Top

कंगना की बड़ी जीत: हाईकोर्ट का आ गया फैसला, BMC को हर्जाना देने का आदेश

कंगना रनौत के ऑफिस में तोड़फोड़ के मामले में आज हाईकोर्ट ने सुनवाई करते हुए BMC की कार्रवाई को गलत ठहराया है। साथ ही बीएमसी के नोटिस को भी खारिज कर दिया है।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 27 Nov 2020 6:46 AM GMT

कंगना की बड़ी जीत: हाईकोर्ट का आ गया फैसला, BMC को हर्जाना देने का आदेश
X
कंगना की बड़ी जीत: हाईकोर्ट का आ गया फैसला, BMC को हर्जाना देने का आदेश
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुंबई: बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के ऑफिस में तोड़फोड़ के मामले में आज शुक्रवार को बॉम्बे हाई कोर्ट (High Court of Bombay) ने सुनवाई की। इस दौरान कोर्ट ने एक्ट्रेस के ऑफिस पर की गई बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) की कार्रवाई को गलत ठहराया है। हाई कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि BMC की यह कार्रवाई याचिकाकर्ता को कानूनी मदद लेने से रोकने की कोशिश थी। इसके साथ ही अदालत ने अवैध निर्माण के खिलाफ जारी किए गए बीएमसी के नोटिस को भी खारिज कर दिया है।

9 सितंबर को बीएमसी ने की थी यह कार्रवाई

बता दें कि कंगना ने अपने मुंबई वाले ऑफिस में BMC द्वारा की गई तोड़फोड़ के खिलाफ हाई कोर्ट में याचिका दायर किया था। इसी मामले पर शुक्रवार को जस्टिस एसजे कैथावाला और आरआई छागला की बेंच ने फैसला सुनाया है। कंगना ने अपनी याचिका में बीएमसी से दो करोड़ रुपये का हर्जाना भी मांगा है। बता दें कि 9 सितंबर को बीएमसी ने कंगना के पाली हिल स्थित बंगले में बने ऑफिस के कई हिस्सों को अवैध बताते हुए तोड़ दिया था। जिसके बाद से ही कंगना महाराष्ट्र सरकार पर हमलावर हैं।

यह भी पढ़ें: Birthday Special: डिस्को के जन्मदाता हैं बप्‍पी लहिरी, कुछ ऐसी है उनकी कहानी

KANGANA RANAUT फोटो- सोशल मीडिया

ऑफिस का 40 फीसदी हिस्सा किया गया ध्वस्त

9 सितंबर को BMC द्वारा कंगना के ऑफिस में तोड़फोड़ की गई थी। हालांकि बाद में कोर्ट ने BMC की कार्रवाई पर तत्काल रोक लगा दी थी और यथास्थिति बनाए रखने का आदेश दिया था। लेकिन कंगना ने कार्रवाई को गैरकानूनी बताते हुए हाई कोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया था, साथ ही साजो सामान को नुकसान पहुंचाने के लिए BMC से इसका मुआवजा मांगा था। कंगना के वकील का दावा है कोर्ट के स्टे लगाने तक ऑफिस का 40 फीसदी हिस्सा ध्वस्त कर दिया गया था। इसमें झूमर, दुर्लभ कलाकृतियों समेत कई कीमती संपत्तियां शामिल हैं।

हाईकोर्ट ने कही ये बात

आज मामले में सुनवाई के दौरान हाई कोर्ट ने कहा कि मामले को देखकर ऐसा लगता है कि एक्ट्रेस के ऑफिस पर तोड़फोड़ की कार्रवाई उनके सोशल मीडिया पर किए गए कमेंट्स को लेकर उन्हें निशाना बनाने के मकसद से की गई है। इसके साथ ही हाईकोर्ट ने नुकसान का आंकलन करने के लिए एक ऑफिसर नियुक्त किया है।

यह भी पढ़ें: मेल कराती मधुशालाः कालजयी हरिवंश राय बच्चन, महान महाकाव्य

कंगना ने फैसले पर कही ये बात

वहीं हाईकोर्ट के फैसले के बाद कंगना ने अपने सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए लिखा है कि यह पूरे लोकतंत्र की जीत है। उन्होंने लिखा कि जब कोई व्यक्ति सरकार के खिलाफ खड़ा होता है और जीतता है, तो यह व्यक्ति की जीत नहीं है, बल्कि यह लोकतंत्र की जीत होती है। आप सभी को धन्यवाद जिन्होंने मुझे हिम्मत दी और उन लोगों को धन्यवाद जो मेरे सपनों के टूटने पर हंसे थे। यह सब इसलिए हुआ, क्योंकि आप विलेन की तरह काम कर रहे थे और मैं हीरो बन गई।



यह भी पढ़ें: जन्मदिन विशेष: अनिल धवन का UP से है खास नाता, जानिए उनसे जुड़ी बातें

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story