×

आप नहीं जानते होंगे लता मंगेशकर के बारे में ये दिलचस्प बातें

लता मंगेशकर का जन्म 28 सितंबर 1929 को इंदौर में हुआ था। उनके पंडित दीनानाथ मंगेशकर एक क्लासिकल सिंगर और थिएटर आर्टिस्ट थे। लता अपनी तीन बहनों मीना, आशा, उषा और भाई हृदयनाथ में सबसे बड़ी हैं।

Dharmendra kumar
Published on: 11 Nov 2019 12:25 PM GMT
आप नहीं जानते होंगे लता मंगेशकर के बारे में ये दिलचस्प बातें
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

मुंबई: लता मंगेशकर का जन्म 28 सितंबर 1929 को इंदौर में हुआ था। उनके पंडित दीनानाथ मंगेशकर एक क्लासिकल सिंगर और थिएटर आर्टिस्ट थे। लता अपनी तीन बहनों मीना, आशा, उषा और भाई हृदयनाथ में सबसे बड़ी हैं।

लता मंगेशकर का जन्म के वक्त नाम 'हेमा' रखा गया था, हालांकि कुछ साल बाद अपने थिएटर के एक पात्र 'लतिका' के नाम पर, दीनानाथ ने उनका नाम 'लता' रखा।

पांच साल की उम्र से ही लता मंगेशकर अपने पिता से संगीत की शिक्षा लेनी शुरू कर दी थी और थिएटर में एक्टिंग किया करती थीं। जब वो स्कूल गयीं तो वहां के बच्चों को संगीत सिखाने लगीं। लता मंगेशकर को अपनी बहन आशा को स्कूल लाने से मना किया गया तो उन्होंने स्कूल जाना छोड़ दिया।

यह भी पढ़ें...स्वर कोकिला लता मंगेशकर की हालत गंभीर, डॉक्टरों ने रखा वेंटिलेटर पर

साल 1942 में जब लता मंगेशकर सिर्फ 13 साल की थीं तो उनके पिता का निधन हो गया। इसके बाद पूरे परिवार की देखभाल करने के लिए लता निकल पड़ीं। उन्होंने मराठी फिल्म 'पहली मंगला गौर' में एक्टिंग की।

साल 1945 में लता मंगेशकर अपने भाई बहनों के साथ मुंबई आ गयीं और उन्होंने उस्ताद अमानत अली खान से क्लासिकल गायन की शिक्षा ली। फिर साल 1946 में उन्होंने हिंदी फिल्म 'आपकी सेवा में' में 'पा लागूं कर जोरी' गीत गाया।

प्रोड्यूसर सशधर मुखर्जी ने लता मंगेशकर की आवाज को 'पतली आवाज' कहकर अपनी फिल्म 'शहीद' में गाने से इंकार कर दिया था। इसके बाद म्यूजिक डायरेक्टर गुलाम हैदर ने लता मंगेशकर को फिल्म 'मजबूर' में 'दिल मेरा तोड़ा, कहीं का ना छोड़ा' गीत गाने को कहा को काफी सराहा गया। लता मंगेशकर ने एक इंटरव्यू में गुलाम हैदर को अपना 'गॉडफादर' कहा था।

यह भी पढ़ें...लाल सिंह चड्ढा: करीना के बाद अब आमिर खान का लुक हुआ Leak

लता मंगेशकर ने 1942 से अब तक, लगभग 7 दशकों में, 1000 से भी ज्यादा हिंदी फिल्मों और 36 से भी ज्यादा भाषाओं में गाना गाये हैं।

लता मंगेशकर को साल 2001 में 'भारत रत्न' से सम्मानित किया गया। लता मंगेशकर को पद्म भूषण (1969) ,पद्म दादा साहब फाल्के अवार्ड (1989) और पद्म विभूषण(1999) से भी सम्मानित किया जा चुका है।

गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में 1974 से 1991 तक लता मंगेशकर का नाम दुनिया की सबसे ज्यादा गाने गाने वालीं गायक के तौर पर दर्ज है। कहा जाता है कि उन्होंने 1948 से 1974 तक करीब 25,000 एकल, युगल और कोरस के साथ गाने गाए थे। ये गाने 20 अलग-अलग भाषाओं में गाए गए थे।

यह भी पढ़ें...मौलाना अबुल कलाम आजाद और राष्ट्रीय शिक्षा दिवस, जानें क्या है दोनों में रिश्ता

1991 में यह कैटिगरी हटा दी गई थी, लेकिन 2011 में वापस इंट्रोड्यूज की गई थी। हालांकि 2011 में ही गिनीज ने आधिकारिक तौर पर सूचित किया गया था कि लता की बहन आशा भोसले संगीत के इतिहास में सबसे ज्यादा गाने गाने वालीं आर्टिस्ट हैं।

लता पर अपने सुनहरे काल के दौरान इंडस्ट्री में एकाधिकार स्थापित करने के भी कई आरोप लगे। कहा जाता है कि उन्होंने अपनी प्रसिद्धी के दौरान हिंदी और मराठी भाषी किसी और गायिका को आगे नहीं बढ़ने दिया।

उस समय लता मंगेश्कर का शादीशुदा सिंगर भूपेन हजारिका के साथ अफेयर की भी चर्चा भी जोरों पर रही। हजारिका की मौत की पहली बरसी पर उनकी पत्नी प्रियम ने यह कहा था कि उनके पति और लता मंगेशकर के बीच प्रेम संबंध थे। फिलहाल कनाडा में प्रियम रहत रही हैं।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story