×

AAP नेता आशीष खेतान को जान का खतरा, सुप्रीम कोर्ट से लगाई सुरक्षा की गुहार

आम आदमी पार्टी (आप) नेता आशीष खेतान ने बुधवार 24 (मई) को अपनी जान को खतरा बताते हुए सुप्रीम कोर्ट से सुरक्षा की गुहार लगाई है।

sujeetkumar

sujeetkumarBy sujeetkumar

Published on 24 May 2017 9:26 AM GMT

AAP नेता आशीष खेतान को जान का खतरा, सुप्रीम कोर्ट से लगाई सुरक्षा की गुहार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी (आप) नेता आशीष खेतान ने बुधवार 24 (मई) को अपनी जान को खतरा बताते हुए सुप्रीम कोर्ट से सुरक्षा की गुहार लगाई है। उन्होंने कहा कि दक्षिणपंथी संगठन उनकी जान ले सकते हैं।

खेतान ने कोर्ट से कहा कि सनातन संस्था, अभिनव भारत और हिंदू जन जागरण समिति से जुड़े लोग उन्हें धमका रहे हैं, और कई बार गुमनाम चिट्ठियां भी भेजी हैं। आप नेता ने दिल्ली पुलिस पर मामले की कार्रवाई ना करने का आरोप लगाया है।

पापों का घड़ा भर गया

खेतान ने धमकी की सूचना केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह को देते हुए उनसे इस पर उचित कार्रवाई करने की मांग की थी। हालांकि गृह मंत्रालय की ओर से इस पर कोई प्रतिकिया देखने को नहीं मिली। खेतान ने सिंह को लिखे पत्र में कहा है कि उन्हें गत 9 मई को धमकी भरा पत्र मिला। इसमें कहा गया है कि हिंदू संतों के खिलाफ उनके पापों का घड़ा भर गया है।

पुलिस सुरक्षा मुहैया कराए कोर्ट

खेतान ने कहा कि इसी तरह से आरटीआई एक्टिविस्ट नरेंद्र डाभोलकर, पनसरे और कलबुर्गी जैसे लोगों को भी धमकी दी गई थी और फिर उनकी हत्या कर दी गई। उन्होंने अपनी याचिका में कहा गया है कि कोर्ट उन्हें पुलिस सुरक्षा मुहैया कराए और इसके साथ ही पत्रकारों, एक्टिविस्ट और बाकी लोगों को सुरक्षा देने के लिए सुप्रीम कोर्ट केंद्र सरकार को गाइडलाइन बनाने के आदेश जारी करे।



जेल भिजवाने में तुम्हारा ही हाथ

खेतान ने एक पत्र को ट्वीट किया था। पत्र में लिखा गया था। हम तुम्हें सूचित करना चाहते हैं कि तुम्हारे पापों के सौ अपराध भर चुके हैं। अब समय आ गया है कि दुष्ट शिशुपाल की तरह तुम्हारे पापों का संहार किया जाए। तुम्हारे जैसों की वजह से साध्वी प्रज्ञा सिंह जैसे संतों को सालों तक जेल में सड़ना पड़ा। 61 फीसदी आध्यात्मिक प्रतिभा प्राप्त किये हुए वीरेंद्र सिंह तावड़े जैसे सज्जनों को भी जेल भिजवाने में तुम्हारा ही हाथ था।

sujeetkumar

sujeetkumar

Next Story