‘सांड की आंख’ फर्स्ट लुक: तापसी और भूमि बनी दादी बोलीं, तन बूढ़ा होता है मन नहीं…

तापसी पन्नू और भूमि पेडनेकर की आने वाली फिल्म ‘सांड की आंख’ का पहला पोस्टर रिलीज हो गया है। बॉलिवुड ऐक्ट्रेस तापसी पन्नू ने अपनी अगली फिल्म से अपना लुक आखिरकार फैन्स को दिखा ही दिया है।

Published by Vidushi Mishra Published: April 16, 2019 | 12:18 pm
Modified: April 16, 2019 | 12:19 pm

मुम्बई: तापसी पन्नू और भूमि पेडनेकर की आने वाली फिल्म ‘सांड की आंख’ का पहला पोस्टर रिलीज हो गया है। जिसमें भूमि और तापसी का पहला लुक सामने आ गया है।

बॉलिवुड ऐक्ट्रेस तापसी पन्नू ने अपनी अगली फिल्म ‘सांड की आंख’ से अपना लुक आखिरकार फैन्स को दिखा ही दिया है। वैसे तो इससे पहले भी तापसी अपने लुक की कई तस्वीरें सोशल मीडिया पर पोस्ट कर चुकी हैं, लेकिन उन सभी तस्वीरों में उनका चेहरा नजर नहीं आ रहा, बल्कि तस्वीरें पीछे से ली गई हैं।

यह भी देखे:रणबीर सिंह का फूलवारी लुक- कॉमेंटस की भरमार

‘सांड की आंख’ फिल्म में तापसी पन्नू और भूमि पेडनेकर कुछ अलग अंदाज में दिखेंगी। इस फिल्म के पोस्टर पर एक डायलॉग भी लिखा है- ‘तन बूढ़ा होता है, मन बूढ़ा नहीं होता।’ इससे पहले भी दोनों ही एक्ट्रेस ने हरियाणवी भाषा में एक डायलॉग के साथ एक तस्वीर साझा की थी।

जिसमें वह गोबर के उपले को दीवार में चिपकाती हुई नजर आई थीं। चंद्रो और प्रकाशी की जोड़ी ‘इंडियाज गॉट टैलेंट’ पर भी आ चुकी हैं, और नेशनल लेवल पर कई मेडल भी जीत चुके हैं।

यह भी देखे:उत्तर प्रदेश : अगले 3 घंटो में आएगी धूल भरी अंधी

अब तापसी ने सोशल मीडिया पर इस फिल्म के दो पोस्टर एक साथ शेयर किए, जिसमें वे राजस्थानी लिबास पहने हाथों में बंदूक लिए नजर आ रही हैं। इस पोस्टर में तापसी अकेली नहीं, बल्कि उनके साथ एक जैसे रंग में रंगीं भूमि पेडनेकर भी नजर आ रही हैं।

दोनों दुनिया की सबसे बुजुर्ग शार्प शूटर्स चंद्रो तोमर (87) और उनकी ननद प्रकाशी तोमर (82) के किरदार में दिखाई दे रही हैं। एक पोस्टर में मिट्टी की ढेर पर बैठीं तापसी और भूमि के हाथों में रिवॉल्वर नजर आ रहा है वहीं दूसरे पोस्टर में दोनों खड़ी हैं और रिवॉल्वर तानी हुई नजर आ रही हैं।

तापसी ने पोस्टर शेयर करते हुए लिखा है, ‘इस दिवाली पटाखे नहीं गोलियां चलेंगी।’ यानी साफ है कि फिल्म दिवाली पर रिलीज हो रही है।

यह भी देखे:शशि थरूर का हाल जानने अस्पताल पहुंची रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन

यह फिल्म महिला शार्पशूटर्स प्राक्षी और चंद्रो की कहानी पर बेस्ड है। 87 साल की चंद्रो और 82 साल की प्राक्षी उत्तर प्रदेश के जोहरी गांव की रहने वाली हैं। उन्होंने 50 की उम्र में शार्पशूटिंग शुरू की थी। इस फिल्म से तुषार हीरचंदानी डायरेक्शन में डेब्यू कर रहे हैं।