Top

Intermittent fasting: तेजी से वजन घटाना है तो अपनाएं ये तरीका

इंटरमिटेंट फास्टिंग से वजन कम करने के साथ हेल्थ बेनिफिट भी

Pallavi Srivastava

Pallavi SrivastavaNewstrack Pallavi Srivastava

Published on 28 May 2021 11:58 AM GMT

Intermittent fasting: तेजी से वजन घटाना है तो अपनाएं ये तरीका
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Intermittent fasting: इंटरमिटेंट फास्टिंग एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमे आपको उपवास करना होता है। कहते हैं उपवास से वजन बढ़ता है पर इंटरमिटेंट फास्टिंग में आपका वजन तेजी से घटेगा। आज के समय में वजन घटाने के लिए कई तरह की डाइट्स का चलन चल रहा है जिसमें कुछ सालों पहले की बात करें तो कीटो डाइट का प्रचलन तेजी से बढ़ा था पर इसमे कभी कभी सही डाइट फॅालो न करने से कमजोरी भी आ जती है। और अगर आप सोशल मीडीया पर जल्दी वजन

घटाने की तरीका सर्च करेंगे तो 7 डे चैलेंज भी मिल जाएगा जिसमे सात दिन तक सिर्फ मूंग की दाल का ही सेवन करना होता है। और ये 7 डे चैलेंज अपनाने से वजन भी तेजी से कम हो जाता है पर इस प्रक्रिया में ध्यान ये रखना होता है कि सात दिन तक सिर्फ और सिर्फ मूंग दाल को ही खाना होता है, ये आप पर डिपेंड है कि आप कैसे मूंग दाल का प्रयोग कैसे करते हैं बिना तेल के। पर आज हम बात कर रहे हैं इंटरमिटेंट फास्टिंग की। इंटरमिटेंट फास्टिंग से आप स्वस्थ्य और फिट रहेंगे। इंटरमिटेंट फास्टिंग को फॉलो करने से आपका वजन तो घटेगा ही साथ में अन्य बीमारिया जैसे ब्लड प्रेशर, कैंसर, अल्जाइमर से भी निजात मिलेगी और आपका हार्ट भी हेल्दी रहेगा। तो आइये जानते हैं इंटरमिटेंट फास्टिंग क्या है और इसे कैसे फॉलो करे-



क्या है इंटरमिटेंट फास्टिंग

इस तरह से वजन घटाने में एक साइकिल यानी चक्र को फाॅलो करना होता है जिसमे आप रात में खाना खाने के बाद से लगभग 14 या 16 घंटे फास्ट करते हैं और अगले दिन तक। बाकी के समय में हेल्दी फूड खाकर पूरा दिन गुजारते हैं। शुरूआत में आप 14 या 16 घंटे की फास्टिंग नहीं कर पाएंगे तो आप 10 घंटे या 12 घंटे से शुरू करके समय को धीरे धीरे बढ़ाएं। फास्टिंग के दौरान अगर आप चाहें तो गर्म पानी, ग्रीन टी बिना चीनी वाली, नारियल पानी वगैरह ले सकते हैं।



कैसे करें इंटरमिटेंट फास्टिंग

अगर कोई व्यक्ति अपना आखिरी भोजन रात्रि 8 बजे तक कर लेगा तो वह अगले दिन दोपहर में 12 बजे अपना पहला भोजन करता हैं। इसका मतलब आप 16 घंटे का व्रत रखते हैं। कोशिश ये करें कि पहला मील आपका प्रोटीन रिच हो ताकि आपको कमजोरी न लगे और आप पूरा दिन खुद को एक्टिव महसूस कर सके। साथ ही अगर आपका मेन फोकस वजन कम करना है तो आपको एक हेल्दी लाइफस्टाइल फाॅलो करने के साथ साथ योग, एक्सरसाइज, प्रणायाम भी करना होगा। और अपने डाइट में गुड फैट भी लें जैसे दिन में एक या दो चम्मच देशी घी, घर का बना मक्खन आादि। आपको बता दें कि व्रत रहना हमेशा हीलिंग की तरह रहा है। इसे सिर्फ वजन कम करने के लिए ही नहीं करना चाहिए बल्कि जो सेल्स अच्छे से काम नहीं कर रहीं उन सेल्स को खत्म करने और अच्छी सेल्स को रेजुवनेट करने के लिए करना चाहिए। इससे आपकी इम्यूनिटी भी बढ़ती है, वजन कम होना तो एक्स्ट्रा बेनिफिट है।

Pallavi Srivastava

Pallavi Srivastava

Next Story