तांडव’ वेब सीरीज पर क्या है CM योगी आदित्यनाथ की असली मंशा!

‘तांडव’ वेब सीरीज को लेकर बीजेपी के कई नेताओं ने आरोप लगाया है कि ‘वेब सीरीज में हिन्दू भावनाओं को ठेस पहुंचाई गई है।’ मोरारी बापू ने भी इसको बैन करने की मांग की है।

Published by Monika Published: January 22, 2021 | 7:59 pm
CM योगी आदित्यनाथ

CM योगी आदित्यनाथ (file pic )

लखनऊ :  पिछले कई दिनों से उत्तर प्रदेश में सियासत अपने चरम पर है। प्रदेश की राजनीति में सरगर्मी भी बढ़ती जा रही है। बात अगर मुद्दों की करें तो इस राजनीतिक बहस में मुद्दे ख़ुद-ब-ख़ुद पैदा हो जाते हैं। ताज़ा बहस का केंद्र अमेजन प्राइम वीडियो (Amazon Prime Video) की ‘तांडव’ वेब सीरीज (Tandav web series) है। इस वेब सीरीज को बीजेपी व कई हिन्दू धर्म के संगठनों ने बैन करने की मांग की है। ‘तांडव’ वेब सीरीज को लेकर बीजेपी के कई नेताओं ने आरोप लगाया है कि ‘वेब सीरीज में हिन्दू भावनाओं को ठेस पहुंचाई गई है।’

तांडव

पूरे देश में अलग-अलग जगहों पर ‘तांडव’ वेब सीरीज को लेकर प्रदर्शन जोरों पर है। दिल्ली से लेकर लखनऊ तक इस वेब सीरीज से जुड़े लोगों पर मुकदमें भी हो चुके हैं। उत्तर प्रदेश की ‘योगी सरकार’ ने इस मामले में आगे की कार्रवाई के लिए लखनऊ पुलिस को मुंबई भी भेज दिया था। मगर, अभी तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं हो सकी है। इस वेब सीरीज को लेकर संगम नगरी प्रयागराज के ‘माघ मेले’ में जब सुप्रसिद्ध कथावाचक मोरारी बापू पहुंचे थे, तब उन्होंने भी अपनी नाराजगी व्यक्त की थी।

मोरारी बापू ने कहा था कि ‘भविष्य में इस तरह सनातन धर्म और हमारी संस्कृति को लेकर कोई टिप्पणी न करे, इसको लेकर ठोस कदम उठाने की जरूरत है’। उन्होंने कहा था कि ‘यह गलत परंपरा है, इस पर हर हाल में रोक लगनी चाहिए’। उन्होंने कहा ‘हमारे धर्म की उदारता का मतलब यह नहीं होना चाहिए कि कोई उसका गैर जरूरी लाभ ले।’

डॉ. आशुतोष वर्मा

तांडव वेब सीरीज मात्र एक बहाना है…

इस बारे में बात करते हुए सपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता ‘डॉ. आशुतोष वर्मा’ ने कहा- ‘भारतीय जनता पार्टी में एक बड़ी अजीब-सी उथल-पुथल चल रही है। उनके संगठन में पुराने नेताओं को दरकिनार किया गया। कुछ नये लोगों को भेजा जा रहा है, ये संकेत अपने आप में हैं कि इनकी कार्यशैली से लोग ख़ुश नहीं हैं। लगातार बढ़ती हुई घटनाएं, लगातार हो रहे शूटआउट, लगातार हो रहे अपहरण, ये सब लोग जान रहे हैं और तांडव वेब सीरीज मात्र एक बहाना है, जिससे लोगों का ध्यान भटकाया जा सके।

योगी सरकार और मोदी सरकार किसानों के मुद्दे पर बैकफुट पर खड़ी हुई है, बेरोज़गारी बढ़ती जा रही है, कोई नई भर्तियां नहीं हो रही हैं और लगातार रेप, गुंडागर्दी व भ्रस्टाचार प्रदेश में हावी है, तो कहीं न कहीं भारतीय जनता पार्टी को ध्यान भटकाना है, लेकिन प्रदेश की जनता अब इन सबसे ऊब चुकी है और अब ये ध्यान भटकाऊ की राजनीति चलने वाली नहीं है।’

ये भी पढ़ें : Varun Natasha Wedding: जानें कैसा और कहां होगा फंक्शन, क्या पहनेंगें हॉट कपल

विवादित सीन को लेकर मेकर्स ने मांगी माफ़ी

इस वेब सीरीज में जिस सीन को लेकर सबसे ज्यादा विवाद गरमाया हुआ है, उसमें एक्टर जीशान आयूब हैं। यह सीन सीरीज के पहले एपिसोड में है, जिसमें जीशान भगवान शिव बनकर स्टेज से बयानबाजी कर रहे हैं, इससे संत समाज में खासी नाराजगी है। हालांकि, मेकर्स की तरफ से माफी मांगी गई है, मगर गुस्सा शांत होते नहीं दिखाई दे रहा है। आपको बता दें कि इस सीरीज में एक्टर सैफ अली खान, जीशान आयूब, सुनील ग्रोवर, तिग्मांशु धूलिया जैसे सितारों ने काम किया है।

रिपोर्ट- शाश्वत मिश्रा

ये भी पढ़ें : करीनी और सारा अली खान के बीच कैसे हैं संबंध, एक्टर्स ने बताया ये सच

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App