Top

बॉलीवुड की ये अदाकार: एक्टिंग से मचाया था तहलका, ऐसा रहा इनका फिल्मी करियर

बॉलीवुड की टॉप एक्ट्रेस रही माला सिन्हा का आज बर्थडे है। माला ने अपनी मेहनत के बदौलत इंडस्ट्री में अलग पहचान बनाई और मधुबाला, नरगिस जैसी अभिनेत्रियों के दौर में टॉप एक्ट्रेसेस में शामिल हो गईं।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 11 Nov 2020 5:37 AM GMT

बॉलीवुड की ये अदाकार: एक्टिंग से मचाया था तहलका, ऐसा रहा इनका फिल्मी करियर
X
बॉलीवुड की ये अदाकार: एक्टिंग से मचाया था तहलका, ऐसा रहा इनका फिल्मी करियर
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: 60 और 70 के दशक में सुपर हिट फिल्में देने वाली पूर्व अभिनेत्री माला सिन्हा का आज जन्मदिन है। माला सिन्हा का असली नाम आल्डा है। उनका जन्म 11 नवंबर 1936 को कोलकाता (तब कलकत्ता) में हुआ था। नेपाली परिवार में जन्मी माला सिन्हा के पिता का नाम अल्बर्ट सिन्हा था और वह नेपाली ईसाई थे।

इस नाम से चिढाते थे लोग

माला सिन्हा को स्कूली दिनों में सब लोग डालडा कहकर पुकारते थे। क्योंकि उनके बचपन का नाम आल्डा था। पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने कुछ दिन रेडियो में भी काम किया। माला एक बंगाली फिल्म के सिलसिले में मुंबई पहुंची थीं। यहीं पर उनकी मुलाकात निर्देशक केदार शर्मा से हुई। उन्होंने अपनी फिल्म रंगीन रातें में बतौर अभिनेत्री काम दिया।

यह भी पढ़ें: बिहार में BJP को मिला बड़ा टॉनिक, पार्टी की नजर अब पश्चिम बंगाल और असम पर

mala sinha (फोटो- सोशल मीडिया)

बंगाली और नेपाली भाषा में भी की कई फिल्में

उन्होंने हिंदी के अलावा बंगाली और नेपाली भाषा में भी कई फिल्में की हैं। 50, 60 और 70 के दशक में माला सिन्हा हिंदी सिनेमा की टॉप अभिनेत्रियों में से थीं। करीब चार दशकों तक उन्होंने फिल्मों में काम किया।

इन डायरेक्टर्स के साथ किया काम

माला सिन्हा को हर डायरेक्टर ने अपनी फिल्म में मौका दिया चाहे वह केदार शर्मा, बिमल राय, सोहराब मोदी, बी.आर. चोपड़ा, यश चोपड़ा, अरविंद सेन, रामानंद सागर, शक्ति सामंत, गुरुदत्त, विजय भट्ट, ऋषिकेश मुखर्जी, सुबोध मुखर्जी, सत्येन बोस ही क्यों न हों, सबने अपनी फिल्म में उन्हे बतौर नायिका कास्ट किया।

यह भी पढ़ें: बारिश लाएगी कहर: भयानक ठंड से कांप उठेंगे आप, अलर्ट हुआ जारी

मेहनत के बदौलत बनाई अपनी अलग पहचान

जिस दौर में वह बालीवुड में आई उस समय रुपहले पर्दे पर नरगिस, मीना कुमारी, मधुबाला और नूतन जैसी प्रतिभाएं अपने अभिनय से लोगों के दिलों पर छाई हुई थी। माला के लगभग साथ-साथ वैजयंती माला और वहीदा रहमान भी आ चुकी थी। इन सबके बीच अपनी पहचान बनाना बेहद चुनौतीपूर्ण काम था। यह माला सिन्हा के अभिनय का कमाल ही था कि वे उस दौर में भी कामयाब रहीं।

mala sinha acting career (फोटो- सोशल मीडिया)

फिल्म प्यासा के साथ अपने कैरियर का आगाज करने वाली माला सिन्हा ने धर्मेन्द्र राजेन्द्र कुमार, राजकपूर, राजकुमार, देवानन्द, शम्मी कपूर, सुनील दत्त, अमिताभ बच्चन और जितेन्द्र आदि अभिनेताओं के साथ काम किया।

यह भी पढ़ें: UP में प्रदूषण पर होगी सख्ती: इन हाटस्पाटों पर वाहनों का प्रवेश होगा प्रतिबंधित

इन फिल्मों में किया है काम

प्यासा के बाद, उनकी प्रमुख सफलताओं में फिर सुबह होगी (1958) और यश चोपड़ा के निर्देशन में बनी पहली फिल्म धूल का फूल, (1959) थी जिसने उन्हें एक लोकप्रिय सितारे में बदल दिया। उन्होंने 60 के दशक में परवरिश (1958), उजाला, मैं नशे में हूँ, दुनिया ना माने, लव मैरिज (1959), बेवकूफ (1960), माया (1961), हरियाली और रास्ता, दिल तेरा दीवाना (1962), अनपढ़ और बम्बई का चोर (1962) आदि कई सफल फिल्में दी।

mala sinha birthday (फोटो- सोशल मीडिया)

ऐसी है पर्सनल लाइफ

माला सिन्हा ने 1966 में नेपाली अभिनेता चिदंबर प्रसाद लोहानी से शादी की। जो कि व्यापार करते थें। अपनी शादी के बाद, वह फिल्मों के फिल्मांकन के लिए मुम्बई आती रहती थीं और उनके पति नेपाल में रहकर अपना व्यवसाय चलाते थे। उनकी एक बेटी प्रतिभा सिन्हा भी है जिन्होंने कुछ फिल्मों में अभिनय किया है।

रिपोर्ट- श्रीधर अग्निहोत्री

यह भी पढ़ें: प्रकृति प्रेमियों का है अलग धर्म–सरना, सरकार के इस फैसले के बाद मचा बवाल

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें

Shreya

Shreya

Next Story