Top

रजनीकांतः साउथ के फ़िल्मी भगवान की राजनीति में एंट्री, ऐसा रहा अब तक सफर

सुपरस्टार रजनीकांत साउथ में भगवान् की तरह पूजे जाते हैं। वही बॉलीवुड में भी इनकी स्टारडम कायम है। रजनीकांत किसी पहचान के मोहताज नही हैं। उनकी स्टाइल की तो दुनिया दीवानी है ।

Monika

MonikaBy Monika

Published on 12 Dec 2020 3:31 AM GMT

रजनीकांतः साउथ के फ़िल्मी भगवान की राजनीति में एंट्री, ऐसा रहा अब तक सफर
X
थलाइवा रजनीकांत: साउथ में भगवान् की तरह पूजे जाने वाले अब जमा रहे राजनीति में कदम
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

सुपरस्टार रजनीकांत साउथ में भगवान् की तरह पूजे जाते हैं। वही बॉलीवुड में भी इनकी स्टारडम कायम है। रजनीकांत किसी पहचान के मोहताज नही हैं। उनकी स्टाइल की तो दुनिया दीवानी है ।अभिनय के अलावा रजनीकांत एक निर्माता और एक बेहतरीन स्क्रीनराइटर भी हैं। साउथ फिल्मों से बॉलीवुड फिल्मों पर राज करने वाले रजनीकांत अपना जन्मदिन हर साल 12 दिसंबर को मनाते हैं।

स्कूल के दिनों से करते थे एक्टिंग

रजनीकांत का पूरा नाम शिवाजी राव गक्वाड है। इनका जन्म 12 दिसंबर 1950 को मैसूर राज्य (वर्तमान कर्नाटक) में बैंगलोर में एक मराठी परिवार में हुआ। रजनीकांत को बचपन से की फुटबॉल और क्रिकेट का शौक रहा है। साथ ही स्कूल के दिनों से वो नाटकों में अभिनय किया करते थे।

किसी काम को छोटा बड़ा नहीं समझा

वह बचपन से ही आत्मनिर्भर रहे। स्कूल से निकलने के बाद उन्होंने एक कूली, बस कंडक्टर सहित कई नौकरियां की जिसके बारे में बात करने में उनको ज़रा सी भी शर्म या झिझक महसूस नहीं होती।भारत सरकार ने उन्हें पद्म भूषण (2000) और पद्म विभूषण (2016) से सम्मानित किया है।

रजनीकांत

जीते ढेरों अवार्ड

उन्हें 4वें विजय पुरस्कारों में भारतीय सिनेमा में बेहतरीन काम के लिए शेवालियर शिवाजी गणेशन पुरस्कार मिला। भारत के 45 वें अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह (2014) में उन्हें भारतीय फिल्म व्यक्तित्व के लिए शताब्दी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इसके अलावा इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया (2019) के 50 वें एडिशन में उन्हें आइकन ऑफ ग्लोबल जुबली पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

ऐसे रखा राजनीती में कदम

थलाइवा रजनीकांत ने फ़िल्मी दुनिया पर राज करने के बाद राजनीति में भी कदम रखा। रजनीकांत ने डीएमके और टीएमसी गठबंधन का तहे दिल से समर्थन किया और तमिलनाडु के लोगों और उनके प्रशंसकों से उस गठबंधन को वोट देने के लिए कहा । इस गठबंधन को 1996 में पूर्ण जीत मिली थी। रजनीकांत ने उसी वर्ष आयोजित संसदीय चुनाव में DMK-TMC गठबंधन का समर्थन भी किया था।

रजनीकांत

31 दिसंबर को करने वाले पार्टी की घोषणा

रजनीकांत ने 31 दिसंबर 2017 को राजनीति में प्रवेश करने की घोषणा की और अब 2021 तमिलनाडु विधानसभा चुनाव में सभी 234 निर्वाचन क्षेत्रों में चुनाव लड़ने के अपने इरादे की पक्का किया । जल्द ही रजनीकांत अपनी पार्टी का ऐलान करने वाले हैं। अभिनेता ने कहा कि 31 दिसंबर को अपनी राजनीतिक पार्टी की घोषणा करेंगे और वर्षों से चल रही अटकलों को समाप्त करते हुए पार्टी को जनवरी में लॉन्च करेंगे। । उन्होंने कहा कि वह चुनावी राजनीति से जुड़ी योजनाओं व मुद्दों पर जल्द इसकी घोषणा कर देंगे।

ये भी पढ़ें…रेमो डिसूजा को हार्ट अटैक: बॉलीवुड में पसरा सन्नाटा, अस्पताल में मौजूद परिवार

धर्मं-जाती से उपर उठकर होगा काम

अभिनेता से नेता बनने वाले रजनीकांत चुनाव के बाद एक ऐसी सरकार बनाने वाले है जो जाति, धर्म और सम्प्रदाय से ऊपर उठकर काम करेगी। अपनी सरकार की कार्यशैली के चलते वे राज्य की राजनीतिक तस्वीर पूरी तरह से बदलकर रख देंगे। उनकी सरकार हर वर्ग के लोगों के लिए बराबरी से काम करेगी।

ये भी पढ़ें: बॉलीवुड को तगड़ा झटका: इस अभिनेत्री की हुई मौत, घर में खून से सनी मिली लाश

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Monika

Monika

Next Story