Top

तांडव को लेकर मचा बवाल, सैफ अली खान समेत 96 पर कोर्ट में परिवाद दर्ज

दायर परिवाद के अनुसार, इस वेब सीरीज में भगवान श्री राम और भगवान शंकर को लेकर जिस तरीके का चित्रण किया गया है, वो हिंदू भावनाओं को भड़काने वाला है। जिससे समाज में जातीय उन्माद और विद्वेष पैदा होगा।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 19 Jan 2021 3:01 AM GMT

तांडव को लेकर मचा बवाल, सैफ अली खान समेत 96 पर कोर्ट में परिवाद दर्ज
X
तांडव को लेकर मचा बवाल, सैफ अली खान समेत 96 पर कोर्ट में परिवाद दर्ज (PC: social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुजफ्फरपुर: ऑनलाइन (OTT प्लेटफॉर्म) अमेजन प्राइम वीडियो पर रिलीज हुआ हिंदी वेब सीरीज 'तांडव' को लेकर हर तरफ तहलका मचा हुआ है। इस सीरीज को लेकर फिल्म स्टार सैफ अली खान, डिंपल कपाड़िया, सुनील ग्रोवर, कृतिका कमरा, कृतिका अवस्थी जैसे स्टार की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। बिहार के मुजफ्फरपुर के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में तांडव को लेकर इन स्टार्टस के उपर मुकदमा दर्ज कराया गया है। मुजफ्फरपुर के अधिवक्ता सुधीर कुमार ओझा ने 32 नामजद समेत 96 फिल्मी स्टार्स पर सीजेएम की कोर्ट में परिवाद दायर कराया है। परिवाद संख्या 173/2021 में दर्ज मुकदमे में अधिवक्ता ओझा ने आरोप लगाया है कि तांडव के फिल्मांकन में इन लोगों ने हिंदू धर्म की भावनाओं को ठेस पहुंचाया है।

ये भी पढ़ें:सर्दियों में हेल्थ के लिए रामबाण है ये हलवा , नहीं आता बनाना तो यहां सीखें

जात-पात को लेकर हमला किया गया है

दायर परिवाद के अनुसार, इस वेब सीरीज में भगवान श्री राम और भगवान शंकर को लेकर जिस तरीके का चित्रण किया गया है, वो हिंदू भावनाओं को भड़काने वाला है। जिससे समाज में जातीय उन्माद और विद्वेष पैदा होगा। परिवादी अधिवक्ता ने मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी से मांग की है कि इन्हें समन जारी कर हाजिर कराया जाए और विधिवत सुनवाई कर सजा सुनाई जाए। जिस पर सुधीर कुमार ओझा का आरोप है कि हिन्दू देवी-देवताओं को अपमानित करने के उद्देश्य से यह फ़िल्म बनाई गई है। इसमें जात-पात को लेकर हमला किया गया है।

ये भी पढ़ें:जम्मू कश्मीरः LOC पर PAK ने तोड़ा सीजफायर, बारामुला के रामपुर सेक्टर में दागे मोर्टार

आपको बता दें कि ये मुकदमा भारतीय दंड विधान की धारा 295 क, 298, 504, 153, 153 क और 120बी के अंदर दर्ज कराया गया है। इस मुकदमे की सुनवाई 23 जनवरी की गयी है। अधिवक्ता सुधीर कुमार ओझा ने कहा है कि उन्होंने ये वेब सीरीज देखी। वो हिन्दू हैं और इसमें उनकी आस्था के साथ खिलवाड़ देखना उन्हें कतई स्वीकार नहीं है।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story