17th Lok Sabha: बीजेपी सांसद ओम बिड़ला होंगे लोकसभा के नए स्पीकर

राजस्थान के कोटा से बीजेपी सांसद ओम बिड़ला लोकसभा के नए स्पीकर होंगे। इस फैसले के साथ एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चौंकाया है।ओम बिड़ला विभिन्न माध्यमों के द्वारा सामाजिक सेवा, राष्ट्र सेवा, गरीब, वृ्द्ध, विकलांग और असहाय महिलाओं की सहायता करने में रुचि रखते हैं।

17th Lok Sabha: बीजेपी सांसद ओम बिड़ला होंगे लोकसभा के नए स्पीकर

नई दिल्ली: राजस्थान के कोटा से बीजेपी सांसद ओम बिड़ला लोकसभा के नए स्पीकर होंगे। इस फैसले के साथ एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चौंकाया है।लोकसभा अध्यक्ष बनने की रेस में पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी, राधामोहन सिंह, रमापति राम त्रिपाठी, एसएस अहलुवालिया और डॉ. वीरेंद्र कुमार जैसे कई दिग्गज नेताओं के नाम शामिल बताए जा रहे थे। मोदी सरकार के 2.0 में लोकसभा अध्यक्ष के पद पर कौन विराजमान होगा, बीजेपी सांसद ओम बिड़ला के नाम पर फैसला अब हो गया।

ओम बिड़ला का जन्म 4 दिसंबर 1962 को हुआ था। वs भारतीय जनता पार्टी से सक्रिय राजनेता और राजस्थान राज्य के कोटा-बुंदी निर्वाचन क्षेत्र से 16 वीं लोकसभा में संसद सदस्य हैं। वे कोटा साउथ से तीन बार राजस्थान विधान सभा के सदस्य थे।

ओम बिड़ला विभिन्न माध्यमों के द्वारा सामाजिक सेवा, राष्ट्र सेवा, गरीब, वृ्द्ध, विकलांग और असहाय महिलाओं की सहायता करने में रुचि रखते हैं। उन्होंने विभिन्न सामाजिक संगठनों के माध्यम से विकलांग, कैंसर रोगियों और थैलेसेमिया रोगियों की मदद की हैं। विकलांगों को मुफ्त साइकिलें, व्हीलचेयर और कान की मशीन प्रदान की गई। बढ़ते प्रदूषण की जांच और हरियाली में कमी के लिए कोटा में लगभग एक लाख पेड़ लगाने के लिए उन्होंने एक प्रमुख “ग्रीन कोटा वन अभियान” लॉन्च किया।

नेहरू युवा केंद्र के माध्यम से देश के ग्रामीण क्षेत्रों में खेल और सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित करने की एक प्रमुख योजना तैयार करके ग्रामीण क्षेत्रों में प्रतिभाशाली युवाओं को बढ़ावा देने के लिए आंदोलन का नेतृत्व किया। उन्होंने राजस्थान के बारा जिला में सहिया आदिवासी इलाके में कुपोषण और अर्ध-बेरोजगारी को हटाने के लिए मिशन का नेतृत्व किया।

यह भी पढ़ें…..बिहार: चमकी बुखार के चपेट में आये 107 मासूम, CM आज करेंगे मुजफ्फरपुर का दौरा

रोचक तथ्‍य राजस्थान सरकार के संसदीय सचिव के रूप में कार्यकाल के दौरान उन्होंने गरीब, असहाय, गंभीर मरीजों को राज्य सरकार के माध्यम से 50 लाख की वित्तीय सहायता प्रदान करके उनकी सहायता की। उन्होंने बाढ़ पीड़ितों की मदद की और राहत अभियान में राहत दल का नेतृत्व किया और 15-16 अगस्त 2004 को कोटा शहर में बाढ़ पीड़ितों को आश्रय और चिकित्सा सुविधाएं प्रदान की। उन्होंने विभिन्न सामाजिक संगठनों के माध्यम से विकलांग, कैंसर रोगियों और थैलेसेमिया रोगियों की मदद की। विकलांगों को मुफ्त साइकिलें, व्हीलचेयर और श्रवण सहायता प्रदान की।

3 जुलाई 2015 – 30 अप्रैल 2016 उन्हें सदस्य, उप समिति III, प्राक्कलन समिति नियुक्त किया गया।
2014 कांग्रेस पार्टी के इज्याराज सिंह को कोटा निर्वाचन क्षेत्र से 2 लाख से अधिक वोट अंतर से पराजित करने के बाद उन्हें 16 वीं लोक सभा में चुना गया।

2014 ओम बिड़ला कोटा से 16 वीं लोकसभा के लिए चुने गए थे। उन्होंने 444,040 मतों से इज्याराज सिंह को पराजित किया।
बाद में , 14 अगस्त 2014 उन्हें सदस्य, प्राक्कलन समिति के रूप में नियुक्त किया गया।

2014 उन्हें सदस्य, याचिका समिति; सदस्य, ऊर्जा संबंधी स्थायी समिति और सदस्य, सलाहकार समिति, सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण मंत्रालय के रूप में नियुक्त किया गया था।

2006 स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर ऐतिहासिक और देशभक्ति कार्यक्रम “आज़ादी के स्वर” का आयोजन शुरू किया । उसमें गायक, कलाकार, कवियों, बुद्धिजीवियों, किसानों, मजदूरों सहित विभिन्न क्षेत्रों के लोगों ने भाग लिया।
15 हजार से अधिक सेवानिवृत्त अधिकारियों को सम्मानित करने के लिए कोटा और बुंदी में समारोह आयोजित किया जो बेहद सफल रहा।