कंगना-BMC केस पर बोले संजय राउत- बहुत देखे ऐसे केस, लेकिन इस बार…

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत और बीएमसी के बीच कार्यालय पर बुलडोजर चलाने को लेकर जारी विवाद में कोर्ट ने शिवसेना नेता संजय राउत को भी पक्षकार बनाया है।

Published by Shivani Awasthi Published: September 22, 2020 | 8:06 pm
sanjay raut statement on kangana ranaut-office-demolition-case-hearing

संजय राउत (file Photo)

मुंबई: बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत और बीएमसी के बीच कार्यालय पर बुलडोजर चलाने को लेकर जारी विवाद में कल बॉम्बे हाईकोर्ट में सुनवाई होनी है। इस केस में कोर्ट ने शिवसेना नेता संजय राउत को भी पक्षकार बनाया है। अब कोर्ट के इस फैसले पर सांसद संजय राउत ने अपनी प्रतिक्रिया दी। उन्होए कहा कि वह ऐसे केस का पहले भी सामना कर चुके है। लेकिन इस बार बात महाराष्ट्र के सम्मान को बनाये रखने की है।

बॉम्बे हाईकोर्ट में कंगना रणौत और BMC मामले की सुनवाई

दरअसल, कंगना और उद्धव सरकार के बीच के विवाद के दौरान बीएमसी ने एक्ट्रेस के मुंबई में स्थित मणिकर्णिका कार्यालय पर अवैध निर्माण की बात कहते हुए बुलडोजर चलवा दिया था। कार्यालय का 40 फीसदी हिस्सा इस दौरान तोड़ दिया गया। कंगना ने इस बाबत याचिका बॉम्बे हाई कोर्ट में डाली।

संजय राउत को भी केस में बनाया गया पार्टी

कोर्ट ने शिवसेना नेता संजय राउत और तोड़फोड़ का ऑर्डर पास करने वाले अधिकारी को भी केस में पार्टी बनाया है। अब इस मामले की सुनवाई बुधवार को होगी। इस पर संजय राउत ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए ट्वीट किया, ‘बीएमसी द्वारा अवैध निर्माण ध्वस्त करने के खिलाफ एक्ट्रेस ने बॉम्बे हाईकोर्ट में केस किया। बीएमसी एक स्वतंत्र बॉडी है और 2 करोड़ की मांग की गई है। इस मामले में संजय राउत को भी पार्टी बनाया गया। बाबरी केस से लेकर मराठी गौरव तक मैंने कई केस का सामना किया है। ये मुझे महाराष्ट्र और मेरे शहर के गौरव के लिए लड़ने से नहीं रोक सकता।’

बीएमसी नहीं कर पाई अवैध निर्माण का सबूत पेश

कंगना ने बॉम्बे हाई कोर्ट में बीएमसी के हलफनामे पर अपना जवाब दाखिल करते हुए कहा है कि उनके दफ्तर पर की गई कार्रवाई पक्षपातपूर्ण थी। उन्होंने सफाई दी कि जब उनके कार्यालय पर ये कार्रवाई हुई तो कोई भी निर्माण कार्य नहीं चल रहा था। दूसरी तरफ बीएमसी अवैध निर्माण का कोई भी सबूत पेश नहीं कर पाई है।

Kangna

कंगना को करोड़ों का नुकसान

इसके पहले बीएमसी ने कंगना रणौत के बांद्रा स्थित दफ्तर को अवैध बताते हुए एक हिस्से को नष्ट कर दिया था। हालाँकि बाद में बॉम्बे हाईकोर्ट ने इस पर रोक लगाने का भी आदेश दिए लेकिन तब तक अभिनेत्री के बंगले के अधिकांश भाग को बीएमसी ने तुड़वा दिया था और इससे कंगना को करोड़ों का नुकसान हो गया।

ये भी पढ़ें- बॉलीवुड में भूचाल: इन सभी एक्टर पर होगी कार्रवाई, देखें पूरी लिस्ट

बीएमसी पर पक्षपातपूर्ण कार्रवाई का आरोप

इसके बाद कंगना जैसे ही 9 सितंबर को मुंबई वापस लौटीं, उन्होंने अपनी नाराजगी जताते हुए एक वीडियो जारी किया। इसके साथ ही उन्होंने बीएमसी की तोड़फोड़ के खिलाफ बॉम्बे हाई कोर्ट में अपील भी की। कंगना ने नोटिस जारी कर बीएमसी से 2 करोड़ रुपये के नुकसान की भरपाई की मांग की है।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App