×

Alert! कहीं आप भी तो नहीं खाते ब्रेड बटर? जानिए क्या कहती है आईसीएमआर की ये रिपोर्ट

Bread Butter Side Effects: अगर आप भी ब्रेड के साथ बटर खाना काफी एन्जॉय करते हैं और आपका ये फेवरेट नाश्ता है तो आप सावधान हो जाइये।

Shweta Srivastava
Published on: 4 Jun 2024 4:12 AM GMT
Alert! Bread Butter is Unhealthy
X

Alert! Bread Butter is Unhealthy (Image Credit-Social Media)

Bread Butter Side Effects: अक्सर लोग सुबह के नाश्ते में बड़े मन से ब्रेड और बटर खाना पसंद करते हैं। वहीँ कंपनियां भी कई तरह के लो फैट बटर बेच रहीं हैं जिसे खा कर लोग इस बात से भी निश्चिन्त हो जाते हैं कि इससे उनका कोलेस्ट्रॉल लेवल सही रहेगा। लेकिन क्या वाकई में ब्रेड और बटर खाना आपके लिए सही है। जानिए आईसीएमआर की ये चौकाने वाली रिपोर्ट।

ब्रेड बटर खाना आज से कर दें बंद (Alert! Bread Butter is Unhealthy)

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के अनुसार ब्रेड, मक्खन और कुकिंग ऑइल समेत कुछ फूड्स लोगों के लिए बेहद खतरनाक बताया है। उन्होंने अपनी गाइडलाइन्स के ज़रिये ये साफ़ कर दिया कि ब्रेड, मक्खन और कुकिंग ऑइल अल्ट्रा प्रॉसेस्ड फूड की कैटेगरी में शामिल है।

दरअसल आईसीएमआर ने कहा है कि ग्रुप सी खाद्य पदार्थों में फैक्ट्रियों में बनने वाली कुछ चीज़ें जैसे ब्रेड, सीरियल्स, मायोनीज, केक, चिप्स, बिस्कुट, फ्राइज, प्रोटीन पैक पाउडर, जैम, सॉस, आइसक्रीम, पीनट बटर, सोया चंक्स, टोफू सभी इसमें शामिल है। इसके साथ ही मांस, अनाज, बाजरा और फलियों का प्रॉसेस्ड आटा, एडिटिव्स से बनने वाला पनीर, एनर्जी ड्रिंक्स, दूध, कोल्ड ड्रिंक्स और जूस इन सभी खाद्य पदार्थों को भी भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) ने ग्रुप सी में रखा है।

आइये आपको बताते हैं कि अल्ट्रा प्रॉसेस्ड फूड क्या होता है और इसे क्यों अस्वास्थ्कर माना जाता है। दरअसल कई तरह के अनाजों को आटे की फ़ैक्टरी में हाई फ्लेम पर पीसकर बनाया जाता है ऐसा इसलिए किया जाता है जिससे ये कई दिनों तक खराब न हों। इसमें आर्टिफिशियल इनग्रिडिएंट और एडिटिव्स मिलाए जाते हैं।

वहीँ ताज़े फलों को कई-कई दिनों तक फ्रिज में रख दिया जाता है जिससे ये ख़राब नहीं हों वहीँ दूध भी पॉश्चुराइज्ड किया जाता है। दरअसल इस तरह से जो भी खाद्य पदार्थ तैयार किया जाता है वो उनके पोषक तत्वों को छीन लेते हैं।

इतना ही नहीं इनका रंग, स्वाद और इन्हे ज़्यादा समय तक रखने के लिए इन सभी खाद्य पदार्थों में आर्टिफिशियल स्वीटनर, एडिटिव्स और कलर जैसी तमाम खतरनाक चीज़ें मिलाई जातीं हैं। जो लोगों के स्वास्थ को बेहद नुकसान पहुँचता है।

.इस तरह का खाना अगर लोग काफी समय तक लगातार खाते हैं तो उन्हें कई तरह की गंभीर बीमारियां हो सकतीं हैं। जिससे दिल का दौरा, मोटापा और स्ट्रोक जैसी कई तरह की बीमारियां लोगों में तेज़ी से बढ़ रहीं हैं। इस तरह का अल्ट्रा-प्रोसेस्ड खाद्य पदार्थ (यूपीएफ) फैट में काफी ज़्यादा होता है और फाइबर और कई तरह के पोषक तत्व बहुत कम होते हैं।

इस तरह का खाना लोगों में मोटापा, एजिंग बढ़ाने और दिल के दौरे, स्ट्रोक, डायबिटीज और ओवरऑल हेल्थ खराब करने के लिए ज़िम्मेदार है।

Shweta Srivastava

Shweta Srivastava

Content Writer

मैं श्वेता श्रीवास्तव 15 साल का मीडिया इंडस्ट्री में अनुभव रखतीं हूँ। मैंने अपने करियर की शुरुआत एक रिपोर्टर के तौर पर की थी। पिछले 9 सालों से डिजिटल कंटेंट इंडस्ट्री में कार्यरत हूँ। इस दौरान मैंने मनोरंजन, टूरिज्म और लाइफस्टाइल डेस्क के लिए काम किया है। इसके पहले मैंने aajkikhabar.com और thenewbond.com के लिए भी काम किया है। साथ ही दूरदर्शन लखनऊ में बतौर एंकर भी काम किया है। मैंने लखनऊ यूनिवर्सिटी से इलेक्ट्रॉनिक मीडिया एंड फिल्म प्रोडक्शन में मास्टर्स की डिग्री हासिल की है। न्यूज़ट्रैक में मैं लाइफस्टाइल और टूरिज्म सेक्शेन देख रहीं हूँ।

Next Story