×

Diabetes And Feet: डायबिटीज में अपने पैरों का रखें ख़ास ख्याल, नहीं तो पड़ जाएंगे जिंदगी के लाले

Health Care Tips: न्यूरोपैथी विकार विकसित होने से आपके पैरों को भी काफी नुकसान पहुंचता हैं। इसलिए विशेषज्ञ डायबिटीज के मरीजों को अत्यधिक सतर्कता बरतने की सलाह देते हैं।

Preeti Mishra
Published on 13 May 2022 8:59 AM GMT
Diabetes And Feet: डायबिटीज में अपने पैरों का रखें ख़ास ख्याल, नहीं तो पड़ जाएंगे जिंदगी के लाले
X

डायबिटीज में अपने पैरों का रखें खास ख्याल (कॉन्सेप्ट फोटो साभार- सोशल मीडिया) 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Diabetes And Feet Problems: अनियंत्रित डायबिटीज (Diabetes) कई अन्य तरह की शारीरिक बीमारियों का कारण बन सकता है। आमतौर पर लोग डायबिटीज को सिर्फ ब्लड शुगर (Blood Sugar) प्रॉब्लम से जोड़ कर देखते हैं। लेकिन, आपको बता दें कि डायबिटीज के कारण आपके नर्व और ब्लड वैसल्स भी डैमेज हो जाते हैं। इतना ही नहीं ऐसे में न्यूरोपैथी विकार (Neuropathy Disorder) विकसित होने से आपके पैरों को भी काफी नुकसान पहुंचता हैं। इसलिए विशेषज्ञ डायबिटीज के मरीजों को अत्यधिक सतर्कता बरतने की सलाह देते हैं। ख़ास कर उनके पैरों की देखभाल सबसे ज्यादा जरुरी होती है।

बता दें कि डायबिटीज का सीधा रिश्ता आपके लाइफ स्टाइल (Lifestyle) से जुड़ा होता है। इसलिए डायबिटीज को कंट्रोल (Control Diabetes) में रखने के लिए आपको एक हेल्थी लाइफस्टाइल अपनानी बेहद जरुरी होती है। गौरतलब है कि डायबिटीज अपने आप में कोई बिमारी नहीं होती है बल्कि इसे कई गंभीर बिमारियों का जनक माना जाता है। डायबिटीज के मरीज़ों को अपने पैरों का खास ख्याल (Feet Care) रखने की सलाह दी जाती है। अन्यथा इससे जुड़ी कई गंभीर बिमारियों के कारण बात उनकी ज़िन्दगी तक भी आ जाती है।

आंखों की रोशनी जाने का भी होता है खतरा

इतना ही नहीं अनियंत्रित डायबिटीज के कारण आँखों की रोशनी जाने का भी एक बड़ा खतरा रहता है। इसके अलावा किडनी फेल्यॉर, हार्ट अटैक, स्ट्रोक, शरीर के निचले हिस्से पर नियंत्रण ना रहना जैसी परेशानियां भी अनियंत्रित डायबिटीज के कारण ही होती हैं। एक्सपर्ट्स की माने तो ज्यादातर मरीज़ों को अपनी हालत और डायबिटीज के बारे में पहले स्ट्रोक के बाद ही पता चल पाता है। तभी इसे साइलेंट किलर भी कहा जाता है।

आमतौर पर अनियंत्रित शुगर सबसे पहले मरीज़ के नर्व सिस्टम को ही प्रभावित करती है। बता दें कि हाई ब्लड शुगर की वजह से पैरों में पूरी तरह ब्लड सप्लाई नहीं हो पाने के कारण मरीज़ के पैरों में तकलीफ हो सकती है। इसलिए डायबिटीज के मरीज़ों को पैरों में थोड़ी भी दिक्कत महसूस होने पर या पहले से भी अपने पैरों का खास ख्याल रखने की सलाह दी जाती है।

(कॉन्सेप्ट फोटो साभार- सोशल मीडिया)

डायबिटीज में ऐसे रखें अपने पैरों का ख़ास ख्याल-

- अगर हमेशा आपके पैरों में फफोले पड़ रहे हो या पैर के अंगूठे के नाखून के आस-पास अक्सर दिक्कत और दुखन रहती है तो जल्द से जल्द जांच करवाना बेहद जरुरी है । इसके अलावा पैर पर चकत्ते, दर्द, सूजन और किसी तरह का संक्रमण लगातार या बार-बार होने पर अवश्य डॉक्टर से सलाह लें।

- हमेशा अपने पैरों को हलके गुनगुने पानी में धोना चाहिए ना कि तेज गर्म पानी में । इसके बाद अपने पैरों ख़ास कर अंगूठों के बीच के स्पेस को हल्के हाथों से साफ कपड़े से साफ करें। इतना ही नहीं समय-समय पर अपने पैरों के नाखूनों को ब्लेड से नहीं बल्कि नेलकटर से काटें। हां ध्यान रखें कि पैर के नाखूनों को राउंड शेप देने से नाखून के अंदर की तरफ बढ़ने के चांस बढ़ जाते हैं। जो बेहद तकलीफ देह होता है।

- रात को सोने से पहले क्रीम या तेल से अपने तलुवों और पैरो की मसाज करें। ऐसा करने से पैर सॉफ्ट और सुरक्षित होते है।

- हमेशा अच्छे और मुलायम फुटवियर का ही इस्तेमाल करें।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story