ये चिप पढ़ेगा मनुष्य का दिमाग, चीन ने किया इसका इजाद, जानिए क्या होंगे लाभ

इस चिप का काम मनुष्य के दिमाग ही हरकत को समझना है, इसके लिए चिप न्यूरल इलेक्ट्रिकल सिग्नल का इस्तेमाल करता है। हालांकि बीसीआई चिप का कॉन्सेप्ट नया नहीं है। बीसीआई एक डिवाइस है, जो कम्प्यूटर और मनुष्य के बीच सामान्य संचार स्थापित करता है

Published by suman Published: June 10, 2019 | 4:55 pm

जयपुर: दुनिया में तरह तरह की नई तकनीक इजाद हो रही हैं। वहीं सबसे तेजी से बढ़ने वाले सेक्टर्स में शामिल टेक्नोलॉजी सेक्टर में चीन ने बड़ी कामयाबी हासिल कर ली है। चीनी शोधकर्ताओं का कहना है कि उन्होंने दुनिया का पहला दिमाग पढ़ने वाला चिप बना लिया है, जो लोगों के दिमाग की तरंगों को पढ़कर उन्हें कम्प्यूटर कंट्रोल करने की सुविधा दे रहा है। चीनी रिसर्चर ने इसे ब्रेन टॉकर नाम दिया है।

दिमाग के सिग्नल को कोड करने वाली इस चिप (बीसी3) को चीन इलेक्ट्रॉनिक कॉर्पोरेशन और तियानजिन यूनिवर्सिटी ने मिलकर तैयार किया है। दोनों की ज्वाइंट टीम ने इस चिप को पिछले महीने वर्ल्ड इंटीलिजेंस कांग्रेस में पेश किया था, जो नॉर्थ चाइना के तियानजिन मुनिसिपलिटी में आता है। रिसर्चर ने बीसी3 चिप को ब्रेन कम्प्यूटर इंटरफेस टेक्नोलॉजी को बेहतर बनाने के लिए विकसित किया है।

इस लड्डू को खाएंगे, नहीं लगेगी गर्मी, जानिए कैसे व किस चीज से बनता है…

चिप विकसित करने वालों का कहना है कि इस चिप का काम मनुष्य के दिमाग ही हरकत को समझना है, इसके लिए चिप न्यूरल इलेक्ट्रिकल सिग्नल का इस्तेमाल करता है। हालांकि बीसीआई चिप का कॉन्सेप्ट नया नहीं है। बीसीआई एक डिवाइस है, जो कम्प्यूटर और मनुष्य के बीच सामान्य संचार स्थापित करता है और एक व्यक्ति को इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस कंट्रोल करने की सुविधा देता है।

इन चिप की मदद से  सिर्फ दिमाग की तरंगों को इस्तेमाल करे बिना कुछ बोले या हरकत किए कम्प्यूटर आदि को कंट्रोल कर सकते हैं। वैज्ञानिक पहले भी ऐसे कई चिप बना चुके हैं। जो किसी व्यक्ति को रोबोटिक आर्म कंट्रोल करने की सुविधा प्रदान करते हैं। बीसीआई चिप्स में हो रहे विकास के साफ है कि इस तरह की टेक्नोलॉजी से मानव जाति का भला होगा। साल 2017 में नेटफ्लिक्स ने एक हेडबैंड विकसित किया था, जो उसने पहनने वाले के दिमाग को रिड करके उसकी पसंद के शो सलेक्ट करता था।