इस मैगजीन की ‘नेक्सट जनरेशन लीडर्स 2019’ की सूची में भारतीय यूट्यूबर ‘कैरीमिनाटी’

कैरीमिनाटी’ के नाम से मशहूर भारतीय यूट्यूबर अजय नागर ने टाइम मैगजीन की ‘नेक्सट जेनरेशन लीडर्स 2019’ सूची में जगह बना ली है।

इस मैगजीन की ‘नेक्सट जनरेशन लीडर्स 2019’ की सूची में भारतीय यूट्यूबर ‘कैरीमिनाटी’

न्यूयॉर्क: ‘कैरीमिनाटी’ के नाम से मशहूर भारतीय यूट्यूबर अजय नागर ने टाइम मैगजीन की ‘नेक्सट जेनरेशन लीडर्स 2019’ सूची में जगह बना ली है। इस सूची में दुनियाभर के केवल 10 युवाओं को शामिल किया गया है जो राजनीति, संगीत और अन्य क्षेत्रों में नए मार्ग प्रशस्त कर रहे हैं। टाइम की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार 19 वर्षीय नागर के यूट्यूब चैनल के करीब 70 लाख सब्सक्राइबर हैं।

यह भी पढ़ें…..भ्रष्ट बाबूओं के खिलाफ मुकदमा चलाने पर अंतिम निर्णय डीओपीटी लेगा

टाइम ने कहा, ‘‘ भारत में यूट्यूब के बड़े प्रशंसक हैं। 26.5 करोड़ मासिक यूजर्स के साथ भारत ने 2018 में अमेरिका को पीछे छोड़ दिया था। भारत में सबसे ज्यादा यूट्यूब देखने वाले हैं। अपनी ऊर्जावान प्रस्तुति और हिंदी शब्दों को बेहतरीन एवं अलग अंदाज में पेश करने के चलते नागर भारत में सबसे अधिक पसंद किए जाने वाले यूट्यूबर में से एक हैं।’’

अमेरिकी प्रकाशन ने नागर पर कहा कि उन्होंने अपना पहला वीडियो 10 साल की उम्र में डाला था और 2016 में अपने ‘डिस्क ट्रैक’ (दूसरों पर निशाना साधते हुए रैप करना) के जरिए लोकप्रियता प्राप्त की।

नागर को जनवरी में उस समय खासी लोकप्रियता मिली, जब उन्होंने ‘पीयूडीपाई’ के नाम से मशहूर स्वीडन के यूट्यूबर फेलिक्स कजेलबर्ग के खिलाफ अपना ‘डिस्क ट्रैक’ जारी किया। यह काफी वायरल हुआ था।

यह भी पढ़ें…..जैसे जैसे ‘गालियों की डोज़’ बढ़ रही, वैसे वैसे जनता के ‘प्यार की डोज़’ भी बढ़ रही: मोदी

अपनी फिल्म ‘मिशन: इम्पॉसिब फॉलआउट’ का प्रचार करने भारत की यात्रा पर गए टॉम क्रूज और हेनरी कैविल का साक्षात्कार भी नागर ने लिया था और उनका मानना है कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लोकप्रियता के लिए उन्हें अंग्रेजी में अपना कार्यक्रम पेश करने की जरूरत नहीं है।

उनका मानना है कि उनकी लोकप्रियता उनकी जड़ों से जुड़े रहने की क्षमता में निहित है और उनमें पश्चिमी लोगों के लिए खुद में बदलाव लाने की कोई इच्छा नहीं रखते।

नागर ने ‘टाइम’ से कहा, ‘‘ मैं यह संदेश देना चाहता हूं कि आप जो हैं बस वही रहें।’’

उन्होंने कहा कि अगर आप किसी और की तरह बनना चाहेंगे, तो लोग आपको नहीं अपनाएंगे।