×

Potato peels: रुकिए! क्या आप भी आलू के छिलकों को समझते हैं बेकार, तो पढ़ें ये खबर, कैंसर को दूर रखने में है कारगर

Potato peels: अगर आप भी आलू के छिलके फेंक देते हैं, तो ये खबर पढ़ लें।

Preeti Mishra
Updated on: 21 May 2022 10:38 AM GMT
Health care
X

कैंसर को दूर रखने में है कारगर

कैंसर को दूर रखने में है कारगर

आलू के छिलके कैंसर को दूर रखने में है कारगर (Social media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Potato peels keeps away cancer: सब्‍जियों का राजा कहलाने वाले आलू हर प्रकार की सब्‍जी के साथ मिलकर उसका स्वाद दोगुना कर देता है। आलू का स्वाद हर उम्र के लोगों को बहुत भाता है। मज़े की बात तो यह है कि आलू के कई स्वादिष्ट आइटम तैयार हो जाते हैं जो खाने में बहुत ही ज्यादा टेस्टी होते हैं। ख़ास बात है कि व्रत में भी लोग आलू का सेवन आसानी से कर सकते हैं।

लेकिन आमतौर पर हम आलू को छील कर ही इस्तेमाल में लाते हैं। और छिलकों को बेकार समझ कर फेंक देते हैं। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि जिस छिलके को आप बेकार समझ कर फेक देते हैं, वह असलियत में पोषक तत्‍वों का भंडार होते है।

बता दें कि आलू के छिलके में ढेर सारा फाइबर, प्रोटीन, खनिज, विटामिन और फाइटोकेमिकल्स मौजूद होता है। जिसके सेवन से आपके शरीर की बहुत सी बीमारियां दूर हो सकती हैं। इतना ही नहीं आलू का छिलका पोटेशियम का एक बड़ा स्रोत माना जाता है। आलू के छिलके में मौजूद ढेर सारा आयरन आपके लाल रक्त कोशिका को कार्य में मदद प्रदान करता है।

इसके अलावा इसमें मौजूद विटामिन-बी 3 की प्रचुर मात्रा पोषक तत्वों को ब्रेकडाउन करके ईंधन की तरह काम करवाने में सहायक होता है। यह आपकी कोशिकाओं को शारीरिक तनाव से उबरने में भी मददगार होता है। आलू की स्‍किन में मौजूद फाइबर की प्रचुरता पेट के कैंसर, हृदय रोग और टाइप 2 मधुमेह के जोखिम को कम करने के अलावा चयापचय को नियंत्रित रखने में मददगार होता है।

आलू के छिलके का सेवन दूर करेगा इन बिमारियों को :

कैंसर से करता है बचाव

आलू के छिलके में मौजूद शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट फाइटोकेमिकल्स की भी प्रचुरता पायी जाती है। इसके अलावा, इसमें उच्च मात्रा में क्लोरोजेनिक एसिड भी होता है, जो कार्सिनोजेन जो कैंसर पैदा करने वाला यौगिक होता है, उसके साथ बांधकर शरीर को कैंसर होने से बचाता है।

कोलेस्ट्रॉल को करता है कम

आलू के छिलके में मौजूद उच्च फाइबर, एंटीऑक्सिडेंट, पॉलीफेनोल्स और ग्लाइकोकलॉइड्स के साथ मिलकर शरीर में जमे कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायक होता है।

दिल को रखता है सुरक्षित

आलू के छिलका पोटेशियम की प्रचुरता दिल के दौरे और स्ट्रोक के खतरे को कम करता है। बता दें कि पोटेशियम रक्तचाप को कम करने के साथ हृदय को स्‍वस्‍थ बनाए रखने में भी सहायक होता है। इसके अलावा आलू के छिलके में ओमेगा -3 फैटी एसिड भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है।

रक्त शर्करा के स्तर को बनाता है नार्मल

अकसर देखा गया है कि डायबिटीज के मरीज़ों को बहुत ही जल्दी भूख का अहसास हो जाता है। ऐसे में अपने भोजन में आलू के छिलकों को शामिल करने से बार-बार खाने की आदत से बचा जा सकता हैं। इतना ही नहीं आलू के छिलके में फाइबर के अलावा, ढेर सारे आवश्यक पोषक तत्व भी होते हैं, जो शरीर में रक्त शर्करा के स्तर को बढ़ने से रोकने में मदद करते हैं।

त्वचा के लिए लाभदायक

आलू का छिलका त्वचा की समस्याओं को दूर करने में सहायक होता है। बता दें कि आप अपनी त्वचा को गोरा करने, मुंहासे, ब्लैकहेड्स और वाइटहेड्स का इलाज करने और फेस पर मौजूद अत्यधिक तेल को कम करने के लिए, भी इसका उपयोग कर सकते हैं। इसके लिए प्रभावित क्षेत्र पर कॉटन पैड की मदद से आलू का रस लगाकर इसे 15-20 मिनट तक रखने के बाद गुनगुने पानी से धो लें। त्वचा चमक उठेगी।

बालों में लाता है चमक

आलू का छिलका बालों में चमक लाने के साथ ही बालों को तेजी से बढ़ाने में भी मदद करता है। इसके लिए आलू के छिलके का रस अपने स्कैल्प पर लगा कर इसे 5 से 10 मिनट तक धीरे से मसाज कर इसे सामान्य पानी से धो लेना चाहिए।

ब्‍लड प्रेशर रखें कंट्रोल

आलू के छिलके का सेवन आपके दिल को ठीक से काम करने में सहायक होता हैं। बता दें कि ऑर्गेनिक आलू की त्वचा में आपको खनिजों - पोटेशियम, मैग्नीशियम और कैल्शियम के माध्यम से आपके रक्तचाप को प्रबंधित करने में सहायता मिलती है।

हड्डियों को बनाता है मज़बूत

आलू के छिलकों में मौजूद कुछ खनिज आपकी हड्डी की संरचना और मजबूती के रखरखाव के लिए बेहद आवश्यक होते हैं। इन छिलकों में आयरन, पोटेशियम, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, कैल्शियम, तांबा और जस्ता जैसे पोषक तत्व पाये जाते हैं। बता दे कि शरीर में लगभग 50 से 60 प्रतिशत मैग्नीशियम हड्डियों में ही मौजूद रहता है। आलू के छिलके का सेवन हड्डियों के घनत्व को बनाए रखने में सहायक होता है। इसके अलावा रजोनिवृत्ति के बाद महिलाओं में ऑस्टियोपोरोसिस के खतरे को भी कम करने में इन छिलकों का सेवन लाभदायक होता है।

Ragini Sinha

Ragini Sinha

Next Story