×

पुलवामा एनकाउंटर के बाद सेना ने कहा, जो बंदूक उठाएंगे उनको मार गिराएंगे

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले और उसके बाद चले एनकाउंटर को लेकर आज सुरक्षाबलों की ओर से प्रेस कॉन्फ्रेंस की गई। साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में चिनार कॉर्प्स के लेफ्टिनेंट जनरल केजीएस ढिलन्न ने जानकारी दी कि सुरक्षाबलों ने 100 घंटे के अंदर पुलवामा हमले के मास्टरमाइंड कामरान को मार गिराया। उन्होंने यहां से घाटी के पत्थरबाजों को भी चेतावनी दी।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 19 Feb 2019 5:41 AM GMT

पुलवामा एनकाउंटर के बाद सेना ने कहा, जो बंदूक उठाएंगे उनको मार गिराएंगे
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले और उसके बाद चले एनकाउंटर को लेकर आज सुरक्षाबलों की ओर से प्रेस कॉन्फ्रेंस की गई। साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में चिनार कॉर्प्स के लेफ्टिनेंट जनरल केजीएस ढिलन्न ने जानकारी दी कि सुरक्षाबलों ने 100 घंटे के अंदर पुलवामा हमले के मास्टरमाइंड कामरान को मार गिराया। उन्होंने यहां से घाटी के पत्थरबाजों को भी चेतावनी दी।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में CRPF, जम्मू-कश्मीर पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए। इनमें चिनार कॉर्प्स के लेफ्टिनेंट जनरल केजी ढिलन्न, श्रीनगर के आईजी एसपी पाणी, CRPF के आईजी जुल्फिकार हसन और GoC विक्टर फोर्स के मेजर जनरल मैथ्यू शामिल हुए।

ये भी पढ़ें...सेना से सदन पहुंचीं तुलसी गाबार्ड की नजर व्हाइट हाउस पर

साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में चिनार कॉर्प्स के लेफ्टिनेंट जनरल केजीएस ढिलन्न ने कहा कि हम लोग पिछले काफी समय से जैश ए मोहम्मद के आतंकियों पर नजर बनाए हुए थे। जैश के आतंकियों ने ही पुलवामा में आतंकी हमला किया था। हमने पुलवामा हमले के 100 घंटे के अंदर घाटी में मौजूद जैश की लीडरशिप को खत्म कर दिया है।

उन्होंने जम्मू-कश्मीर की महिलाओं से अपील करते हुए कहा कि वह अपने बच्चों को समझाएं और उन्हें सरेंडर करने को कहें। उन्होंने कहा कि सेना के पास सरेंडर पॉलिसी है, अब अगर जो भी सेना के खिलाफ बंदूक उठाएगा वो मारा जाएगा। उन्होंने कहा कि हम नहीं चाहते हैं कि कोई भी नागरिक घायल हुए। सेना के अफसरों ने बड़ा खुलासा करते हुए कहा कि पुलवामा में हुए आतंकी हमले के पीछे ISI का हाथ था, उनकी मदद से ही जैश ने हमला किया था।

ये भी पढ़ें...कश्मीर: सेना का ताबड़तोड़ ऐक्शन, 5 आतंकियों को भेजा 72 हूरों के पास

लेफ्टिनेंट जनरल केजीएस ढिलन्न ने जम्मू-कश्मीर के पत्थरबाजों से अपील करते हुए कहा कि कोई भी नागरिक मुठभेड़ की जगह पर ना आए, ना ही मुठभेड़ के दौरान और ना ही बाद में। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर ऐसा होता है तो उन्हें भी एक्शन लेना होगा। उन्होंने कहा कि जैश-ए-मोहम्मद पाकिस्तान का बच्चा है, यहां कितने गाजी आए और कितने चले गए। पाकिस्तानी सेना और ISI जैश-ए-मोहम्मद को कंट्रोल कर रही है। पुलवामा हमले का मास्टरमाइंड कामरान ही था, जिसे मार गिराया गया है।

पुलवामा में हुआ था आतंकी हमला

आपको बता दें कि 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में जैश ए मोहम्मद के आतंकी ने CRPF के काफिले पर हमला कर दिया था। इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे, जिसके बाद से ही पूरा देश आक्रोश में है।

पुलवामा में ही चला था एनकाउंटर

पुलवामा हमले के बाद वहां पर एक ऑपरेशन भी चलाया गया था, जिसमें पुलवामा आतंकी हमले के मास्टरमाइंड कामरान उर्फ गाजी राशिद को मार गिराया गया था। इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने तीन आतंकियों को मार गिराया था। जबकि सेना के 5 जवान शहीद हुए थे।

ये भी पढ़े...सेना में समलैंगिक रिश्तों को इजाजत नहीं, SC के फैसले को नहीं किया जा सकता लागू

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story