×

ये है आधुनिक भारत का सच, जहां भूख से एक बच्ची ने तोड़ा दम !

Gagan D Mishra

Gagan D MishraBy Gagan D Mishra

Published on 16 Oct 2017 11:14 AM GMT

ये है आधुनिक भारत का सच, जहां भूख से एक बच्ची ने तोड़ा दम !
X
ये है आधुनिक भारत का सच, जहां भूख से एक बच्ची ने तोड़ा दम !
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

रांची: झारखंड में एक ऐसी घटना सामने आई है, जिसे सुनकर देश के विकास और प्रगति की तस्वीर साफ दिखाई देने लगेगी। यहां के सिमडेगा जिले में एक 11 साल की लड़की की मौत हो गई है। परिवार का दावा है कि उनका राशन कार्ड रद्द हो गया था जिसके चलते लड़की को खाना नहीं मिला और उसकी मौत हो गई।

घटना सिमडेगा जिले के करिमति गांव की है, जहां 28 सितंबर को 11 साल कि संतोषी की मौत हुई थी। पीड़ित परिवार का साथ दे रहे कुछ संगठनों ने दावा किया है कि उनके पास राशन कार्ड था जिसको वह आधार कार्ड से लिंक नहीं करवा पाए थे। इसके बाद उसे कैंसल कर दिया गया।

मृतक संतोषी की मां ने बताया कि उनको फरवरी से राशन नहीं मिल रहा था और तब से उनका पूरा परिवार बड़ी मुश्किल से गुजर-बसर कर रहा था। स्कूल जाने की वजह से बच्ची को एक वक्त का खाना मिड डे मील से मिलता था। लेकिन सितंबर के अंत में दुर्गापूजा की वजह से स्कूल बंद हो गए और इसी बीच उसकी मौत हो गई।

वही इस मामले पर इलाके के विकास अधिकारी संजय कुमार ने यह तो माना कि परिवार का राशन कार्ड कैंसल हो गया था, लेकिन उन्होंने यह भी कहा कि संतोषी की मौत भूख से नहीं बल्कि मलेरिया की वजह से हुई थी।

वहीं बच्ची की मां ने बताया था कि संतोषी के पेट में दर्द और ऐंठन हुई थी जिसके 24 घंटे के अंदर उसकी मौत हो गई थी। फिलहाल मौत की असल वजह का पता नहीं लग सका है लेकिन 'आरोपी' आधार कार्ड को ही बताया जा रहा है।

Gagan D Mishra

Gagan D Mishra

Next Story