फिल्में गईं स्ट्रीमिंग पर, थियेटर वाले परेशान

फिल्म निर्माताओं के फैसले से मल्टीप्लेक्स और थियेटर मालिक बेहद नाराज भी हैं। ‘आईनोक्स’ ने तो फिल्म निर्माताओं को सबक सिखाने की चेतावनी भी दे डाली है।

नीलमणि लाल

नई दिल्ली। भारतीय फिल्म थियेटर मालिक परेशान हैं क्योंकि थियेटर कब खुलेंगे, कोई नहीं बता सकता और ऐसे में फिल्म निर्माता स्ट्रीमिंग सर्विसेज का रास्ता अख़्तियार कर रहे हैं। अगर ये कहीं स्थाई रास्ता हो गया तो थियेटरों का धंधा बंद होना तय है। फिल्म निर्माताओं के फैसले से मल्टीप्लेक्स और थियेटर मालिक बेहद नाराज भी हैं। ‘आईनोक्स’ ने तो फिल्म निर्माताओं को सबक सिखाने की चेतावनी भी दे डाली है।

सात फिल्मों के ऑनलाइन प्रीमियर अमेज़न प्राइम पर होंगे रिलीज

अमेज़न प्राइम वीडियो ने सात फिल्मों के ऑनलाइन प्रीमियर रिलीज का फैसला किया है, ये सभी पहले थियेटर में रिलीज होने एथीन लेकिन कोरोना ने खेल बिगाड़ दिया। प्राइम पर आने वाली फिल्मों में शूजित सरकार की गुलाबो सिताबों, विद्या बालन की शकुंतला देवी, पताललोक शामिल हैं। इनमें पाताल लोक का तो प्रीमियर हो भी गया है। चूंकि कोरोना से पूरी दुनिया तबाह है, तो फिल्मों को सभी जगह स्ट्रीमिंग सेवाओं पर ही लाया जा रहा है।

कोरोना के चलते फिल्मों की स्ट्रीमिंग

अमेरिका में तो एक थियेटर चेन ने खुद ही स्ट्रीमिंग करने का फैसला ले लिया है। जबकि अमेरिका के नेशनल असोशिएशन ऑफ थिएटर्स ओनर्स और एएमसी थिएटर्स ने फिल्म निर्माता कंपनी यूनिवरसल की फिल्में न दिखने का फैसला किया है। असला में यूनिवरसल ने थिएटर्स के विरोध के बावजूद अपने नई मूवी ‘ट्रोल्ल्स वर्ल्ड टूर’ को स्ट्रीमिंग सेवा पर रिलीज कर दिया था।

ये भी पढ़ेंः 6 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के जरिए 7500 श्रमिकों को जिले में लाया गया

अमेज़न पर फिल्मों के रिलीज पर सख्त विरोध भी

भारत में तमिलनाडू थियेटर एंड मल्टीप्लेक्स असोशिएशन ने एक्टर ज्योतिका की फिल्म अमेज़न पर रिलीज करने का सख्त विरोध किया है।

निर्माताओं के फैसले से मल्टीप्लेक्स और थियेटर मालिक नाराज

सिनेमाघरों के मालिकों की नाराजगी से इत्तेफाक रखते हुए निर्माताओं के बचाव में खुद उनकी यूनियन ‘द प्रोड्यूसर गिल्ड ऑफ इंडिया’ मैदान में उतर आई है। सिनेमाघरों के मालिकों की नाराजगी पर गिल्ड ने कहा है कि उनके लिए यह बात बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है कि उनके सहयोगियों से उन्हें नाराजगी भरे संदेश मिल रहे हैं।

ये भी पढ़ेंः पाकितान की थू-थू: भारत ने ऐसे बिगड़ा हाल, तिलमिला उठे इमरान

गिल्ड ने अपनी कमियां गिनाते हुए सिनेमाघरों के मालिकों से कहा है कि यह एक ऐसा समय है जब रुकी हुई फिल्म के निर्माता और पूरी हो चुकी फिल्मों के निर्माताओं को प्रतिदिन के हिसाब से करोड़ों रुपये का नुकसान सहन करना पड़ रहा है। लॉकडाउन की वजह से पता नहीं कि फिल्मों की शूटिंग दोबारा कब शुरू होगी? ऐसे में सबको इंडस्ट्री का साथ देना चाहिए और सबके हितों का ख्याल रखना चाहिए।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।