×

Vodafone-Idea पर बड़ी खबर: खतरे में कंपनी का भविष्य, ये है बड़ी वजह

फिच रेटिंग्स के मुताबिक, अगले एक साल में वोडाफोन-आइडिया कंपनी करीब 5 से 7 करोड़ अपने कस्टमर खो सकती हैं। कस्टमर Vi को छोड़कर एयरटेल और रिलायंस जियो की सेवा को अपना सकते हैं। वैसे भी इन दिनों एयरटेल और जियों के बेहतर नेटवर्क और ऑपर के चलते उनके ग्राहक लगातार बढ़ रहे हैं।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 2 Dec 2020 6:41 AM GMT

Vodafone-Idea पर बड़ी खबर: खतरे में कंपनी का भविष्य, ये है बड़ी वजह
X
Vodafone-Idea पर बड़ी खबर: खतरे में कंपनी का भविष्य, ये है बड़ी वजह
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: देश की टॉप टेलिकॉम कंपनी Vi यानी वोडाफोन-आइडिया को भविष्य में एक बड़ा झटका लगने की उम्मीद जताई जा रही है। माना जा रहा है कि आने वाले एक साल में Vi के लगभग सात करोड़ कस्टमर घट सकते हैं। यह अनुमान बीते 9 तिमाहियों के आधार पर लगाया गया है। बता दें कि Vi ने पिछले 9 तिमाही में करीब 15.5 करोंड़ ग्राहकों खो चुका हैं।

फिच रेटिंग्स ने लगाया 7 करोड़ कस्टमर खोने का अनुमान

फिच रेटिंग्स के मुताबिक, अगले एक साल में वोडाफोन-आइडिया कंपनी करीब 5 से 7 करोड़ अपने कस्टमर खो सकती हैं। कस्टमर Vi को छोड़कर एयरटेल और रिलायंस जियो की सेवा को अपना सकते हैं। वैसे भी इन दिनों एयरटेल और जियों के बेहतर नेटवर्क और ऑपर के चलते उनके ग्राहक लगातार बढ़ रहे हैं।

यह भी पढ़ें… भारतीयों के लिए बड़ी खुशखबरी: जल्द मिल सकती है 5G सुविधा, जानें और बड़ी बातें

voda-idea-jio-airtel copy

जियो और एयरटेल का कंम्बाइंड मार्केट

फिच रेटिंग्स के अनुसार, अगले एक साल से डेढ़ साल में रिलायंस जियो और भारतीय एयरटेल का कंम्बाइंड मार्केट करीब 80 फीसदी तक रह सकता है। बता दें कि सितंबर के महीने में दोनों कंपनियों का कंम्बाइंड मार्केट लगभग 74 फीसदी थी। इस साल के दूसरी तिमाही में भारतीय एयरटेल ने 1.4 करोड़ न्यू कस्टमर बनाए, जो कि जियो के 70 लाख नए कस्टमर दो गुना ज्यादा है।

तेजी से घट रहे हैं Vi के कस्टमर

Vi के घटते कस्टमर के कारण इनका मार्केट शेयर तेजी से गिर रहा है। कंपनी के घटते कस्टमर के कारण इनकी आर्थिक स्थिति बेहद ही खराब होती जा रही है, जिसके कारण इसका सीधा असर उनके बिजनेस पर पड़ रहा है। फिच ने बताया है कि कर्ज में डूबी वोडाफोन कंपनी अपने शेयरों की बिक्री के जरिए करीब 3.4 अरब डॉलर एकत्रित करने में जुटी हुई है। लेकिन टेलीकॉम बाजार में उसकी स्थिति शायद ही बेहतर हो सकें।

ये भी पढ़ें: Vodafone-Idea के ग्राहकों को तगड़ा झटका, ये पाॅप्युलर प्लान हुआ महंगा

कर्ज में डूबी Vi कंपनी

बता दें कि Vi को कुल 8.9 अरब डॉलर टेलीकॉम विभाग को देने थे, जिसमें से उन्होंने करीब 1.1 अरब डॉलर चुका दिए हैं। वैसे भी कंपनी पहले से कई परेशानियों का सामना कर रही है। लेकिन एजीआर ने कपंनी की परेशानियों को और हवा दे दी हैं।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story