कालकाजी मंदिर के पास भैंस लेकर जा रहे लोगों पर बरसी लाठियां, दोनों पक्षों ने दर्ज कराया केस

दिल्ली के कालकालीजी मंदिर के पास शनिवार रात 11 बजकर 30 मिनट पर कुछ लोगों ने मिनी ट्रक में करीब एक दर्जन भैंस ले जा रहे लोगों के साथ जमकर मारपीट की।

Published by sujeetkumar Published: April 23, 2017 | 12:59 pm
Modified: April 23, 2017 | 1:07 pm

नई दिल्ली: दिल्ली के कालकाजी मंदिर के पास शनिवार रात 11 बजकर 30 मिनट पर कुछ लोगों ने मिनी ट्रक में करीब एक दर्जन भैंस ले जा रहे लोगों के साथ जमकर मारपीट की। मौके पर पहुंची पुलिस की  पूछताछ में पता चला की तीन युवकों के साथ मारपीट हुई है। पुलिस ने मिनी ट्रक को जानवरों समेत कब्जे में ले लिया और तीनों घायल युवकों को इलाज के लिए एम्स के ट्रॉमा सेंटर ले गई। पुलिस ने इस मामले में दोनों पक्षों की ओर से केस दर्ज कर लिया है।

मारपीट की घटना से इंकार
-तीनों युवकों के नाम रिजवान, आशु और कामिल हैं।
-पुलिस के मुताबिक, पीपल्स फॉर एनिमल (पीएफए) नामक एनजीओ की तरफ से इस पूरे मामले की शिकायत की गई है।
-एनजीओ के वॉलंटियर्स भी मौके पर मौजूद थे, लेकिन उन्होंने किसी के साथ मारपीट की घटना से इंकार किया है।

-एनजीओ ने पुलिस को इस मामले की सूचना दी थी, लेकिन पुलिस ने इसपर देर से एक्शन लिया।
-भैंसों को ट्रक में बुरी तरह से रखा गया था, इससे कुछ की मौत भी हो गई थी।
-भैंसों की खराब हालत देखकर स्थानीय लोग भड़क गए और ट्रक ड्राइवर रिजवान समेत तीनों युवकों पर डंडे बरसाए।

आगे की स्लाइड में पढ़ें पूरी खबर…
गौ रक्षक दल का कोई  रोल नहीं

-इस पूरे मामले में दिल्ली पुलिस ने गौ रक्षक दल का कोई भी रोल होने से इंकार किया है।
-पुलिस के मुताबिक, दोनों पक्षों की ओर से एफआईआर दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा रही है।
-एनजीओ की ओर से रिजवान, आशु और कामिल के खिलाफ पशु क्रूरता अधिनियम के तहत केस दर्ज हुआ है।

-वहीं दूसरी ओर मारपीट का शिकार हुए ड्राइवर रिजवान की ओर से मारपीट करने वालों के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है।
-एनजीओ की मानें तो दिल्ली-एनसीआर में रोजाना अवैध तस्करी के जरिए हजारों जानवर लाए जाते हैं।
-एनजीओ वॉलंटियर्स ने बताया कि शनिवार सुबह ही साउथ दिल्ली इलाके में पुलिस ने 9 ट्रक पकड़े हैं, जिनमें काफी संख्या में गोवंशीय जानवर भरे हुए थे।