×

Muh Se Badboo Ane Ke Upay: क्या आपके मुंह से भी आती है बदबू, अपनाएं ये असरदार उपाय

Muh Se Badboo Ane Ke Upay: मुंह की ठीक से साफ़-सफ़ाई न रखना सांसों की बदबू का एक प्रमुख कारण है

Pallavi Srivastava
Written By Pallavi SrivastavaNewstrack Network
Updated on: 2021-09-24T13:06:35+05:30
Health Tips
X

मुंह से बदबू आती है तो करें इलाज pic(Social media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Muh Se Badboo Ane Ke Upay: अगर आप किसी से बात करें और आपके मुंह से बदबू(Muh Ki Badboo) आए तो सामने वाले के सामने आपका क्या इंप्रेशन पड़ेगा ये आप बखूबी जानते होंगे। हर कोई चाहता है है मैं परफेक्ट(Perfect) रहूं लेकिन ऐसा नहीं है। दुनिया में कोई भी ऐसा नहीं है जो एकदम परफेक्ट हो।

दूर करें सांसों की बदबू pi(Social media)

लेकिन हां खुद पर आप ध्यान देकर दूसरों के मुकाबले ज्यादा मेनटेन कर सकते हैं। अपनी आदतों(Good Habits) में कुछ बदवाल लाकर, रहन सहन, तौर तरीकों में परिवर्तन लाकर खुद को औरों से बेहतर बना सकते है। और यकीन मानीए शुरू में आपको थोड़ी दिक्कत जरूर होगी अपनी लाइफस्टाइल बदलने में लेकिन बाद में आप खुद अच्छा महसूस करेंगे। आज हम आपको बताऐगे कि कैसे आप कुछ आदतों को अपनाकर अपने मुंह की बदबू को दूर कर सकते हैं।

मुंह की ठीक से साफ़-सफ़ाई का रखें ध्यान pic(social media)

ओरल हाइजीन का रखें विशेष ध्यान(Take Special Care Of Oral Hygiene)

मुंह की ठीक से साफ़-सफ़ाई न रखना सांसों की बदबू(Saanson KI Badaboo) का एक प्रमुख कारण है। जब आपका मुंह साफ़ नहीं होता तो खाने के बाद बची-खुची चीज़ें दांतों, मसूड़ों और यहां तक कि जीभ पर जमा हो जाती है। और ऐसा लगातार करने से कुछ समय बाद बैक्टीरिया के चलते इनमें सड़न पैदा होने लगती है। जिसके कारण आपके मुंह से गंदी बदबू तो आती ही है साथ में दांत कमज़ोर भी हो जाते हैं। दांतों में कैविटीज़ हो जाती हैं और मसूड़ों से संबंधित समस्याओं का भी सामना करना पड़ता है। इसलिए कुछ भी खाने के पानी से कुल्ला जरूर करें। और सप्ताह में एक बार नमक और सरसों के तेल से मसूड़ों और दातों की मसाज करें। जिससे बैकटीरिया मर जाए।


गैस्ट्रो इंटेस्टाइनल इन्फ़ेक्शन्स(Gastro Intestinal Infections)

कभी-कभी जब आपके पेट(Stomach) में किसी तरह का इन्फ़ेक्शन होता है या आपको कब्ज़ जैसी समस्या हो जाती है तब भी मुंह से बदबू आने लगती है। हेलिकोबैक्टर फ़ायलोरी इन्फ़ेक्शन (स्टमक और छोटी आंत में होने वाला इन्फ़ेक्शन) से पीड़ित लोगों के मंह से भी बदबू आती है।

ड्राय माउथ(Dry Mouth) pic(Social media)

मुंह सूख जाना भी एक कारण है(Dry Mouth)

ड्राय माउथ नामक मेडिकल कंडीशन, जिसे ज़ेरोस्टोमिया भी कहा जाता है। ऐसी स्थिति में भी सांसों की बदबू आपको परेशान करती है। इस कंडीशन में मुंह में सलाइवा का प्रोडक्शन कम हो जाता है, जिसके चलते मुंह में बैक्टीरिया बिल्ड-अप और हैलिटोसिस की समस्या पैदा हो जाती है। जिन लोगों को सलैवरी ग्लैंड की समस्या होती है, उनका मुंह भी हमेशा सूख जाता है।

ईएनटी और फेफड़ों का इन्फ़ेक्शन भी एक प्रमुख कारण

जब आपको गले में खराश महसूस होती है तब भी हैलिटोसिस की समस्या होती ही है। इसके अलावा टॉन्सिलाइटिस, टॉन्सिल स्टोन्स, साइनस इन्फ़ेक्शन्स और ब्रॉन्किक्टैसिस व ब्रॉन्काइटिस जैसे फेफड़ों के इन्फ़ेक्शन के दौरान भी मुंह से बदबू आती है।.

क्रैश डाइट करना(Crash Diet)

जब आप वज़न कम करने के लिए क्रैश डायट करते हैं। यानी नो-कार्ब डायट पर चले जाते हैं तो भी आपके मुंह से दिनभर बदबू आती रहेगी। क्रैश डायटिंग के दौरान आपका शरीर पहले से जमा फ़ैट्स को गताला है। जिससे एक तरह का केमिकल रिऐक्शन होता है औस उस केमिकल रिऐक्शन के दौरान कीटोन नामक केमिकल प्रोड्यूस होता है जो आपके मुंह के बदबू का कारण बनता हैं।

माउथ फ्रेशनर का यूज pic(social media)

माउथ फ्रेशनर का इस्तेमाल(Use Mouth Freshener)

ये परमानेंट इलाज तो नहीं है लेकिन आप अगर माउथ फ्रेशनर का यूज करते हैं तो एटलीस्ट आपको सामने वाले के सामने शर्मिंदा नहीं होना पडेगा। माउथफ्रेशनर रेडीमेड भी आता और आप अपने घर के किचन से भी लौंग, इलाइची, सौंफ ले सकते हैं।

Pallavi Srivastava

Pallavi Srivastava

Next Story