Top

आपको भी वैक्सीन लेने के बाद आया इस नंबर से कॉल? हो सकता है फोन हैक?

क्या कोरोना वायरस की वैक्सीन लेने के बाद कोई आप पर नज़र रखे हुए है? क्या वैक्सीन लेने के बाद आने वाला कॉल है एक खतरे की घंटी? क्या इस नंबर से आने वाले कॉल से रहना होगा सावधान? यहां जानें-

Meghna

MeghnaReport MeghnaSatyabhaPublished By Satyabha

Published on 19 July 2021 11:10 AM GMT

coronavirus news
X

ऐसे हो सकता है आपका फोन हैक फोटो- सोशल मीडिया

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

दुनियाभर में फैली कोरोना वायरस महामारी (Coronvairus Epidemic) अभी खत्म नहीं हुई है। वैक्सीन (Vaccine) आने के बावजूद भारत सरकार समय समय पर दिशा निर्देशों के पालन को लेकर ऐडवाइज़री जारी कर रही है। कोरोना वायरस की वैक्सीन लेने को लेकर फैले डर और भ्रम को सरकार खत्म करने के लिए कई कदम उठा रही है। ऐसे में ये ज़रूरी है कि इससे जुड़ी मेडिकेशन पर फैली अफवाहों से बचें और सही दवाईयां अपनाएं।

वैक्सीन लेने के बाद आने वाले कॉल से रहना होगा सावधान?

सोशल मीडिया पर एक मेसेज तेज़ी से वायरल हो रहा है जिसमें वैक्सीन लेने के बाद आने वाले कॉल से सावधान रहने के साथ कई दावे किए जा रहे हैं। मेसेज में लिखा है, "अभी अबी मेरे दोस्त को 912250041117 नंबर से फोन आया और उससे कहा गया कि अगर आपने वैक्सीन लगवा ली है तो 1 दबाएं। जैसे ही उसने 1 दबाया तुरंत उसका फोन ब्लॉक हो गया और उसका फोन हैक कर लिया गया। अगर आपको भी ऐसे नंबर से कॉल आए तो सावधान रहें।"

फ्रॉड कॉल है, रहें सावधान!

तेज़ी से शेयर किए जा रहे इस मेसेज पर संज्ञान लेते हुए इसको शेयर कर सरकार की पीआईबी फैक्ट चेक के ट्विटर हैंडल ने स्पष्टीकरण जारी किया है। हैंडल ने ट्वीट किया, "स्कैम अलर्ट! लोगों को "912250041117" से कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर फीडबैक कॉल मिल रहे हैं। एक व्हाट्सएप फॉरवर्ड का कहना है कि कॉल का जवाब देने से फोन हैक हो सकता है। ये एक फ्रॉड कॉल है। भारत सरकार कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर फीडबैक लेने लिए 1921 नंबर का इस्तेमाल करती है। "

खुद करें जांच, तब करें विश्वास

आज के दौर में जहां जानकारियां जल्दी से जल्दी पहुंचने की ज़रूरत है वहीं इस बात पर भी ज़ोर देना होगा की गलत जानकारी ना साझा की जाए। सोशल मीडिया पर आए दिन कई ऐसी खबरें वायरल होती रहती हैं जिसमें कोरोना वायरस और इसकी वैक्सीन को लेकर अलग अलग दावे किए जाते हैं। हमें उनकी प्रामाणिकता की जांच कर ही उनपर विश्वास करना होगा। वैक्सीन से जुड़ी जानकारियों पर खासकर विश्वास करने से पहले किसी विशेषज्ञ की सलाह ज़रूर लें।

Satyabha

Satyabha

Next Story