी कुछ हुआ। एक मीडिया से बात चीत के दौरान, करिश्मा परवीन के उनके जीवन में ऊँचाइयों और चढ़ाव के बारे में बात की , उसकी रीगल पृष्ठभूमि, एक शर्मीली और महत्वाकांक्षी लड़की से फेमस स्टार तक का सफ़र, जीवन के लिए उसका परिवर्तन और बहुत कुछ... करिश्मा उपाध्याय का कहना हैं कि उनकी इस पुस्तक में अभिनेत्री के जन्म से मृत्यु तक सारी बाते कवर की गयी है।

karishma upadhyay book

बचपन से जवानी तक

जबकि रिश्ते उसके जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा थे, लेकिन उसके जीवन में बहुत कुछ है। उसके परिवार के बारे में जानकारी, वह छात्र के रूप में क्या थी, आदि..। जिन चीजों का मैंने निर्देशकों से बात की थी, उनमें से एक थी उनकी फोटोग्राफिक मेमोरी।

ये भी पढ़ें:कांग्रेस का ‘नागपुर’ है गांधी-नेहरू परिवार, बहुत गहरी है परिवार मोह की जड़ें

दूध और अंडे पर जीवित

पुस्तक का एक बड़ा हिस्सा उसके मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों पर भी बात करता है। उसके टूटने के बारे में बहुत कुछ है और वह कैसा था, उसके आसपास के लोगों ने क्या देखा। जब उन्होंने फिल्म छोड़ दिया तब भी उसके परिवार को नहीं पता था, कि वह कहाँ गायब हो गई थी। तो उस बारे में भी जानकारी है। वह जिस समय वापस लौटी, उसके बारे में विवरण है कि वह कैसे ईसाई धर्म में परिवर्तित हुई। उसने क्या खाया, उसने कैसे सोचा था कि उसे जहर देने की इच्छा रखने वाले लोग थे और कैसे, अपने जीवन के अंत में, वह दूध और अंडे के आहार में बच गई।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Monika

Monika

Next Story