×

TRENDING TAGS :

Election Result 2024

Cough Syrup: जांच के दायरे में भारतीय कफ सिरप, जानें इन प्रमुख बिंदुओं से

Cough Syrup: गाम्बिया में कफ सिरप से हुई 66 बच्चों की मौत के बाद से दुनिया भर में कफ सिरप को लेकर अब सवाल खड़े होने लगे हैं।

Anupma Raj
Written By Anupma Raj
Published on: 8 Oct 2022 3:27 AM GMT
Cough Syrup
X

Cough Syrup (Image: Social Media)

Cough Syrup: गाम्बिया में कफ सिरप से हुई 66 बच्चों की मौत के बाद से दुनिया भर में कफ सिरप को लेकर अब सवाल खड़े होने लगे हैं। दरअसल जिसके बाद WHO ने भारत में बनने वाले चार कफ सिरप को लेकर अलर्ट जारी कर दिया है। बता दे कि कफ सिरप को लेकर WHO ने बड़े कदम उठाए हैं।

दरअसल WHO ने गाम्बिया में पहचानी गई चार दूषित दवाओं के लिए एक medical Product अलर्ट जारी किया है, जो संभावित रूप से गंभीर किडनी की चोटों और बच्चों की मौतों से जुड़ी हुई हैं। बता दे चार दवाएं भारत में मेडेन फार्मास्युटिकल्स लिमिटेड द्वारा निर्मित खांसी और कोल्ड के लिए सिरप हैं। बता दे डब्ल्यूएचओ भारत में कंपनी और अधिकारियों के साथ आगे की जांच कर रहा है। बता दे जिन दवाइयों को लेकर जांच चल रही है वो है:चार कफ सिरप प्रोमेथेजिन ओरल सॉल्यूशन, कोफेक्समालिन बेबी कफ सिरप, मकॉफ बेबी कफ सिरप और मैग्रीप एन कोल्ड सिरप हैं। दरअसल इन दवाओं का निर्माण मेडेन फार्मास्युटिकल्स लिमिटेड (हरियाणा, भारत) द्वारा किया गया है।

दरअसल डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि सिरप में पाए जाने वाले खतरनाक कैमिकल होता है, जो बच्चों में किडनी से जुड़े होते हैं, जिसके कारण बाद में उन बच्चों की मौत हो गई। WHO ने जारी अलर्ट में कहा है कि सिरप में डायथिलीन ग्लाइकॉल और एथिलीन ग्लाइकॉल की अस्वीकार्य मात्रा होती है। साथ ही दवाओं में डायथिलीन ग्लाइकॉल और एथिलीन ग्लाइकॉल होते हैं। एक रिपोर्टों के अनुसार, अमेरिकी सरकार पॉलीइथाइलीन ग्लाइकॉल में केवल 0.2% ही डायथिलीन ग्लाइकॉल की अनुमति देती है। डायथिलीन ग्लाइकॉल और एथिलीन ग्लाइकॉल जहरीले होते हैं और जब मनुष्य इनका सेवन करते हैं तो इससे पेट में दर्द, उल्टी, दस्त, पेशाब करने में असमर्थता, सिरदर्द, बदली हुई मानसिक स्थिति और किडनी की गंभीर चोट और यहां तक ​​कि मृत्यु भी हो जाती है।

बता दे रिपोर्ट के अनुसार इससे डायरिया, परिवर्तित मानसिक स्थिति प्रारंभिक लक्षण हैं। दरअसल डायथाइलीन ग्लाइकॉल की घातक खुराक का बुरा प्रभाव 8 से 24 घंटे के बीच दिखाई देती है। दरअसल दवा में दूषित पदार्थों की मौजूदगी पर चिंताओं के बीच, भारत सरकार ने कहा है कि जांच के तहत चार कफ सिरप भारत में नहीं बेचे जाते।

Anupma Raj

Anupma Raj

Sports Content Writer

My name is Anupma Raj. I am from Patna. I'm a content writer with more than 3 years of experience.

Next Story