जहरीली हुई हवा, सांस लेना हुआ मुश्किल, ऐसे करें अपना बचाव

दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण की वजह से सांस लेना मुश्किल हो गया है। कई इलाको में हवा जहरीली हो गई है। एक्यूआई 500 से 700 के बीच पहुंच गया है। दिल्ली सरकार ने सभी स्कूलों को 5 नवंबर तक बंद रखने का आदेश दिया है।

नई दिल्ली:दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण की वजह से सांस लेना मुश्किल हो गया है। कई इलाको में हवा जहरीली हो गई है। एक्यूआई 500 से 700 के बीच पहुंच गया है। दिल्ली सरकार ने सभी स्कूलों को 5 नवंबर तक बंद रखने का आदेश दिया है।

प्रदूषण की वजह से ईपीसीए ने दिल्ली-एनसीआर में हेल्थ इमरजेंसी की घोषित कर दिया है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि ये खतरनाक स्थिति है। इस गंभीर स्थिति में अपना और अपनों का ख्याल कैसे रखना है, इसके बारे में आपको जानकारी होनी चाहिए। अगर किसी को सांस की कोई समस्या है तो इन बातों का जरूर ध्यान रखना चाहिए।

यह भी पढ़ें…वाट्सएप विवाद: सामने आई ये 20 बड़ी हस्तियां, बताया- कैसे हुई थी उनकी जासूसी

इन चीजों का न करें प्रयोग

घर में मच्छर मारने का स्प्रे, या फिर धुआं निकलने वाली चीजों जैसे अगरबत्ती या कपूर जलाने से बचें।

मेटल टॉक्सिन

डॉक्टरों के मुताबिक पर्टिकुलेट मैटर से तो हर कोई चिंतित है, लेकिन कम ही लोग मेटल टॉक्सिन्स के बारे में जानते होंगे। लेड, मर्क्युरी, सिल्वर पॉइजनिंग जैसी समस्या काफी खतरनाक है। उनका कहना है कि इससे बचने के लिए हमें ऐसी एक्सरसाइज करनी चाहिए जिससे जमीन के संपर्क में रहें। घर में ही कुछ देर साफ फर्श पर खाली पैर चलें या फिर घास पर टहलना चाहिए।

यह भी पढ़ें…राष्ट्रपति भवन में जर्मन चांसलर का स्वागत, जानें राष्ट्रगान के दौरान क्यों बैठीं रहीं

स्किन की प्रटेक्शन

प्रदूषण लंग्स के साथ-साथ स्किन को भी काफी नुकसान पहुंचाता है। प्री-मच्योर एजिंग और रूखापन के अलावा प्रदूषण की वजह से स्किन एलर्जी और मुंहासे भी होते हैं। ऐसे में अपनी स्किन को ज्यादा से ज्यादा ढक कर रखें। जब भी घर से बाहर निकलें तो सनस्क्रीन लगाकर जाएं और वापस आने पर फेसवॉश से चेहरा जरूर धो लें।

यह भी पढ़ें…शाह से सिद्धू की मुलाकात को लेकर सियासी हलचल हुई तेज, कांग्रेस ने कही ये बात

प्यूरिफायर

अगर प्रदूषण को लेकर ज्यादा चिंतित हैं या घर में किसी को सांस की परेशानी है तो बेहतर है कि आप घर में एयर प्यूरिफायर लगवा लें।