Top

मुश्किलों में 'Mirzapur 2': निर्माताओं से हुई बड़ी चूक, आ गया ये नोटिस

लेखक सुरेंद्र मोहन पाठक ने वेब सीरीज 'मिर्जापुर 2' में उनके उपन्यास धब्बा के बारे में गलत दृश्य फिल्माये जाने का आरोप लगाया है। इसके लिए सीरीज के निर्माताओं को नोटिस भी भेज दिया है। 

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 29 Oct 2020 8:32 AM GMT

मुश्किलों में Mirzapur 2: निर्माताओं से हुई बड़ी चूक, आ गया ये नोटिस
X
जानेमाने लेखक एसएम पाठक ने मिर्जापुर 2 के निर्माताओं को नोटिस भेजा
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: लोगों के दिलों पर राज कर रही वेब सीरीज 'मिर्जापुर 2' (Web series Mirzapur 2) एक बार फिर से विवाद में घिर चुकी है। दरअसल, एक फेमस उपन्यास लेखक ने मिर्जापुर 2 में उनके उपन्यास धब्बा के बारे में गलत दृश्य फिल्माये जाने का आरोप लगाया है। इस संबंध में लेखक ने एक्टर-प्रोड्यूसर फरहान अख्तर और रितेश सिधवानी को नोटिस भी भेजा है। जी हां, जानेमाने लेखक सुरेंद्र मोहन पाठक (SM Pathak) ने सीरीज के थर्ड एपिसोड में एक सीन में उनके नोवेल का कॉन्टेक्सट देते हुए गलत फिल्मांकन करने की बात कही है।

क्या है लेखक एसएम पाठक का कहना?

लेखक सुरेंद्र मोहन पाठक ने नोटिस में लिखा है कि उन्हें उनके फैन्स और जानने वालों से पता चला है कि ओटीटी प्लेटफॉर्म अमेजन प्राइम वीडियो (Amazon prime video) पर हाल ही में रिलीज हुई वेब सीरीज मिर्जापुर 2 में उनके नोवेल धब्बा का एक सीन में जिक्र किया गया है। इस सीरीज के तीसरे एपिसोड में कुलभूषण खरभंदा द्वारा प्ले किया गया एक कैरेक्टर सत्यानंद त्रिपाठी उपन्यास धब्बा को पढ़ते हुए दिखाया गया है।

यह भी पढ़ें: बसपा में भूस्खलन: अब बागी विधायकों को याद आई मायावती, सुप्रीमों का कड़ा रूख

sm pathak (फोटो- सोशल मीडिया)

जिक्र किया गया चरित्र उपन्यास में है ही नहीं

सीन के दौरान सत्यानंद त्रिपाठी धब्बा का हवाला देते हुए बलदेवराज नाम के एक चरित्र की चर्चा करता है, जो कि उपन्यास में है ही नहीं। लेखक ने इस बात पर भी आपत्ति जताई कि वेब सीरीज के चरित्र सत्यानंद त्रिपाठी उपन्यास में जो भी पढ़ रहा है वो उपन्यास में है ही नहीं। कहा गया है कि निर्माताओं द्वारा दृश्य में बेहद आपत्तिजनक लाइनें डाली गई हैं। वेब सीरीज में ऐसा दिखाया गया है कि सत्यानंद त्रिपाठी नाम का यह पात्र जो भी पढ़ रहा है वो उपन्यास से ही पढ़ रहा है, जिससे राइटर की मानहानि हुई है।

यह भी पढ़ें: खिसक रही धरती: भीषण तबाही से कांपा देश, भूस्खलन ने लीं कई जानें

निर्माताओं और प्राइम वीडियो को भेजा गया नोटिस

अब उपन्यास के लेखक ने इस संबंध में कड़ा एक्शन लेते हुए सीरीज के निर्माताओं और वेब सीरीज को टेलीकास्ट करने वाले प्लेटफॉर्म अमेजन प्राइम वीडियो को नोटिस भेजा है। लेखक ने इस नोटिस में कहा है कि सीरीज में उनकी परमिशन के बिना उनके उपन्यास को दिखाया गया है। साथ ही दृश्य में सुनाई दे रहीं लाइनें इतनी बेकार हैं कि वह उसे लिखने के बारे में सोच भी नहीं सकते। उन्होंने कहा कि इस वजह से उनके पांच दशकों की साख पर बट्टा लगा है।

mirzapur 2 (फोटो- सोशल मीडिया)

बता दें कि लेखक ने साफ तौर पर कहा है कि संबंधित दृश्य को तुरंत सही कर लिया जाए, अगर ऐसा नहीं होता है तो फिर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। सुरेंद्र मोहन पाठक ने नोटिस के जवाब के लिए एक हफ्ते का समय दिया है।

यह भी पढ़ें: अंबानी, समेत दुनिया के टॉप 10 अमीरों को एक ही दिन में 34 अरब डॉलर का नुकसान

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story